DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   धर्म  ›  Chanakya Niti: इस तरह के लोग जिंदगीभर रहते हैं दुखी, एक के बाद एक आती रहती हैं समस्याएं

पंचांग-पुराणChanakya Niti: इस तरह के लोग जिंदगीभर रहते हैं दुखी, एक के बाद एक आती रहती हैं समस्याएं

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Saumya Tiwari
Sat, 17 Oct 2020 09:58 AM
Chanakya Niti: इस तरह के लोग जिंदगीभर रहते हैं दुखी, एक के बाद एक आती रहती हैं समस्याएं

आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में लाइफ के हर पहलू से जुड़े सवालों का जवाब दिया है। कहते हैं कि चाणक्य नीति को जीवन में अपना पाना बेहद मुश्किल होता है, हालांकि जिसने भी इसे अपना लिया, उसे सफल होने से कोई रोक नहीं सकता है। जीवन को बेहतर और सफल बनाने के लिए कई नीतियां बताई हैं। चाणक्य ने यह भी बताया है कि कौन लोग ऐसे हैं जो दुख में ही लाइफ बिता देते हैं। जानिए किस तरह के इंसान जीवनभर रहते हैं दुखी, धन-संपदा होने के बावजूद भी नहीं रह पाते हैं खुश-

कर्ज लेने वाला-

चाणक्य कहते हैं कि कर्ज लेने वाला शख्स लाइफ में ज्यादा देर खुशी महसूस नहीं कर सकता है। धन को वापस करने के लिए वह गहन चिंतन करता रहता है। चिंता के कारण ऐसे व्यक्ति को शारीरिक समस्याओं का भी सामना करना पड़ता है। इसलिए चाणक्य नीति के अनुसार, कर्ज लेने वाला व्यक्ति जीवन में कभी खुश नहीं रह सकता है।

अपनों को खोने वाला-

हर इंसान की जिंदगी में ऐसे लोग जरूर होते हैं, जो उससे बहुत प्रेम करते हैं। जब कोई व्यक्ति सच्चे रिश्तों को खो देता है, तो वह ज्यादा देर खुश नहीं रह सकता। वह अपनों के साथ बिताए अच्छे पलों को यादकर दुखी रहता है।

Chanakya Niti: इन चीजों में कभी ना करें संकोच, तरक्की के साथ धनवान बनने के भी खुल जाते हैं रास्ते

छोटी उम्र में ज्यादा समझदार-

चाणक्य कहते हैं कि इंसान का समझदार होना बहुत जरूरी होता है। लेकिन जो व्यक्ति कम उम्र में ज्यादा समझदार हो जाते हैं, वह लाइफ में ज्यादा दुखी रहते हैं। कम उम्र में ज्यादा समझदार होने से कई बार दुनिया से भरोसा उठ जाता है। इन लोगों को छोटी उम्र में ही रिश्ते-नातों और दुनियादारी की समझ हो जाती है।

परखने में कमजोर-

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जो लोग दूसरों को परखने में कमजोर होते हैं, वह ज्यादा दुखी रहते हैं। ऐसे लोगों को संभल-संभलकर कदम रखना पड़ता है, क्योंकि इन्हें विश्वासघात का ज्यादा डर रहता है। इसलिए जो लोग जीवन में अच्छे और बुरे लोगों को परख नहीं पाते हैं, वह जीवन में ज्यादा दुखी रहते हैं। चाणक्य कहते हैं कि ऐसे लोग दूसरों की बातों पर जल्दी भरोसा कर लेते हैं।

संबंधित खबरें