DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Chaitra Navratri 2019: चैत्र नवरात्रि के दिन बन रहे हैं शुभ संयोग, ऐसे करें पूजा

नवरात्रि

6 अप्रेल से चैत्र नवरात्रि की शुरुआत होने जा रही है। इस बार की नवरात्रि कई शुभ संयोग लेकर आ रही है। ज्योतिष की माने तो इन 9 दिनों में पांच बार सवार्थ सिद्दि और दो बार रवि योग आएगा। माना जाता है कि ऐसे योग बनते हैं तो देवी साधना का विशेष फल प्राप्त होता है। कहा जा रहा है कि यह नवरात्रि धन और धर्म की वृद्धि के लिए खास रहेगी।

इसकी शुरुआत 6 अप्रेल को रेवती नक्षत्र से हो रही है। इसके बाद 7 अप्रैल यानी द्वितीय तिथि को सर्वार्थ सिद्धि योग ( लक्ष्मी पंचमी) होगी। वहीं गुरुवार 11 अप्रैल को पष्ठी तिथि रवियोग फिर से होगा। शुक्रवार 12 अप्रैल को सप्तमी तिथि सर्वार्थसिद्धि योग होगा। वहीं शनिवार 13 अप्रैल को महाअष्टमी के सुबह 11 बजकर 42 मिनट के बाज नवमी तिथि स्मार्त मतानुसार योग होगा।

रविवार 14 अप्रैल को नवमी वैष्णव मतानुसार महानवमी रवीपुष्य नक्षत्र और सर्वार्थसिद्धि योग सुबह 9 बजकर 37 मिनट तक होगा। 

ऐसे करे पूजा

सबसे पहले सुबह स्नान करकें मिट्टी की वेदी बनाएं।

मिट्टी की वेदी पर घट स्थापित करें।

घट पर कुल देवी की प्रतिमा स्थापित करें।

रोज सुबह दुर्ग सप्तशती का पाठ करें।

अखंड दीप जलाएं।

अष्टमी और नवमी के दिन कुमारी पूजन व कन्याभोज का आयोजन करें।

Chaitra Navratri 2019: जानें कब से शुरू हो रही है नवरात्र, क्या है घटस्थापना का मुहूर्त

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Chaitra Navratri 2019 SUBH SANYOG and puja vidhi