DA Image
21 जनवरी, 2020|11:13|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्र: सपने उम्र के मोहताज नहीं होते, इन 2 बुजुर्गों ने कर दिया साबित

102

उम्र के ऐसे पड़ाव पर जहां लोग शारीरिक और मानसिक रूप से असक्षम हो जाते हैं, पेंसिल्वेनिया के दो बुजुर्गों ने अपने सपने को सच कर दिखाया। पेंसिल्वेनिया के रिटायरमेंट कम्युनिटी के 102 वर्षीय एलान आर. ट्रिप ने दो वर्ष पहले एक कविता लिखी। यह कविता जिंदगी के बारे में, बुजुर्ग होने के बारे में और दोस्तों को खोने के बारे में थी।

दोस्त को आया तोहफा देने का विचार :  इस कविता को सुनने के बाद उनके 88 वर्षीय दोस्त मार्विन वेसबोर्ड को यह कविता गुनगुनाने का मन किया। वेसबोर्ड ने इस कविता के लिए म्यूजिक बनाया और ट्रिप को उनके 100वें जन्मदिन पर तोहफे में दिया।

इस गाने के बाद दोनों को ऐसी प्रेरणा मिली कि दो साल में दोनों ने आठ गीत लिखे और अब दोनों अपने गानों का एलबम निकाल चुके हैं। इस एलबम को सीनियर सॉन्ग बुक का नाम दिया गया है।

इस एलबम को 15 नवंबर को रिलीज  किया गया है और यह बिक्री के लिए दुकानों पर उपलब्ध है। ट्रिप ने कहा, इन गानों की धुन 40 और 50 के दशक के संगीतकार कोले पोर्टर और इरविंग बर्लिन की याद दिलाती है।

इस स्टोरी से मिलती है ये 3 सीखें-

-सपनों को हासिल करने की कोई उम्र नहीं होती है।

-अपनी मंजिल को हासिल करने के लिए उम्र नहीं पक्के इरादे की जरूरत होती है।

- अगर आप किसी चीज को पाने के लिए पूरी ईमानदारी से कोशिश करते हैं तो उसे आपके पास आने से कोई नहीं रोक सकता है। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:At the age of 102 two friends launched their music album in americas Pennsylvania