ट्रेंडिंग न्यूज़

Hindi News AstrologyAquarius is sun sign and numerological astrological significance of Akaay Anushka s baby boy

Akaay meaning :अनुष्का शर्मा के बेटे अकाय के जन्म के दिन ज्योतिष के अनुसार ऐसी थी ग्रहों की स्थिति

Akaay meaning :ज्योतिर्विद दिवाकर त्रिपाठी ने बताया कि 15 फरवरी को चंद्रमा का संचरण मेष राशि में हो रहा था । साथ ही देवगुरु बृहस्पति का गोचरीय संचरण भी मेष राशि में हो रहा था। ऐसी स्थिति में गज केसरी

Akaay meaning :अनुष्का शर्मा के बेटे अकाय के जन्म के दिन ज्योतिष के अनुसार ऐसी थी ग्रहों की स्थिति
Anuradha Pandeyलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीWed, 21 Feb 2024 11:21 PM
ऐप पर पढ़ें

विराट कोहली और अनुष्का शर्मा के घर एक बार फिर से किलकारी गूंजी है। 15 फरवरी दिन बृहस्पतिवार को उनके घर अकाय का जन्म हुआ है। उन्होंने खुद सोशल मीडिया पर अपने दूसरे बच्चे अकाय के जन्म की जानकारी दी है। 15 फरवरी के दिन सितारों की स्थिति क्या थी, और अकाय के नाम का अर्थ क्या है यहां पढ़ें-

ज्योतिर्विद से जानें अकाय के जन्म के दिन कैसे थे ग्रह
ज्योतिर्विद दिवाकर त्रिपाठी ने बताया कि 15 फरवरी को चंद्रमा का संचरण मेष राशि में हो रहा था । साथ ही देवगुरु बृहस्पति का गोचरीय संचरण भी मेष राशि में हो रहा था। ऐसी स्थिति में गज केसरी नामक राजयोग का निर्माण मेष राशि में हुआ। उन्होंने यह भी बताया कि विराट कोहली और अनुष्का शर्मा के बेटे अकाय के जन्म के समय सूर्य तथा शनि कुंभ राशि में एक साथ गोचर कर रहे थे मंगल, बुध तथा शुक्र मकर राशि में गोचर कर रहे थे। केतु का गोचर कन्या राशि में तथा राहु का गोचर मीन राशि में हो रहा था। मेष राशि में जन्म होने के कारण जातक का मूल ग्रह मंगल अपनी उच्च राशि मकर में विद्यमान है। ऐसी स्थिति में बालक का जीवन उन्नति प्राप्त करने वाला होगा । यद्यपि कि जन्म का समय ज्ञात नहीं होने के कारण लग्न का सटीक ज्ञान नहीं हो पाएगा फिर भी चंद्र राशि के आधार पर निश्चित तौर पर जातक का जीवन श्रेष्ठ तथा नेतृत्व प्रदायक है।

अंकशास्त्र के अनुसार
अंकशास्त्र और पंचांग के अनुसार 15 फरवरी डेट ऑफ बर्थ का नंबर 6 और डेस्टिनी नंबर 7 है। डेट ऑफ डे का नंबर तीन है, जिसका स्वामी गुरु है। अकाय के नंबर का संबंध नंबर 6 से भी है, जिसका स्वामी शुक्र है। इसलिए दोनों अभिवावकों के लिए बच्चा उन्नतिकारक साबित होगा।

क्या है अकाय का अर्थ
अकाय का शाब्दिक अर्थ होता है बिना शरीर के , अजन्मा या जिसका आकार न हो। इस प्रकार आकार का अर्थ होता है निराकार। जिसका कोई आकार नहीं है। असीम ऊर्जा का पिंड जिसमें कोई भी साकार रूप नहीं है अर्थात जो निराकार है जिसका कोई शरीर नहीं है जिसका कोई आकार नहीं है।

हिन्दुस्तान का वॉट्सऐप चैनल फॉलो करें