ट्रेंडिंग न्यूज़

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News AstrologyBudh Ast 2024 Time till June 27 will be inauspicious for these zodiac signs mercury sets rashifal

बुध अस्त: 27 जून तक का समय इन 4 राशि वालों के लिए अशुभ, करना पड़ेगा चुनौतियों का सामना

Budh Ast 2024: बुध अस्त कुछ राशि वालों को अच्छा और कुछ राशि वालों के लिए नेगेटिव परिणाम दे सकता है। जानें किन बुध अस्त की अवधि में किन राशियों के जातकों को सतर्क रहने की जरूरत है।

बुध अस्त: 27 जून तक का समय इन 4 राशि वालों के लिए अशुभ, करना पड़ेगा चुनौतियों का सामना
Saumya Tiwariलाइव हिन्दु्स्तान टीम,नई दिल्लीTue, 11 Jun 2024 08:12 AM
ऐप पर पढ़ें

Budh Ast 2024: ग्रहों के राजकुमार बुध 2 जून 2024 को वृषभ राशि में अस्त हो चुके हैं। अब अपनी स्वराशि मिथुन में 14 जून 2024 को गोचर करेंगे और 27 जून तक इसी राशि में रहेंगे। बुध के अस्त होने का प्रभाव मेष से मीन राशि तक पर देखने को मिलेगा। बुध अस्त का असर जहां कुछ राशियों पर सकारात्मक रहने वाला है, वहीं कुछ राशियों पर यह बुरा असर डालेगा। जानें बुध अस्त से किन राशियों पर पड़ेगा नेगेटिव प्रभाव-

मेष राशि- बुध मेष राशि के तीसरे और छठे भाव का स्वामी है। मेष राशि के जातकों के लिए ग्रह दूसरे भाव में अस्त है। बुध अस्त के कारण जातकों को कई चुनौतियों और कई वित्तीय परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। उन्हें अपने करियर में कठिनाइयों का सामना करना पड़ सकता है और वे नौकरी से असंतुष्ट रहेंगे। करियर में तरक्की में परेशानियां या रुकावटें आ सकती हैं।

वृषभ राशि- वृषभ राशि का स्वामी ग्रह शुक्र है और बुध इसी राशि में अस्त है। बुध वृषभ राशि के दूसरे और पांचवें भाव का स्वामी है। इस राशि के जातकों को करियर समेत जीवन के कई पहलुओं में चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। इस अवधि में गलतफहमियों से बचें। आपके लिए यह समय बहुत अनुकूल साबित नहीं होगा।

सिंह राशि- सिंह राशि के दूसरे और बारहवें भाव का स्वामी बुध है। सिंह राशि के जातकों के दशम भाव में ग्रह अस्त है। इस दौरान आपको अपनी लाइफ में छोटी-छोटी बातों को लेकर भी सावधान रहने की जरूरत है। उन्हें अपने करियर में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। कार्यस्थल पर दबाव बढ़ सकता है और आपकी मेहनत पर किसी का ध्यान भी नहीं जाएगा। नौकरीपेशा जातकों के लिए यह समय थोड़ा नाजुक रहेगा।

वृश्चिक राशि- वृश्चिक राशि का स्वामी ग्रह मंगल है और बुध आठवें और ग्यारहवें भाव का स्वामी है। वृश्चिक राशि के जातकों के सातवें घर में ग्रह अस्त है। इस दौरान आप पर काम का दबाव काफी बढ़ सकता है और उन्हें अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है। व्यापारियों को मनमुताबिक मुनाफा नहीं होगा।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।