ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News Astrologyayodhya ram mandir pran pratishtha time live ramlalla pran pratishtha kabhai ram mandir images and updates

Ram Mandir Pran Pratishtha : राम मंदिर रामलला के दर्शन के लिए खुला

Ram Mandir Pran Pratishtha 500 सालों का इंतजार खत्म हुआ। अयोध्या में प्रभु श्रीराम अपने भव्य राम मंदिर में विराजमान हो गए हैं। पीएम मोदी की उपस्थिति में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा संपन्न हुई।

Ram Mandir Pran Pratishtha : राम मंदिर रामलला के दर्शन के लिए खुला
Arti Tripathiलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीTue, 23 Jan 2024 05:43 AM
ऐप पर पढ़ें

Ayodhya Ram Mandir pran pratishtha  अयोध्या के भव्य राम मंदिर में रामलला के आगमन का इंतजार खत्म हुआ। 84 सेकेंड के शुभ मुहूर्त में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की गई। प्रभु राम के पांच साल के बाल स्वरूप मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठान में पीएम नरेंद्र मोदी, संघ प्रमुख भागवत, और सीएम योगी आदित्यनाथ यजमान बने। दोपहर 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से लेकर 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड के अभीजीत मुहूर्त में मंत्रोच्चार के बीच भगवान राम के बाल स्वरूप की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा हुई। प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान के बाद पहली आरती भी संपन्न हुई। इस दौरान सर्वार्थ सिद्धि योग, अमृत सिद्धि योग, रवि योग और मृगशिरा नक्षत्र का दुर्लभ संयोग बना जो अत्यंत शुभ माना जाता है। 

आइए जानते हैं राम मंदिर में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा से जुड़ी हर एक लेटेस्ट अपडेट...

12:29 PM : 5 सदियों का का इंतजार खत्म हुआ। अयोध्या में प्रभु श्रीराम अपने भव्य राम मंदिर में विराजमान हो गए हैं। पीएम मोदी की उपस्थिति में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा संपन्न हुई। रामलला के प्राण प्रतिष्ठा के अनुष्ठान में पीएम नरेंद्र मोदी, संघ प्रमुख भागवत, और सीएम योगी आदित्यनाथ यजमान बने।

12:44 PM : अयोध्या के भव्य राम मंदिर के गर्भ गृह में रामलला की प्राण प्रतिष्ठा कर दी गई है। राम लला के विराजने के बाद पीएम मोदी पूरी कर रहे हैं।

शुरू हुआ 84 सेकेंड का शुभ मुहूर्त
रामलला प्राण प्रतिष्ठा शुभ मुहूर्त शुरू हो गया है। यह दोपहर में 12 बजकर बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक है। भव्य राम मंदिर में प्रभु श्रीराम की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की जा रही है।  ये छह योग ऐंद्रयोग, आनंदयोग, सर्वार्थसिद्धियोग, अमृतसिद्धियोग, संजीवनीयोग तथा राजयोग हैं। मेष लग्न, वृश्चिकनवांश, अभिजीतक्षण, मृगशीर्ष नक्षत्र इस योग को और भी पवित्र एवं पुष्ट बना रहे हैं। इस दौरान सूर्य के मकर राशि में होने से यह मुहूर्त गुरु बृहस्पति के वचन ‘पौषे राज्यविवृद्धि स्यान्’ को भी चरितार्थ कर रहा है।

दरअसल इस लग्न के ऊपर और गुरु के ऊपर बहुत ही बलवान शनि की दृष्टि भी पड़ रही है। शनि और गुरु नवांश कुंडली में भी प्रबल होकर आमने-सामने बैठे हैं। इन दोनों का जब भी संबंध होता है तो ब्रह्मांड में आध्यात्मिक चेतना अपनी उच्च सीमा पर रहती है। शनि भी इस कुंडली में कर्म स्थान का और लाभ स्थान का अधिपति भी बन रहा है। शनि की कृपा के बिना इतना बड़ा प्रसंग कभी नहीं बनता क्योंकि शनि मोक्ष स्थान का कारक भी हैं, ईश्वरके साक्षात्कार का ग्रह भी है और न्याय का देवता भी है।

जो  84 सेकेंड का संजीवनी मुहूर्त निकाला है वह कालखण्ड की गणना की दृष्टि से भले ही मात्र 84 सेकंड का है किन्तु 21 प्राण वाले (चार सेकंड का एक प्राण) 84 सेकंड के इस संजीवनी मुहूर्त में 84 लाख योनियों की प्राण शक्ति समाहित है। यही प्राण शक्ति अयोध्या के नवनिर्मित श्रीराम मंदिर को अनंत काल तक अक्षुण्य बनाए रखेगी।

12:15 PM : पीएम मोदी की मौजूदगी में गर्भ गृह में रामलला की पूजा अर्चना शुरू हो गई है। मंत्र पढ़े जा रहे हैं। पीएम मोदी संकल्प कर रहे हैं। आरएसएस प्रमुख मोहन भागवात भी मौजूद हैं।

12:13 PM : प्राण प्रतिष्ठा का मंत्र क्या है
ऊँ प्राणमाहुर्मातरिश्वानं, वातो ह प्राण उच्यते।
प्राणे हं भूतं भव्यं च, प्राणे सर्वं प्रतिष्ठितम् ॥
ऊँ ओं हीं कयरल वं शं षं सं हं ल क्ष हं स।
अस्या भगवता रामचंद्रस्यप्रतिमाया प्राणा इह प्राणा।
ऊँ ओं ह्रीं क य र ल वं शं, षं सं न क्षं ह स।
अस्या प्रतिमाया जीव इह स्थित।
ऊँ ओं ह्रीं क्रों य र ल वं शं ष स ह ले क्षं ह स।
अस्या प्रतिमाया सर्वेन्द्रियाणि, वाङ् मनस्त्वक् चक्षु श्रोत्रजिह्वा।
घ्राणपाणिपादपायूपस्थानि, इहेवागत्य सुखं चिरं तिष्ठन्तु स्वाहा।।
(प्राण प्रतिष्ठा के लिए अथर्ववेद से लिया गया मंत्र)

12:10 PM : पीएम मोदी राम मंदिर पहुंचे
पीएम मोदी राम मंदिर परिसर में पहुंच गए हैं। उनके आते ही प्राण प्रतिष्ठा की तैयारियां तेज हो गई है। 12.20 बजे प्राण प्रतिष्ठा की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। 

12:08 PM : भगवान श्री राम की आरती-

हे राजा राम तेरी आरती उतारूं
आरती उतारूँ तुझे तन मन वारूं,

कनक शिहांसन रजत जोड़ी,
दशरथ नंदन जनक किशोरी,
युगुल  छबि को सदा निहारूं,
हे राजा राम तेरी आरती उतारूं........

बाम भाग शोभति जग जननी,
चरण बिराजत है सुत अंजनी,
उन चरणों को सदा पखारू,
हे राजा राम तेरी आरती उतारूं........

आरती हनुमंत के मन भाये,
राम कथा नित शिव जी गाये,
राम कथा हृदय में उतारू,
हे राजा राम तेरी आरती उतारूँ........

चरणों से निकली गंगा प्यारी,
वंदन करती दुनिया सारी,
उन चरणों में शीश को धारू,
हे राजा राम तेरी आरती उतारूँ........

श्री राम स्तुति-

दोहा-
श्री रामचन्द्र कृपालु भजुमन
हरण भवभय दारुणं ।
नव कंज लोचन कंज मुख
कर कंज पद कंजारुणं ॥१॥

कन्दर्प अगणित अमित छवि
नव नील नीरद सुन्दरं ।
पटपीत मानहुँ तडित रुचि शुचि
नोमि जनक सुतावरं ॥२॥

भजु दीनबन्धु दिनेश दानव
दैत्य वंश निकन्दनं ।
रघुनन्द आनन्द कन्द कोशल
चन्द दशरथ नन्दनं ॥३॥

शिर मुकुट कुंडल तिलक
चारु उदारु अङ्ग विभूषणं ।
आजानु भुज शर चाप धर
संग्राम जित खरदूषणं ॥४॥

इति वदति तुलसीदास शंकर
शेष मुनि मन रंजनं ।
मम् हृदय कंज निवास कुरु
कामादि खलदल गंजनं ॥५॥

मन जाहि राच्यो मिलहि सो
वर सहज सुन्दर सांवरो ।
करुणा निधान सुजान शील
स्नेह जानत रावरो ॥६॥

एहि भांति गौरी असीस सुन सिय
सहित हिय हरषित अली।
तुलसी भवानिहि पूजी पुनि-पुनि
मुदित मन मन्दिर चली ॥७॥

॥सोरठा॥
जानी गौरी अनुकूल सिय
हिय हरषु न जाइ कहि ।
मंजुल मंगल मूल वाम
अङ्ग फरकन लगे।

11:57 AM : आज शाम अयोध्या में मनेगी दिवाली
राम मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा समारोह पूरा होने के बाद सोमवार की शाम अयोध्या 10 लाख दीपों से जगमगाएगी।  मकानों, दुकानों, प्रतिष्ठानों और पौराणिक स्थलों पर राम ज्योति प्रज्ज्वलित की जाएगी। उन्होंने बताया कि अयोध्या सरयू नदी के तटों की मिट्टी से बने दीपों से रोशन होगी। प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के बाद राम ज्योति प्रज्ज्वलित कर दीपावली मनाई जाएगी।

11:47 AM : कृष्ण शिला से बनी मूर्ति सदियों तक जस की तस रहेगी
कनार्टक के दोनों मूर्तिकारों ने एचडी कोटे गुज्जेगोरानपुरा की कृष्ण शिलाओं से ही मूर्ति बनाई। इन कृष्ण शिलाओं से बनी मूर्ति अपनी दीर्घकालिक रूप से क्षरणहीनता के लिए जानी जाती हैं। ये शिलाएं अपने आप में कई विशेषताएं समेटे हुए हैं। मार्च 2023 में जिस शिला से ये मूर्ति बनाई गई वह दस टन वजन की थी, छह फीट चौड़ी व चार फीट मोटी इस शिला को वहीं से विशेषज्ञों ने परीक्षण के बाद उस पर अपनी मुहर लगाई।

11:32 AM : 84 सेकंड के शुभ मुहूर्त में घर पर क्या करें
 बताया है कि जिस 84 सेकंड के मुहुर्त में प्राण प्रतिष्ठा होनी है, उसमें सभी लोग अपने घर पर क्या कर सकते हैं। उन्होंने बताया कि 84 सेकंड के अभिजीत मुहूर्त में जो लोग अयोध्या नहीं जा पा रहे हैं। वो जहां पर भी हैं वहां राम का नाम लें। राम का भजन करें। जो लोग मंदिर नहीं जा पा रहे हैं, अपने-अपने स्थान पर बैठकर राम-राम का नाम जाप करें। घर के नजदीकी मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा मंत्र जप सकते हैं। भगवान राम की पूजा कर सकते हैं।

11:26 AM : पीएम मोदी से पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत राम मंदिर, बाबा रामदेव, सचिन तेंदुलकर, मुकेश अंबानी, बॉलीवुड के बिग बी यानी की अमिताभ बच्चन, तेलुगु सुपरस्टार राम चरण और चिरंजीवी समेत कई वीवीआईपी अयोध्य मंदिर प्रांगण पहुंच गए हैं।

11:15 AM : अयोध्या पहुंचे पीएम मोदी
पीएम मोदी अयोध्या पहुंच गए हैं। एयरपोर्ट से पीएम मोदी हेलिकॉप्टर में सवार होंगे। ये हेलिकॉप्टर साकेत डिग्री कॉलेज हेलीपैड पर लैंड करेगा।

11:05 AM - क्या होगा राम मंदिर में दर्शन-पूजन आरती का समय
रामलला की मूर्ति में प्राण प्रतिष्ठा के बाद सुबह 7 बजे से साढ़े 11 बजे तक और दोपहर 2 बजे से शाम को 7 बजे तक हर दिन मंदर में दर्शन किया जा सकेगा। इसके अलावा मंदिर में तीन बार रामलला की आरती की जाएगी। सुबह 6.30 बजे शृंगार या जागरण आरती होगी। दोपहर 12 बजे भोग आरती और शाम साढ़े 7 बजे संध्या आरती की जाएगी।

11:02 AM - 84 सेकंड का इंतजार जल्द खत्म होगा
राम मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा का कार्यक्रम अभिजीत मुहूर्त में किया जाएगा। यह मुहूर्त दोपहर में 12 बजकर बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक होगा। सिर्फ 84 सेकंड के अंतराल में भव्य राम मंदिर में प्रभु श्रीराम की मूर्ति को प्राण प्रतिष्ठा दी जाएगी।

10:54 AM :  राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम के बीच राजस्थान सरकार का बड़ा फैसला- वरिष्ठ नागरिक तीर्थ यात्रा योजना - 3000 तीर्थ यात्रियों को 31 मार्च तक राम मंदिर अयोध्या जी के दर्शन करवाएगी राज्य सरकार।

10:41 AM : 26 जनवरी के बाद आम लोग कर सकेंगे रामलला का दर्शन
अपील की गई है कि 26 जनवरी के बाद लोग आएं और रामलला का दर्शन करें। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी के बाद रात 12:00 बजे तक भक्त राम लला का दर्शन कर सकेंगे।

10:23 AM : लाइव राम मंदिर टेलीकास्टे यहां देखें 
प्राण प्रतिष्ठा समारोह दोपहर 12 बजकर 20 मिनट पर शुरू होगा और दोपहर एक बजे तक उसके पूरा होने की उम्मीद है। इसके बाद प्रधानमंत्री आयोजन स्थल पर संतों और प्रतिष्ठित हस्तियों समेत 7,000 से अधिक लोगों की सभा को संबोधित करेंगे। आप भी इस कार्यक्रम का लाइव प्रसारण देख सकते हैं। प्राण प्रतिष्ठा समारोह का सीधा प्रसारण डीडी न्यूज (DD News) और कई नेशनल चैनलों पर होगा जिसे आप घर पर आराम से बैठकर देख सकते हैं।
LIVE देखने के लिए यहां क्लिक करें 

10:15 AM : 84 सेकंड के मुहूर्त में छह विशिष्ट योग भी विद्यमान
22 जनवरी को निकाला गया 84 सेकंड का मुहूर्त छह प्रकार के योगों से युक्त होने से और भी विशिष्ट हो गया है। ये छह योग ऐंद्रयोग, आनंदयोग, सर्वार्थसिद्धियोग, अमृतसिद्धियोग, संजीवनीयोग तथा राजयोग हैं। मेष लग्न, वृश्चिकनवांश, अभिजीतक्षण, मृगशीर्ष नक्षत्र इस योग को और भी पवित्र एवं पुष्ट बना रहे हैं। इस दौरान सूर्य के मकर राशि में होने से यह मुहूर्त गुरु बृहस्पति के वचन ‘पौषे राज्यविवृद्धि स्यान्’ को भी चरितार्थ कर रहा है।

10:13 AM : सीएम योगी राम मंदिर पहुंचे
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ राम मंदिर प्राण-प्रतिष्ठा समारोह के लिए श्री राम जन्मभूमि मंदिर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने महिलाओं से भी बात की।

10:11 AM : प्राण प्रतिष्ठा का मंत्र क्या है
ऊँ प्राणमाहुर्मातरिश्वानं, वातो ह प्राण उच्यते।
प्राणे हं भूतं भव्यं च, प्राणे सर्वं प्रतिष्ठितम् ॥
ऊँ ओं हीं कयरल वं शं षं सं हं ल क्ष हं स।
अस्या भगवता रामचंद्रस्यप्रतिमाया प्राणा इह प्राणा।
ऊँ ओं ह्रीं क य र ल वं शं, षं सं न क्षं ह स।
अस्या प्रतिमाया जीव इह स्थित।
ऊँ ओं ह्रीं क्रों य र ल वं शं ष स ह ले क्षं ह स।
अस्या प्रतिमाया सर्वेन्द्रियाणि, वाङ् मनस्त्वक् चक्षु श्रोत्रजिह्वा।
घ्राणपाणिपादपायूपस्थानि, इहेवागत्य सुखं चिरं तिष्ठन्तु स्वाहा।।
(प्राण प्रतिष्ठा के लिए अथर्ववेद से लिया गया मंत्र)

संस्कृत के विद्वान डॉ. विनोद राव पाठक के अनुसार, इस मंत्र का भावार्थ यह है कि हम मंत्रों के द्वारा विग्रह में प्राण तत्व के आगमन का आवाहन कर रहे हैं। विग्रह में हम प्राण का आवाहन कर रहे हैं। हम आवाहन के उपरांत इस परम पवित्र विग्रह में प्राण स्थिर कर रहे हैं। हम यह प्रार्थना कर रहे हैं कि उनके समस्त अंग-प्रत्यंग में,उनकी समस्त इंद्रियों में प्राण आ जाए। उनके हृदय में स्पंदन होने लगे। प्राण तत्व के इस विग्रह में समाहित होने के उपरांत भगवान श्रीराम प्रतिष्ठित हो रहे हैं।

10:06 AM : राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के समय यह मंत्र बोला जाएगा
रामलला के विग्रह में समस्त देव शक्तियों का समावेश कराने के तत्काल बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा जब प्रथम नमस्कार किया जाएगा उस समय वैदिकों द्वारा नमस्कार का यह मंत्र बोला जाएगा-
ऊँ प्रवरां दिव्यां गायत्रीं, सहस्रनेत्रां शरणमहं प्रपद्ये।
ऊँ तत्सवितुर्वरेण्याय नम। ऊँ तत्पूर्वजयाय नम।
ऊँ तत्प्रातरादित्याय नम। ऊँ तत्प्रातरादित्यप्रतिष्ठायै नम।

09:58 AM : 84 सेकेंड के शुभ मुहूर्त के मायने
जो  84 सेकेंड का संजीवनी मुहूर्त निकाला है वह कालखण्ड की गणना की दृष्टि से भले ही मात्र 84 सेकंड का है किन्तु 21 प्राण वाले (चार सेकंड का एक प्राण) 84 सेकंड के इस संजीवनी मुहूर्त में 84 लाख योनियों की प्राण शक्ति समाहित है। यही प्राण शक्ति अयोध्या के नवनिर्मित श्रीराम मंदिर को अनंत काल तक अक्षुण्य बनाए रखेगी।

09:50 AM : राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा LIVE: रामलला की अष्टयाम सेवा के मध्य 6 आरतियां रोज होंगी। भोग प्रत्येक आरती के पहले लगेगा। 5 वर्ष के बाल स्वरूप में विराजित होंगे रामलला। उनके पूजन में युगल उपासना को अलग किया गया।

09:40  AM: Ram Mandir Pran Pratishtha LIVE : दो अन्य मूर्तियां भी मंदिर में होंगी स्थापित, एक पहले तल पर लगेगी
श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ने फैसला किया है कि अरुण योगीराज द्वारा बनाई गई मूर्ति की गर्भगृह में प्राण प्रतिष्ठा के बाद मंदिर निर्माण के दूसरे चरण में दोनों अन्य मूर्तियों को भी उसी मंदिर में स्थापित किया जाएगा। दूसरी पहले तल पर राम दरबार में लगेगी। तीसरी मूर्ति कहां स्थापित की जाएगी,उसका फैसला अभी नहीं हो सका है। इसका अंतिम फैसला काशी के आचार्य गणेश्वर द्रविड़ और प्राण- प्रतिष्ठा के विद्वान आचार्य करेंगे।

09:15 AM : भगवान राम पूजा विधि
- इस पावन दिन शुभ जल्दी उठ कर स्नान करने के बाद स्वच्छ वस्त्र पहन लें।
- अपने घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
- घर के मंदिर में देवी- देवताओं को स्नान कराने के बाद साफ स्वच्छ वस्त्र पहनाएं।
- भगवान राम की प्रतिमा या तस्वीर पर तुलसी का पत्ता और फूल अर्पित करें।
- भगवान को फल भी अर्पित करें।
- अगर आप व्रत कर सकते हैं, तो इस दिन व्रत भी रखें।
-  भगवान को अपनी इच्छानुसार सात्विक चीजों का भोग लगाएं।
-  इस पावन दिन भगवान राम की आरती भी अवश्य करें।
-  आप रामचरितमानस, रामायण, श्री राम स्तुति और रामरक्षास्तोत्र का पाठ भी कर सकते हैं।
-  भगवान के नाम का जप करने का बहुत अधिक महत्व होता है। आप श्री राम जय राम जय -  जय राम या सिया राम जय राम जय जय राम का जप भी कर सकते हैं। राम नाम के जप में -  कोई विशेष नियम नहीं होता है, आप कहीं भी कभी भी राम नाम का जप कर सकते हैं।

9:04 AM : भगवान राम की पूजा के लिए पूजा सामग्री लिस्ट
श्री राम जी का चित्र अथवा मूर्ति
पुष्प
नारियल 
सुपारी
फल
लौंग
धूप
दीप
घी 
पंचामृत 
अक्षत
तुलसी दल
चंदन 
मिष्ठान

08:46 AM : भगवान की सेवा में पंच पात्रों का महत्व
भगवान को भोग लगाते समय गरुड़ घंटी बजाना भी अनिवार्य है। बताया गया कि गरुण जी को वेदात्मा कहा गया है। उनके पंखों से वेदध्वनि निकलती है। भगवान को भोग लगाने पर गरुड़ घंटी बजाने मात्र से वेद मंत्र उपस्थित हो जाते हैं, ऐसी मान्यता है। भगवान की सेवा में पंच पात्रों का भी बड़ा महत्व है। अलग-अलग व्यवहार के लिए अलग-अलग पात्रों का विधान है जिसमें अलग-अलग कार्य के लिए जल रखा जाता है। इनमें पाद्य, अर्ध्य, आचमन व स्नान के अतिरिक्त शुद्ध जल पात्र शामिल हैं।

08:33 AM : मंदिर में नई के सामने रहेगी पुरानी मूर्ति
श्री राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के कोषाध्यक्ष गोविंद देव गिरि ने कहा है कि अस्थायी मंदिर में रखी राम लला की पुरानी मूर्ति को नई मूर्ति के सामने रखा जाएगा, जिसे आज यहां मंदिर में प्रतिष्ठित किया जाएगा।

08:31 AM : अयोध्या में आज 100 स्थानों से शोभायात्रा
अयोध्या में आज भगवान रामलला के प्राण प्रतिष्ठा समारोह और उनके भव्य मंदिर के शुभारम्भ के अवसर पर कई विशेष सांस्कृतिक कार्यक्रम होंगे। सोमवार को सुबह से रात तक होने वाले इन कार्यक्रमों का मुख्य आकर्षण अयोध्या धाम के चिन्हित सौ स्थानों से निकलने वाली सांस्कृतिक शोभयात्रा होगी। इस शोभायात्रा में प्रदेश के विभिन्न अंचलों के 1500 कलाकार और केन्द्रीय संस्कृति मंत्रालय के क्षेत्रीय सांस्कृतिक केन्द्रों के 200 कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक प्रस्तुतियां पेश की जाएंगी। यह शोभयात्रा सुबह 10 बजे शुरू होगी और शाम चार बजे तक जारी रहेगी।

08:21 AM : 10 बजे मंगल ध्वनि से शुरू होगा उद्घाटन कार्यक्रम। 12.29 बजे से 84 सेकेंड का शुभ मुहूर्त होगा। इस दौरान पीएम मोदी रामलला के नेत्रों से पट्टी हटाएंगे। 12.55 बजे प्राण प्रतिष्ठा कार्यक्रम संपन्न होगा। इसके बाद पीएम मोदी सार्वजनिक समारोह स्थल पर पहुंचेंगे।

07:55 AM : त्रेतायुग जैसा संयोग
Ram Mandir Pran Pratishta Ceremony LIVE - शुभ घड़ी आ गई। आज अयोध्या में भगवान राम अपने भव्य राम मंदिर में विराजेंगे। रामलला की प्राण प्रतिष्ठा होगी। त्रेतायुग में भगवान विष्णु के सातवें अवतार के रूप में श्रीराम का जन्म हुआ। उस समय जैसे मुहूर्त थे, ठीक वैसा संयोग प्राण प्रतिष्ठा में भी रहेगा।

Ram Lalla Idol Live 6:45 PM : रामलला की प्रतिमा का श्यामल रंग

आज राम मंदिर में प्रभु श्रीराम के बाल स्वरूप की मूर्तिक की प्राण-प्रतिष्ठा की जाएगी। भगवान राम के प्रतिमा का रंग काला है। महर्षि वाल्मीकि में भगवान राम के श्यामल रूप का उल्लेख किया गया है। इसलिए श्रीराम की मूर्ति का निर्माण श्याम शिला के पत्थर से किया गया है। रामजी की मूर्ति की ऊंचाई 51 इंच है।

Ayodhya Ram Mandir Vastu Live 7:00 PM : अयोध्या राम मंदिर का वास्तु निर्माण

वास्तुकार चन्द्रकांत सोमपुरा के अनुसार, राम मंदिर हिन्दुस्तान का सबसे बड़ा मंदिर है। मंदिर का निर्माण इस तकनीकि से किया गया है कि 2500 सालों तक भूकंप का असर भी मंदिर पर न हो। राम मंदिर का निर्माण नागर शैली में किया गया है। नागर शैली एक प्रचलित शैली है। साथ ही मंदिर को बनाने में मकराने का मार्बल इस्तेमाल किया गया है। मंदिर की खास बात यह भी है कि हर राम नवमी के दिन सूर्य की किरणें रामलला की प्रतिमा पर सूर्य तिलक करेंगी।

Ram Lalla Pran Pratishtha Live 07:15 PM : रामलला की प्राण-प्रतिष्ठा का अनुष्ठान

श्रीराम की प्रतिमा की प्राण-प्रतिष्ठा के लिए आज सुबह रामलला की मूर्ति को शहद में रखा गया था। इसके बाद शाम को शय्या पर लिटाया जाएगा। कल वैदिक मंत्रों और विधि-विधान से मूर्ति की प्राण-प्रतिष्ठा का अनुष्ठान शुरू होगा।

Inaugration of Ayodhya Ram Mandir Live 07:45 PM: अयोध्या राम मंदिर का उद्घाटन 

अयोध्या राम मंदिर का उद्घाटन 22 जनवरी को बेहद शुभ मुहूर्त और दिन में होने जा रहा है। हिंदू धर्म में धार्मिक कार्यों के आयोजन के लिए पौष माह बेहद शुभ माना जाता है। जनवरी महीने में सूर्यदेव मकर राशि में विराजमान हैं। पंचांग के अनुसार, 22 जनवरी के दिन शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि पड़ रही हैं। नए कार्यों के आरंभ के लिए शुक्ल पक्ष बेहद मंगलकारी माना जाता है। सनातन धर्म में महीने की द्वादशी तिथि भगवान विष्णु को समर्पित मानी जाती है। इस शुभ संयोग पर राम मंदिर के उद्घाटन का धार्मिक महत्व कहीं ज्यादा है।

Pran Pratishtha On 22 January Live 08:15 PM : क्यों खास है 22 जनवरी का दिन ?

अंक ज्योतिष के अनुसार, अंक 22 का पॉजिटिविटी का प्रतीक माना जाता है। 22 जनवरी 2024 (22+01+2024) को ईकाई अंकों तक जोड़ने पर(22+1+2+0+2+4) 31 (3+1=4) आता है। अंक शास्त्र में नंबर 4 को देश-दुनिया में सकारात्मक बदलाव लाने का प्रतीक माना गया है। यह अंक कड़ी मेहनत, जीवन उद्देश्यों की ओर प्रेरित और अनुशासन का संकेत माना जाता है।

Date and Time of Pran Pratishtha Live 08:45 PM: कब शुरू होगा अनुष्ठान ?

रामलला का मंदिर में अभिषेक 22 जनवरी 2024 को दोपहर 12 बजकर 15 मिनट से  12 बजकर 45 मिनट के बीच होगा। जो भक्त राम मंदिर में भगवान श्रीराम के दर्शन करना चाहते हैं, वह सुबह 7 बजकर 11 बजकर 30 मिनट तक और दोपहर बाद 2 बजे से शाम 7 बजे तक दर्शन कर सकेंगे।

Ram Lalla Aarti Timing Live 9:20 PM : प्रभु श्रीराम की आरती

भगवान राम की पहली आरती सुबह 6:30 मिनट पर होगी। यह श्रृंगार/जागरण आरती होगी। इसके बाद दोपहर 12 बजे भोग आरती होगी और शाम 7 बजकर 30 मिनट पर संध्या आरती होगी।

Bhagwan Ram Special 56 Bhog Live at 09:45 PM : श्रीराम के लिए स्पेशल भोग

भगवान राम के छप्पन भोग के लिए स्पेशल थाली तैयारी की जा चुकी है। इस थाली में चांदी की कटोरियों में 56 पकवान रहेंगे। रामलला के भोग में गुलाब जामुन, लड्डू, बर्फी, अदरक का हलवा समेत कई तरह की मिठाई होगी। खासतौर से श्रीहरि विष्णु के सातवें अवतार प्रभु श्रीराम के लिए तुलसी की मिठाई तैयार की गई है। विष्णुजी को तुलसी अति प्रिय है। रामलला के पूजन के बाद यह प्रसाद लोगों में भी वितरित किया जाएगा।

Bhagwan Ram Pooja Vidhi Live at 10:30 PM : भगवान राम की पूजाविधि

अगर आप भी किसी कारणवश अयोध्या राम मंदिर के दर्शन करने न जा पाएं , तो  घर बैठे ही प्रभु श्रीराम की विधि-विधान से पूजन करें । रामचरितमानस, सुंदरकांड और राम रक्षा स्त्रोत का पाठ करें।

Ramcharitmanas Chaupai Live 11:00 PM : रामचरितमानस की इन 3 चौपाइयों का करें पाठ

धन-लाभ : 'जे सकाम नर सुनहिं जे गावहिं।
               सुख संपत्ति नानाविधि पावहिं।।

मनोकामनाएं पूर्ति हेतु :  'कवन सो काज कठिन जग माही।
                                    जो नहीं होइ तात तुम पाहीं।।

सुख-शांति हेतु :  सकल विघ्‍न व्‍यापहि नहिं तेही। 
                         राम सुकृपा बिलोकहिं जेही।। 

Idol Of RamLalla Live 11:30 PM : रामलला की नवनिर्मित प्रतिमा में भगवान विष्णु के मत्स्य, कूर्म, वराह, नरसिंह, वामन, परशुराम, राम, कृष्ण, बुद्ध और कल्कि समेत 10 अवतार का वर्णन है।

Pran Pratishtha Schedule 22 January 2024 Live 1:15 AM : 10 बजे से गूंजेगी मंगलध्वनि

राम मंदिर कै उद्घाटन की तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। गर्भगृह से लेकर पूरे मंदिर रंग-बिरंगे फूलों और रोशनी से सजाया गया है। रामलला के प्राण-प्रतिष्ठा के लिए अयोध्या नगरी को 2500 क्विंटल फूलों से सजाया गया है। आज सुबह 10 बजे से मंगल ध्वनि का भव्य वादन होगा।

Pran Pratishtha 22 January 2024 Live 8:00 AM : प्राण-प्रतिष्ठा की शुरुआत

मंदिर परिसर में सुबह 10:30 मेहमानों को प्रवेश करना होगा। दोपहर 12:20 मिनट पर प्राण-प्रतिष्ठा की विधि शुरू होगी। साथ ही प्राण-प्रतिष्ठा की मुख्य पूजा मृगशिरा नक्षत्र में की जाएगी। दोपहर 12 बजकर 29 मिनट 8 सेकंड से 12 बजकर 30 मिनट 32 सेकंड तक प्राण-प्रतिष्ठा का मुहूर्त है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें