DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   धर्म  ›  Chaitra Amavasya 2021 : चैत्र अमावस्या की तिथि को लेकर संशय, यहां जानें सही डेट, शुभ मुहूर्त और महत्व

पंचांग-पुराणChaitra Amavasya 2021 : चैत्र अमावस्या की तिथि को लेकर संशय, यहां जानें सही डेट, शुभ मुहूर्त और महत्व

लाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीPublished By: Yogesh Joshi
Sun, 11 Apr 2021 08:20 AM
Chaitra Amavasya 2021 : चैत्र अमावस्या की तिथि को लेकर संशय, यहां जानें सही डेट, शुभ मुहूर्त और महत्व

इस बार चैत्र अमावस्या को लेकर संशय की स्थिति बन रही है। इस बार अमावस्या  दो दिन पड़ रही है। चैत्र अमावस्या की शुरुआत 11 अप्रैल, रविवार से हो जाएगी और अगले दिन यानी 12 अप्रैल तक रहेगी। इस अमावस्या को दर्श अमावस्या भी कहा जाता है। दर्श अमावस्या की रात्रि में चांद आसमान में बिल्कुल भी नहीं दिखाई देता है। 12 अप्रैल को भी अमावस्या तिथि है इसलिए इस दिन भी अमावस्या का पर्व मनाया जाएगा। सोमवार को पड़ने वाली अमावस्या को सोमवती अमावस्या के नाम से जाना जाता है। हिंदू मान्यताओं के अनुसार सोमवती अमावस्या का विशेष महत्व होता है। इस साल पड़ने वाली ये पहली और अंतिम सोमवती अमावस्या है। आइए जानते हैं चैत्र अमावस्या का शुभ मुहूर्त और महत्व...

चैत्र अमावस्या शुभ मुहूर्त

  • अमावस्या तिथि प्रारंभ: 11 अप्रैल को प्रात: 6 बजकर 3 मिनट से।
  • अमावस्या तिथि समाप्त: 12 अप्रैल को प्रात: 8 बजे।

चैत्र अमावस्या का महत्व

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस दिन व्रत रखने से और चंद्र देवा की पूजा- अर्चना करने से सौभाग्य और समृद्धि में वृद्धि होती है।
  • इस दिन पूजा करने से मानसिक शांति की प्राप्ति भी होती है।
  • अमावस्या के दिन पितर संबंधित कार्य करने से पितरों का आर्शीवाद प्राप्त होता है। 
  • पितर दोषों से मुक्ति पाने के लिए इस दिन पितर तर्पण, स्नान- दान आदि करना चाहिए। 
  • इस दिन पवित्र नदियों, तालाबों में स्नान करने का बहुत अधिक महत्व होता है।

संबंधित खबरें