DA Image
20 अप्रैल, 2021|6:16|IST

अगली स्टोरी

Chanakya Niti: किसी को दुख में भी नहीं बतानी चाहिए ये 5 बातें, मुश्किलों में फंस सकता है जीवन

आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में जीवन से जुड़े कई पहलुओं के बारे में बताया है। चाणक्य ने धन, स्वास्थ्य, तरक्की, बिजनेस और मित्रता संबंधी कई चीजों से जुड़ी समस्याओं का हल बताया है। चाणक्य एक श्लोक में यह भी बताया है कि व्यक्ति को दुख में भी किन बातों को नहीं कहना चाहिए। चाणक्य कहते हैं कि यह ऐसी बातें हैं जिन्हें दूसरों को नहीं बताने में ही भलाई है।

चाणक्य का श्लोक है- 

अर्थनाश मनस्तापं गृहिण्याश्चरितानि च। 
नीचं वाक्यं चापमानं मतिमान्न प्रकाशयेत॥ 

 14 जनवरी को है मकर संक्रांति औऱ इसके बाद है सकट चौथ व्रत

चाणक्य कहते हैं कि बुद्धिमान व्यक्ति को धन का नाश होने पर, मन के दुखी होने पर, घर के दोष के बारे में, किसी के द्वारा ठगे जाने पर और अपमानित होने की बात को किसी से नहीं कहना चाहिए। यानी ऐसी परिस्थितियों के मन की बात को मन में ही रखना चाहिए।

चाणक्य कहते हैं कि कुछ बातें ऐसी होती हैं जो किसी और से नहीं कहनी चाहिए। धन का नुकसान होने पर, पत्नी के गलत व्यवहार पर, मन में किसी बात के लिए दुखी होने पर, किसी नीच व्यक्ति के कुछ गलत या घटिया बातें सुन लेने पर। चाणक्य कहते हैं कि ये कुछ ऐसी बातें हैं जिन्हें दूसरों को नहीं बताना चाहिए।

Chanakya Niti: धनवान बनने के लिए व्यक्ति के अंदर इस एक गुण का होना है बेहद जरूरी, आप भी जान लीजिए

चाणक्य का मानना है कि ये बातें आप लोगों के सामने जितना कहेंगे, वह आपका उतना ही मजाक उड़ाएंगे। कोई सहानुभूति आपके लिए नहीं दिखाएगा। ये सब बातें आपकी निजी हैं, इसलिए इन्हें गुप्त ही रखना चाहिए और किसी से शेयर नहीं करना चाहिए।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chanakya Niti Never Tell these 5 Things to anybody to avoid pain know here ethics of Chanakya Niti