DA Image
22 सितम्बर, 2020|7:08|IST

अगली स्टोरी

Chandra Tara Asta 2020: जल्द होने जा रहा चंद्र तारा अस्त, जानें राशियों पर क्या पड़ेगा प्रभाव?

अगस्त महीने में कई ग्रहों का राशि परिवर्तन होने जा रहा है। इस महीने में चंद्र तारा अस्त (Chandra Tara Asta 2020) भी होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ग्रहों के राशि परिवर्तन का असर कुछ राशियों पर अच्छा प्रभाव पड़ता है, तो कुछ राशियों पर बुरा। इस महीने 18 अगस्त से मून तारा अस्त प्रारंभ होगा, जो कि 20 अगस्त को समाप्त होगा।

मून तारा अस्त 18 अगस्त 2020 (मंगलवार) को सुबह 11.42 बजे से प्रारंभ होगा, जो कि 20 अगस्त (गुरुवार) को सुबह 3 बजकर 35 मिनट पर समाप्त होगा। ऐसे में इस अस्त की अवधि 2 दिन की होगी।

ये भी पढ़ें: राशि परिवर्तन 2020: 16 अगस्त को सिंह राशि पर आएंगे सूर्य, जानें सभी राशियों पर इसका प्रभाव

चंद्र तारा अस्त एक महत्वपूर्ण घटना

वैदिक ज्योतिष के अनुसार, ग्रह का अस्त होना एक महत्वपूर्ण घटना मानी जाती है। हर साल कुछ दिनों के लिए आसमान में कोई ग्रह दिखाई नहीं देता है। क्योंकि वह सूर्य के बेहद करीब आ जाता है। इस घटना को ग्रह अस्त, ग्रह लोप, ग्रह मौद्यामि या ग्रह मोद्य के नाम से भी जाना जाता है।

वैदिक ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, ज्यादातर शुभ काम जैसे शादी-ब्याह आदि मांगलिक कार्य शुक्र और गुरु ग्रह के अस्तकाल में करना अशुभ माना गया है।

ग्रहों की चाल का राशियों पर असर

ज्योतिषाचार्यों के मुताबिक,  मीन, तुला, धनु, कुंभ और मीन राशि के जातकों के लिए अगस्त का महीना शानदार साबित होगा। इन राशियों पर ग्रहों के राशि परिवर्तन का शुभ प्रभाव पड़ेगा। जबकि मेष, वृष, कन्या, कर्क, मकर और वृश्चिक राशि के जातकों को काफी सतर्क रहने की जरुरत है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chandra Tara Asta 2020 in August Chandra Moudhya Importance Whats the Effect of Planet Transit