ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मApara Ekadashi Vrat 2022 : अपरा एकादशी कब है? नोट कर लें डेट, पूजा- विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व, पारणा टाइम और पूजन सामग्री की लिस्ट

Apara Ekadashi Vrat 2022 : अपरा एकादशी कब है? नोट कर लें डेट, पूजा- विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व, पारणा टाइम और पूजन सामग्री की लिस्ट

Apara Ekadashi : ज्येष्ठ माह में कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को अपरा और अचला एकादशी के नाम से जाना जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इस पावन दिन भगवान विष्णु की पूजा करने से मृत्यु के बाद मोक्

Apara Ekadashi Vrat 2022 : अपरा एकादशी कब है? नोट कर लें डेट, पूजा- विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व, पारणा टाइम और पूजन सामग्री की लिस्ट
Yogesh Joshiलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 19 May 2022 11:06 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

हिंदू धर्म में एकादशी का बहुत अधिक महत्व होता है। हर माह में 2 बार एकादशी पड़ती है। एक कृष्ण पक्ष में और एक शुक्ल पक्ष में। साल में कुल 24 एकादशी पड़ती हैं। ज्येष्ठ माह के कृष्ण पक्ष में पड़ने वाली एकादशी को अपरा एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन विधि- विधान से भगवान विष्णु की पूजा- अर्चना की जाती है। भगवान विष्णु की कृपा से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं और जीवन सुखमय हो जाता है। आइए जानते हैं अपरा एकादशी डेट, पूजा- विधि, शुभ मुहूर्त, महत्व, व्रत पारणा टाइम और पूजन सामग्री की लिस्ट- 

अपरा एकादशी डेट- अपरा एकादशी बृहस्पतिवार, मई 26, 2022 को है।

मुहूर्त- 

  • एकादशी तिथि प्रारम्भ - मई 25, 2022 को 10:32 ए एम बजे
  • एकादशी तिथि समाप्त - मई 26, 2022 को 10:54 ए एम बजे

व्रत पारणा टाइम- 

  • 27 मई को, पारण (व्रत तोड़ने का) समय - 05:25 ए एम से 08:10 ए एम
  • पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होने का समय - 11:47 ए एम

इन 3 राशि वालों से हमेशा दूर रहती है दरिद्रता, धन के मामले में होते हैं बेहद लकी

अपरा एकादशी पूजा- विधि

  • सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं।
  • घर के मंदिर में दीप प्रज्वलित करें।
  • भगवान विष्णु का गंगा जल से अभिषेक करें।
  • भगवान विष्णु को पुष्प और तुलसी दल अर्पित करें।
  • अगर संभव हो तो इस दिन व्रत भी रखें।
  • भगवान की आरती करें। 
  • भगवान को भोग लगाएं। इस बात का विशेष ध्यान रखें कि भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का भोग लगाया जाता है। भगवान विष्णु के भोग में तुलसी को जरूर शामिल करें। ऐसा माना जाता है कि बिना तुलसी के भगवान विष्णु भोग ग्रहण नहीं करते हैं। 
  • इस पावन दिन भगवान विष्णु के साथ ही माता लक्ष्मी की पूजा भी करें। 
  • इस दिन भगवान का अधिक से अधिक ध्यान करें। 

अपरा एकादशी का महत्व

  • धार्मिक मान्यताओं के अनुसार अपरा एकादशी का व्रत रखने से आर्थिक समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है। 
  • इस पावन दिन व्रत रखने से सभी तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है। 
  • धार्मिक कथाओं के अनुसार पांडवों ने भी अपरा एकादशी का व्रत किया था।
  • इस व्रत को करने से व्यक्ति की सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं।

एकादशी पूजा सामग्री लिस्ट

  • श्री विष्णु जी का चित्र अथवा मूर्ति
  • पुष्प
  • नारियल 
  • सुपारी
  • फल
  • लौंग
  • धूप
  • दीप
  • घी 
  • पंचामृत 
  • अक्षत
  • तुलसी दल
  • चंदन 
  • मिष्ठान

epaper