DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Chaitra Navratri 2019 : इस दिन से शुरू हो रहे हैं चैत्र नवरात्र, जानें इन 9 दिनों का महत्व

chaitra navratra

यूं तो साल में चार पर नवरात्रि आती है, मगर चैत्र और शारदीय नवरात्र का अधिक महत्व है। चैत्र के नवरात्र इस बार 6 अप्रैल से शुरू हो रहे हैं। इन नौ दिनों में पूरे विधि-विधान से मां शक्ति के नौ रूपों 
मां शैलपुत्री, ब्रह्मचारिणी, चन्द्रघंटा, कुष्माण्डा, स्कंदमाता, कात्यायनी, कालरात्रि, महागौरी और मां सिद्धिदात्री की पूजा होती है। 6 अप्रैल से शुरू हो रहे चैत्र नवरात्रि 14 अप्रैल को राम नवमी के त्योहार के साथ सम्पन्न होंगे।  

हिंदू नववर्ष का प्रारंभ : चैत्र नवरात्र से हिंदू नववर्ष का प्रारंभ माना जाता है और पंचांग की गणना की जाती है। पुराणों के अनुसार चैत्र नवरात्रि से पहले मां दुर्गा अवतरित हुई थीं। ब्रह्म पुराण के अनुसार, देवी ने ब्रह्माजी को सृष्टि निर्माण करने के लिए कहा। चैत्र नवरात्र के तीसरे दिन भगवान विष्णु ने मत्स्य रूप में अवतार लिया था। श्रीराम का जन्म भी चैत्र नवरात्र में ही हुआ था।

ज्योत‌िष की दृष्टि से भी है अहम : ज्योत‌िष की दृष्ट‌ि से भी चैत्र नवरात्र का व‌‌िशेष महत्व है क्योंक‌ि इसके दौरान सूर्य का राश‌ि परिवत्रन होता है। कहा जाता है कि नवरात्र में देवी और नवग्रहों की पूजा से पूरे साल ग्रहों की स्थ‌ित‌ि अनुकूल रहती है। पंडितों का मानना है कि चैत्र नवरात्र के दिनों में मां स्‍वयं धरती पर आती हैं, इसल‌िए मां की पूजा से इच्छ‌ित फल की प्राप्त‌ि ‌होती है।

इसे भी पढ़ें ः Chaitra Navratri 2019: नवरात्रि के 9 दिन होगी मां के 9 स्वरूपों की पूजा

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:chaitra navratri 2019 know importance of chaitra navratri 2019
Astro Buddy