DA Image
8 सितम्बर, 2020|9:33|IST

अगली स्टोरी

Chanakya Niti: ऐसे स्वभाव वाले व्यक्ति से हमेशा रहना चाहिए सावधान, जाल में फंसे तो निकलना मुश्किल

आचार्य चाणक्य ने नीति शास्त्र में जीवन से जुड़े हर पहलू का जिक्र किया है। भले ही आपको विचार या नीतियां कठोर लगे, लेकिन जीवन की हकीकत यही है। आचार्य चाणक्य ने एक श्लोक में बताया है कि किस तरह के स्वभाव वाले व्यक्ति से दूरी बनाकर रखनी चाहिए, वरना वह खुद के साथ दूसरों का भी अहित करता है।

ये है वो श्लोक- "वन की अग्नि चन्दन की लकड़ी को भी जला देती है, अर्थात दुष्ट व्यक्ति किसी का भी अहित कर सकते हैं।" 

ये भी पढ़ें: बर्बादी के रास्ते पर ले जाते हैं दुनिया के ये बुरे काम, पढ़ें क्या कहती है चाणक्य नीति

आचार्य चाणक्य कहते हैं कि जिस तरह से जंगल की आग ठंडक देने वाली चंदन की लकड़ियों को भी जला देती है, ठीक उसी तरह दुष्ट व्यक्ति जब बुरा करता है तो वो किसी का भी बुरा कर सकता है।

चाणक्य कहते हैं कि जिस व्यक्ति के मन में दुष्टता यानी छलकपट, राग द्वेष भरा होता है। उनसे दूर रहना ही उचित होता है क्योंकि वह बुरा करने समय ये नहीं सोचता कि वह किसका बुरा कर रहा है। वह अपने स्वभाव के अनुरूप ही बर्ताव करता है।

चाणक्य कहते हैं कि कई बार इस तरह से स्वभाव वाले व्यक्ति के संपर्क में आने पर भले स्वभाव के मनुष्य का अहित हो जाता है। चाणक्य कहते हैं कि अगर दुष्ट व्यक्ति अपने स्वभाव पर उतर आता है, तो वह किसी का भी अहित या नुकसान पहुंचा सकता है।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Chanakya Niti in Hindi Chanakya Niti For Success Peace and Happiness