ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्म Chandra Grahan 2022: नवंबर में लगेगा साल का आखिरी चंद्रग्रहण, पढ़ें ग्रहण से जुड़ी खास बातें

Chandra Grahan 2022: नवंबर में लगेगा साल का आखिरी चंद्रग्रहण, पढ़ें ग्रहण से जुड़ी खास बातें

Lunar Eclipse 2022: ज्योतिष शास्त्र में ग्रहण की घटना को अशुभ माना जाता है। ग्रहण के दौरान पूजा-पाठ और शुभ कार्यों की मनाही होती है। शास्त्रों में ग्रहण को लेकर कुछ नियम वर्णित है।

 Chandra Grahan 2022: नवंबर में लगेगा साल का आखिरी चंद्रग्रहण, पढ़ें ग्रहण से जुड़ी खास बातें
Saumya Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीThu, 27 Oct 2022 12:53 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

Chandra Grahan 2022 November Details: साल का दूसरा व आखिरी ग्रहण दिवाली के समय लगा था और अब अगले महीने यानी नवंबर में साल का आखिरी व दूसरा चंद्रग्रहण लगने जा रहा है। हिंदू पंचांग के अनुसार, 8 नवंबर को साल का दूसरा चंद्रग्रहण लगेगा। खास बात यह है कि इस दिन देव दीपावली भी है। जानकार कहते हैं कि देव दीपावली ग्रहण से एक दिन पहले मनाने की बात कह रहे हैं।

चंद्र ग्रहण 2022 डेट और टाइम-

चंद्रग्रहण 08 नवंबर 2022, मंगलवार को है। चंद्रग्रहण 08 नवंबर को शाम 05 बजकर 32 मिनट से आरंभ होगा और शाम 06 बजकर 18 मिनट पर समाप्त होगा। 

 बुध का तुला राशि में गोचर आज, इन 4 राशियों की खुलेगी बंद किस्मत

चंद्र ग्रहण का सूतक कब शुरू होगा?

चंद्रग्रहण का सूतक सुबह 09 बजकर 21 मिनट पर शुरू होगा और सूतक काल शाम 06 बजकर 18 मिनट पर समाप्त होगा।

कहां-कहां दिखेगा चंद्रग्रहण?

8 नवंबर को लगने वाला चंद्रग्रहण भारत में कोलकाता, सिलीगुड़ी, पटना, रांची, गुवाहाटी आदि स्थानों पर देखा जा सकेगा। दुनिया में देव दीपावली के अगले दिन चंद्रग्रहण उत्तरी और पूर्वी यूरोप, एशिया, ऑस्ट्रेलिया, प्रशांत महासागर, हिन्द महासागर, उत्तरी अमेरिका और दक्षिणी अमेरिका के अधिकांश हिस्सों में देखा जा सकेगा।

अंकराशि: 27 अक्टूबर को इन तारीखों में जन्मे लोगों की रहेगी मौज, धन लाभ के प्रबल योग

चंद्रग्रहण से जुड़ी खास बातें-

1. हिंदू धर्म की मान्यताओं के अनुसार, चंद्रग्रहण का सूतक काल ग्रहण से 9 घंटे प्रांरभ हो जाता है। साल का दूसरा व आखिरी चंद्रग्रहण भारत में देखा जा सकेगा।
2. चंद्रग्रहण भारतीय समयानुसार, 08 नवंबर को दोपहर 01 बजकर 32 मिनट से शुरू होकर शाम 07 बजकर 27 मिनट तक रहेगा।
3. मान्यता के अनुसार, ग्रहण काल में विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं को खास बरतनी चाहिए।
4. चंद्रग्रहण का सूतक काल अशुभ माना जाता है। इस ग्रहण का सूतक काल 09 घंटे पहले प्रारंभ होता है और ग्रहण खत्म होने के बाद समाप्त हो जाता है।
5. सूतक काल प्रारंभ होने के बाद पूजा-पाठ आदि शुभ व मांगलिक कार्य नहीं किए जाते हैं।
6. चंद्रग्रहण के दौरान यात्रा करना बेहद अशुभ माना जाता है। इसलिए ग्रहण काल में यात्रा से बचना चाहिए।
7. चंद्रग्रहण के दौरान सोना नहीं चाहिए और न ही धारदार वस्तुओं का इस्तेमाल करना चाहिए।