Ahoi Ashtami Vrata on monday Ahoi Ashtami Puja Muhurta puja vidhi and Ahoi Ashtami Vrata katha all details read here - Ahoi Ashtami 2019: कल है अहोई अष्टमी का व्रत, पढ़ें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि DA Image
15 नबम्बर, 2019|12:48|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

Ahoi Ashtami 2019: कल है अहोई अष्टमी का व्रत, पढ़ें शुभ मुहूर्त और पूजा विधि

jitiya vrat 2018

संतान की दीर्घायु और कल्याण के लिए माताएं अहोई अष्टमी का व्रत सोमवार को रखेंगी। दिनभर व्रत  रहकर माताएं सोमवार को तारामंडल के उदय होने पर तारों को अघ्र्य देकर व्रत खोलेंगी और कुछ माताएं चंद्रमा को अघ्र्य देकर व्रत खोलेंगी।

सदर स्थित छोटी दुर्गाबाड़ी मंदिर के पंडित शास्त्री विशाल भारद्बाज ने बताया कि कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष अष्टमी को अहोई माता का व्रत रखा जाता है। इस दिन अहोई माता (पार्वती) की पूजा की जाती है। अहोई व्रत रखकर माताएं अपनी संतान की रक्षा और दीर्घायु के लिए प्रार्थना करती हैं। जिन लोगों के संतान नहीं हो पा रही हैं उनके लिए यह व्रत विशेष है। अहोई के दिन विशेष उपाय करने से संतान की उन्नति और कल्याण होगा।

Ahoi ashtami 2019: अहोई अष्टमी व्रत की कथा यहां पढ़ें

उन्होंने बताया कि इस बार सोमवार को अहोई अष्टमी के दिन चंद्रमा पुण्य नक्षत्र में रहेगा। इसके अलावा इस दिन साध्य योग और सर्वाथ सिद्धि योग बन रहा है। इस कारण यह अहोई अष्टमी की पूजा का समय और भी ज्यादा खास बन रहा है। 21 अक्तूबर को शाम पांच बजकर 42 मिनट से शाम छह बजकर 59 मिनट तक पूजा का शुभ मुहुर्त रहेगा। इस मुहुर्त में माताएं के अहोई अष्टमी की पूजा करने से न केवल उनकी संतान की उम्र लंबी होगी बल्कि संतान की सभी परेशानियां भी समाप्त हो                  जाएंगी। इसके साथ ही इस दिन अभिजीत मुहुर्त और अमृत काल मुहुर्त होने के कारण पूजा का शुभ फल प्राप्त होगा। वहीं, दूसरी ओर अहोई व्रत को लेकर बाजारों में रौनक बढ़ गई है। महिलाओं ने पूजा के लिए अहोई और अहोई माता का चित्र खरीदा।


ऐसे करें अहोई माता की पूजा
बिल्वेश्वरनाथ बालाजी मंदिर के पंडित चेतन स्वामी ने बताया कि पूजन के लिए दीवार पर अहोई माता की तस्वीर बनाई जाती है। फिर रोली, चावल और दूध से पूजन किया जाता है। इसके बाद कलश में जल भरकर माताएं अहोई अष्टमी कथा का श्रवण करती हैं। इसके बाद रात में तारे को अघ्र्य देकर संतान की लंबी उम्र और सुखदायी जीवन की कामना करने के बाद अन्न ग्रहण करती हैं। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Ahoi Ashtami Vrata on monday Ahoi Ashtami Puja Muhurta puja vidhi and Ahoi Ashtami Vrata katha all details read here