DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   धर्म  ›  अक्षय तृतीया पर ऑनलाइन होंगे ठा. बांकेबिहारी के चरण दर्शन

पंचांग-पुराणअक्षय तृतीया पर ऑनलाइन होंगे ठा. बांकेबिहारी के चरण दर्शन

हिन्दुस्तान संवाद,वृंदावनPublished By: Anuradha Pandey
Wed, 12 May 2021 07:57 AM
अक्षय तृतीया पर ऑनलाइन होंगे ठा. बांकेबिहारी के चरण दर्शन

कोरोना महामारी का असर अक्षय तृतीया पर्व पर भी पड़ रहा है। महामारी के चलते साल में सिर्फ एक दिन होने वाले ठा. बांकेबिहारी के चरण दर्शन भक्त नहीं कर सकेंगे। यही नहीं भक्त ठा. राधादामोदर मंदिर समेत मंदिरों में ठाकुरी के सर्वांग दर्शन (चंदन यात्रा) के दर्शन से भी वंचित रह जाएंगे। हालांकि कई मंदिर प्रबंधन द्वारा सोशल मीडिया पर ऑनलाइन चंदन यात्रा दर्शन की व्यवस्था की जा रही है।

बता दें कि कोरोना संक्रमण के लगातार बढ़ते प्रकोप की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा पूरे प्रदेश में 17 मई तक कोरोना कर्फ्यू लागू किया है। ऐसे में सभी बाजार ए‌वं धार्मिक स्थलों पर बंद रखने के निर्देश हैं। इसका सीधा असर 13 एवं 14 मई को होने वाले अक्षय तृतीया पर्व पर पड़ा है। मंदिरों के पट आम भक्तों के लिए बंद होने के कारण भक्त अक्षय तृतीया पर अपने आराध्य के दर्शन से वंचित रह जाएंगे।

अक्षय तृतीया पर्व पर ठा. बांकेबिहारी मंदिर में साल में सिर्फ एक दिन ही ठाकुरजी के दर्शन दर्शन होते हैं। लेकिन कोरोना महामारी के चलते पिछले साल लगे लॉकडाउन की तरह इस बार भी भक्तों को अपने आराध्य के चरण दर्शन नहीं हो पाएंगे। मंदिर प्रबंधक मुनीष कुमार शर्मा ने बताया कि कोरोना कर्फ्यू के चलते 14 मई अक्षय तृतीया पर आम भक्त ठाकुरजी के चरण दर्शन से वंचित रहेंगे। हालांकि मंदिर में सेवायत गोस्वामियों द्वारा अक्षय तृतीया पर्व की परम्परा के अनुसार ठाकुरजी की सेवा पूजा, चरण दर्शन आदि का पूर्णत: निर्वहन किया जाएगा।

सेवाकुंज क्षेत्र स्थित ठा. राधादामोदर मंदिर में अक्षय तृतीया पर ठाकुरजी के विग्रह पर चंदन लेप कर अनूठा श्रंगार किया जाता है। ठाकुरजी के अनूठे श्रंगार दर्शन को सर्वांग दर्शन या चंदन यात्रा भी कहा जाता है। मंदिर सेवायत कनिका प्रसाद गोस्वामी ने बताया कि अक्षय तृतीया पर ठाकुरजी के श्रंगार के लिए चंदन घिसाई का कार्य एक माह से निरंतर जारी है। 13 मई को शाम ठाकुरजी को भीषण गर्मी में शीतलता प्रदान करने के लिए विग्रह पर चंदन लेपन कर अनूठा श्रंगार किया जाएगा। बताया कि कोरोना आपदा के कारण इस बार भक्त ठाकुरजी के सर्वांग दर्शन नहीं कर पाएंगे। ऐसे में देश-विदेश में रह रहे भक्तों की धार्मिक भावना एवं आस्था को देखते हुए सोशल मीडिया पर ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था की जा रही है। भक्त व्हाट्सअप एवं फेसबुक समेत मंदिर की वेबसाइट पर ठाकुरजी के सर्वांग दर्शन (चंदन यात्रा) कर सकते हैं। 
वहीं ठा. राधाश्यामसुंदर मंदिर, ठा. राधारमण मंदिर, ठा. राधासनेहबिहारी मंदिर, श्रीकृष्ण बलराम इस्कॉन मंदिर, गोविंददेव मंदिर, मगनमोहन मंदिर समेत अन्य मंदिरों में भी अक्षय तृतीया पर्व सेवायत गोस्वामी एवं पुजारियों द्वारा सादगी के साथ मनाया जाएगा। 
......
 

संबंधित खबरें