ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologyChandra Grahan Date and time in india now lunar eclipse in October 28 Sutak valid Sharad purnima temples will also be closed

Lunar Eclipse 2023 DateTime in india: अक्टूबर में चंद्रग्रहण, सूतक भी लगेगा और मंदिर भी होंगे बंद

Lunar Eclipse Date and Time : चंअंतिम चंद्र ग्रहण 29 अक्टूबर को 01 बजकर 06 रात को शुरू होगा और तड़के 02 बजकर 22 मिनट पर खत्म हो जाएगा। भारत में ग्रहण की अवधि 1 घंटा 16 मिनट की होगी।

Lunar Eclipse 2023 DateTime in india: अक्टूबर में चंद्रग्रहण, सूतक भी लगेगा और मंदिर भी होंगे बंद
Anuradha Pandeyलाइव हिंदुस्तान टीम,नई दिल्लीWed, 25 Oct 2023 08:23 AM
ऐप पर पढ़ें

Lunar Eclipse 28 October 2023 Sharad Purnima: 14 अक्टूबर को सूर्य ग्रहण के बाद  अब 29 अक्टूबर को चंद्र ग्रहण भी लग रहा है। 15 दिनों के अंतराल में सूर्य और चंद्र ग्रहण लगने से पूरे देश और दुनिया में इसका प्रभाव रहेगा। दरअसल वर्ष 2023 के अक्टूबर महीने के अंतिम पखवाड़े में दो-दो ग्रहण लग रहे हैं, एक सूर्य ग्रहण लग चुका है और दूसरा लगने वाला है। पहला सूर्य ग्रहण देश में नहीं दिखा था, इसलिए इसका सूतक काल मान्य नहीं था, लेकिन अब 28 अक्टूहर को शरद पूर्णिमा पर लगने वाले ग्रहण का सूतक काल भी मान्य होगा और इस दिन मंदिर आदि बंद रहेंगे। इन दोनों ही ग्रहणों का प्रभाव देश-दुनिया में रहेगा, जो अशुभ का संकेत दे रहे हैं।चंद्र ग्रहण और सूर्य ग्रहण लगने से पूरी देश दुनिया में कई तरह के परिणाम नजर आएंगे। दुनिया के तमाम देशों में हलचल बढ़ेगीं। इसका असर भारत में आंशिक रूप से देखने को मिल सकता है।

अंतिम चंद्र ग्रहण 29 अक्टूबर को 01 बजकर 06 रात को शुरू होगा और तड़के 02 बजकर 22 मिनट पर खत्म हो जाएगा। भारत में ग्रहण की अवधि 1 घंटा 16 मिनट की होगी। इस बार शरद पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण होने से पूर्णिमा के पूजन कार्यों में बाधा आएगी। दरअसल ग्रहण के पहले इसका सूतक काल शुरू हो जाएगा, इसलिए इस पर चांद की चांदनी में खीर नहीं रखी जाएगी, क्योंकि इश बार चंद्र ग्रहण का सूतक लगेगा। मंदिरों के कपाट बंद हो जाएंगे, मंदिर अगले दिन साफ-सफाई के बाद खुलेंगे। 28 अक्टूबर को मंदिरों के कपाट शाम 7 बजे से बंद कर दिए जाएंगे। इसके बाद ग्रहण के बाद ही मंदिर खोला जाएगा। ग्रहण के बाद दान आदि का भी विधान है, इससे ग्रहण के कई अशुभ प्रभाव कम हो जाएंगे। इसलिए इस समय मंदिर में दर्शन करने न जाएं। 

 

 

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें