ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologyChhath Puja 2023 sunset time today suryast ka samay dubte surya ko arghya

Chhath Puja : छठव्रती आज सर्वणा नक्षत्र व वृद्धियोग में अस्ताचलगामी सूर्य को देंगे अर्घ्य

Chhath Puja 2023 : बिहार में घर-घर में छठ के गीत गूंज रहे हैं और शक्ति के प्रमुख स्त्रत्तेत भुवन भास्कर के प्रति श्रद्धा तथा भक्ति-भाव से पूजन-अर्चन की तैयारी में हर आम-औ-खास जुटे हैं।

Chhath Puja : छठव्रती आज सर्वणा नक्षत्र व वृद्धियोग में अस्ताचलगामी सूर्य को देंगे अर्घ्य
Yogesh Joshiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीSun, 19 Nov 2023 08:10 AM
ऐप पर पढ़ें

लोक आस्था के महापर्व छठ का उत्साह खरना के साथ उत्कर्ष पर पहुंच गया। रविवार को अस्ताचलगामी तथा सोमवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य दिया जाएगा। तमाम नदी, नहर, झील, तालाब, पोखर, सरोवरों के अलावा घरों की छतों पर सूर्यदेव को अर्घ्य देने की तैयारी है। शनिवार शाम खरना के साथ ही सभी छठव्रती नेम-निष्ठा के इस महापर्व की कठिन साधना में जुट गये। परिवार की महत्ता के साथ सामाजिक सद्भाव, प्रकृति के प्रति निष्ठा का संदेश देते इस महापर्व में खेत-खलिहान, नदी-पोखर, फल-फूल, पास-पड़ोस सभी की सहभागिता होगी। मौसम एवं मिट्टी से जुड़ाव प्रदर्शित होगा।

बिहार में 80 लाख से अधिक छठव्रती आज अस्ताचलगामी सूर्य को देंगे अर्घ्य- बिहार में घर-घर में छठ के गीत गूंज रहे हैं और शक्ति के प्रमुख स्त्रत्तेत भुवन भास्कर के प्रति श्रद्धा तथा भक्ति-भाव से पूजन-अर्चन की तैयारी में हर आम-औ-खास जुटे हैं। जानकारी के मुताबिक, बिहार में तकरीबन 2.97 करोड़ परिवारों में से 80 लाख से अधिक परिवारों में छठ महापर्व मनाया जा रहा है।

आने वाले 8 दिनों तक ये 5 राशि वाले मनाएंगे जश्न, बुध, सूर्य और मंगल की बरसेगी अपार कृपा

सोमवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देंगे व्रती

चार दिवसीय छठ महापर्व शुक्रवार को नहाय-खाय के साथ शुरू हुआ था। शनिवार की शाम को छठव्रतियों ने भगवान सूर्य की पूजा कर तथा उन्हें भोग अर्पित कर खरना का प्रसाद ग्रहण किया। इसके साथ ही सोमवार को उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने तक 36 घंटे का निर्जला व्रत आरंभ हो गया। अर्घ्य समर्पित करने के बाद ही व्रती अब अन्न-जल ग्रहण करेंगे।

27 नवंबर से शुरू होंगे इन राशियों के अच्छे दिन, धन लाभ के साथ ही जीवन रहेगा सुखमय

सूर्यास्त टाइम- छठ का सूर्यास्त वाला अर्घ्य आज दिया जाएगा। आज डूबते हुए सूरज को अर्घ्य दिया जाता है। आज सूर्यास्त का समय 05 बजकर 05 मिनट है।

डूबते सूर्य को अर्घ्य देने का मंत्र- ओम ऐही सूर्यदेव सहस्त्रांशो तेजो राशि जगत्पते। अनुकम्पय मां भक्त्या गृहणार्ध्य दिवाकर:।।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें