DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इस रत्न को धारण करते ही चमक जाएगी आपकी किस्मत

माणिक्य

रत्न ज्योतिष के मुताबिक किसी भी व्यक्ति के जीवन पर उसके कर्म के साथ राशि और उससे संबंधित ग्रहों का सीधा प्रभाव पड़ता है। इससे हम भूत, वर्तमान और भविष्य की गणना आसानी से कर लेते हैं। जो कि व्यक्ति को परिशानियों और दुखों के निर्वाण में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। हर राशि का रत्न किसी न किसी ग्रह से संबंधित होता है। यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में कोई ग्रह कमजोर हो तो ज्योतिषाचार्य उससे संबंधति रत्न पहनने की सलाह देते हैं। ऐसा ही एक रत्न है माणिक्य जिसे धारण करने से आपकी किस्मत चमक सकती है। 

आइए जानते हैं माणिक्य से जुड़ी कुछ बातें

इसका स्वामी ग्रह सूर्य और राशि सिंह है। रत्न ज्योतिष के मुताबिक वैसे तो माणिक्य/रूबी रत्न को धारण करने के कई लाभ उल्लेखित हैं। माणिक्य धारण करने वाले व्यक्ति को प्रोफ़ेशनल क्षेत्र में सफलता हासिल होती है। इसके प्रभाव से जातक समाज में अग्रणी भूमिका निभाता है और उसे ख्याति प्राप्त होती है। ज्योतिष के अनुसार किसी जातक की कुंडली में यदि सूर्य उच्च स्थिति में हो और वह माणिक्य धारण कर ले तो उसे सरकारी अथवा निजी क्षेत्र में उच्च पद की प्राप्ति होती है। स्वास्थ्य के नज़रिए से भी माणिक्य के कई फायदे हैं। इससे जातक के नेत्र संबंधी विकार एवं शारीरिक कमजोरी दूर होती है।

धारण विधि 

माणिक्य को सोने की अंगूठी में जड़वाकर रविवार, सोमवार या गुरुवार के दिन पहनना चाहिए। पहनने से पूर्व माणिक्य को गंगाजल से शुद्ध कर लेना चाहिए। ध्यान रखें, यह आपकी त्वचा से अवश्य स्पर्श होना चाहिए। कम से कम माणिक्य रत्न 2 कैरेट का होना चाहिए। संभव हो तो आप 5 रत्ती का रूबी भी धारण कर सकते हैं।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य व सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

सिर्फ फैशन के लिए न पहनें कड़ा, जानें जरूरी बातें

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:benefits of wearing ruby gems astrology