DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   धर्म  ›  चैत्र नवरात्रि के दूसरे दिन सूर्य का राशि परिवर्तन किसे पहुंचाएगा लाभ, जानिए नवरात्रि के पहले दिन बनने वाले ग्रह-नक्षत्रों व शुभ योग के बारे में

पंचांग-पुराणचैत्र नवरात्रि के दूसरे दिन सूर्य का राशि परिवर्तन किसे पहुंचाएगा लाभ, जानिए नवरात्रि के पहले दिन बनने वाले ग्रह-नक्षत्रों व शुभ योग के बारे में

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Saumya Tiwari
Mon, 12 Apr 2021 10:42 PM
चैत्र नवरात्रि के दूसरे दिन सूर्य का राशि परिवर्तन किसे पहुंचाएगा लाभ, जानिए नवरात्रि के पहले दिन बनने वाले ग्रह-नक्षत्रों व शुभ योग के बारे में

चैत्र नवरात्रि 2021 को शुरू होने में अब कुछ दिन ही बाकी हैं। हिंदू पंचांग के अनुसार, चैत्र मास के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा 13 अप्रैल 2021 दिन मंगलवार को है। इस दिन ही मां दुर्गा की नौ दिनों की उपासना के लिए घटस्थापना की जाएगी। इस साल चैत्र नवरात्रि के पहले दिन सर्वार्थ सिद्धि योग के साथ अमृत सिद्धि योग बन रहे हैं। ज्योतिष शास्त्र में इन योगों को बेहद शुभ माना जाता है। मान्यता है कि इन शुभ योग में पूजा-अर्चना करने से शुभ फलों की प्राप्ति होती है।

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान आदि किया जाता है। इसके बाद शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना की जाती है। ऐसे में जानिए चैत्र नवरात्रि के पहले दिन सूर्य व चंद्रमा के समय के साथ ग्रह-नक्षत्रों व पूजा का शुभ मुहूर्त।

सूर्योदय का समय- सुबह 05 बजकर 47 मिनट।
सूर्यास्त का समय- शाम 6 बजकर 31 मिनट पर।
चंद्रोदय का समय- सुबह 06 बजकर 33 मिनट पर।
चंद्रास्त का समय- शाम 07 बजकर 40 मिनट पर।

अप्रैल में कई बड़े ग्रहों होगा राशि परिवर्तन, जानिए किन राशियों को होगा महालाभ

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन का शुभ पंचांग-

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन यानी घटस्थापना के दिन विष्कंभ योग का निर्माण हो रहा है। यह दोपहर 03 बजकर 17 मिनट तक रहेगा। इसके बाद प्रीति योग लग जाएगा। इस दिन दोपहर 02 बजकर 20 मिनट तक तक अश्विनी नक्षत्र रहेगा। इसके बाद भरणी नक्षत्र लग जाएगा।

5-11 अप्रैल तक किन राशि वालों को होगा फायदा-नुकसान, पढ़ें साप्ताहिक राशिफल

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन राशि व नक्षत्र-

इस दिन चंद्रमा मेष राशि व सूर्य मीन राशि में 14 अप्रैल की सुबह 02 बजकर 48 मिनट तक रहेंगे। इसके बाद सूर्य का मेष राशि में गोचर होगा। सूर्य नक्षत्र रेवती होगा, जो कि 14 अप्रैल की सुबह 02 बजकर 48 मिनट तक रहेगा। इसके बाद अश्विनी नक्षत्र लग जाएगा।

घटस्थापना के ये बन रहे शुभ मुहूर्त-

दिन- मंगलवार
तिथि- 13 अप्रैल 2021
शुभ मुहूर्त- सुबह 05 बजकर 28 मिनट से सुबह 10 बजकर 14 मिनट तक।
अवधि- 04 घंटे 15 मिनट
घटस्थापना का दूसरा शुभ मुहूर्त- सुबह 11 बजकर 56 मिनट से दोपहर 12 बजकर 47 मिनट तक।

 चैत्र नवरात्रि की पारण तिथि से लेकर मां दुर्गा की सवारी और जानें घटस्थापना के शुभ मुहूर्त व विधि

नवरात्रि के पड़ रहे ये व्रत-त्योहार-

1. युगादी
2. गुड़ी पड़वा
3. झूलेलाल जयंती

संबंधित खबरें