DA Image
10 अगस्त, 2020|3:52|IST

अगली स्टोरी

Chandra Grahan 5 July 2020 : 5 जुलाई को किस समय लगेगा चंद्र ग्रहण और आप पर क्या पड़ेगा इसका प्रभाव

grahan

इस साल का तीसरा चंद्र ग्रहण 5 जुलाई को लगेगा। यह ग्रहण एक उपछाया चंद्र ग्रहण होगा यानी ज्योतिष शास्त्र के अनुसार उपछाया चंद्र ग्रहण का असर न के बराबर होता है इसलिए ज्यादा बुरा प्रभाव नहीं पड़ता लेकिन फिर भी सावधानी रखने की सलाह दी जाती है। इस उपछाया चंद्रग्रहण को धनुर्धारी चंद्रग्रहण भी कहा जा रहा है।

क्या चंद्र ग्रहण का समय 
गुरु पूर्णिमा यानि 5 जुलाई को लगने वाले चंद्र ग्रहण का प्रारंभ सुबह 08 बजकर 38 मिनट पर होगा। परमग्रास चन्द्र ग्रहण का समय 09 बजकर 59 पर होगा। ग्रहण का मोक्ष काल दिन में 11 बजकर 21 मिनट पर होगा। ऐसे में देखा जाए तो इस चंद्र ग्रहण का कुल समय 02 घण्टा 43 मिनट 24 सेकेण्ड है।

 

कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण?
5 जुलाई लगने वाला ये चंद्र ग्रहण अमेरिका, अफ्रीका और यूरोप में दिखाई देगा। ये ग्रहण भारत में नहीं दिखाई देगा और उसका सूतक भी भारत में मान्य नहीं होगा। सूतक के सारे नियम पूर्ण ग्रहण में माने जाते हैं।


क्या है चंद्र ग्रहण का प्रभाव 
21 जून को लगे सूर्य ग्रहण का प्रभाव 21 दिनों तक रहेगा और साथ में 5 जुलाई को चंद्र ग्रहण लगने की वजह से स्थितियां थोड़ी बिगड़ सकती हैं लेकिन घबराने की कोई बात नहीं है। भले ही एक महीने के अंदर तीन ग्रहण लगे हों लेकिन इन्हें एक ही माना जाएगा क्योंकि इन तीनों ग्रहण में सिर्फ सूर्य ग्रहण ही पूर्ण रूप से लगा था।

 

ग्रहण के दौरान इस मंत्र का करें जाप 
धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, ग्रहण के समय में चंद्रमा या सूर्य पीड़ित होते हैं, इसलिए धार्मिक और मांगलिक कार्यों की मनाही होती है। ग्रहण के समय में व्यक्ति को भगवान वासुदेव या श्रीकृष्ण मंत्र का जाप करना चाहिए। इस दिन आप ओम नमो भगवते वासुदेवाय या श्रीकृष्णाय श्रीवासुदेवाय हरये परमात्मने, प्रणत:क्लेशनाशाय गोविन्दाय नमो नम: मन्त्र का जाप करना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:chandra grahan 2020: lunar eclipse on 5 july know timings significance and other effect