ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मइन दो बड़े ग्रहों की युति से 37 साल बाद बन रहा ये योग, 10 अगस्त तक इन 8 राशियों के जातक रहें संभलकर

इन दो बड़े ग्रहों की युति से 37 साल बाद बन रहा ये योग, 10 अगस्त तक इन 8 राशियों के जातक रहें संभलकर

मेष राशि में गोचर कर रहे मंगल अपना संपूर्ण प्रभाव दे पाने में सफल होंगे क्योंकि कोई भी ग्रह अपने स्वयं की राशि में अपना संपूर्ण प्रभाव दे पाने में सफल होता है।

इन दो बड़े ग्रहों की युति से 37 साल बाद बन रहा ये योग, 10 अगस्त तक इन 8 राशियों के जातक रहें संभलकर
Saumya Tiwariलाइव हिन्दुस्तान,नई दिल्लीMon, 27 Jun 2022 01:00 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

ग्रहों के सेनापति मंगल ने 27 जून, सोमवार को राशि परिवर्तन कर लिया है। मंगल ने सुबह करीब 6 बजे मेष राशि में प्रवेश किया है। मंगल का यह गोचर खास माना जा रहा है। मंगल गोचर के कारण मेष राशि में 37 साल बाद अंगारक योग बन रहा है। अंगारक योग कई राशि वालों के लिए मुश्किलों भरा साबित हो सकता है।

मेष राशि में कब तक रहेगा अंगारक योग-

27 जून को मंगल के मेष राशि में प्रवेश करते ही इस योग का निर्माण हो गया है। इस राशि में पहले से ही राहु ग्रह विराजमान था। मंगल और राहु की युति होने के कारण मेष राशि में करीब 37 साल बाद अंगारक योग बन रहा है, जो कि 10 अगस्त तक रहेगा। इससे पहले इस योग का निर्माण मेष राशि में साल 1985 में हुआ था।

मंगल व राहु की युति का प्रभाव-

मंगल व राहु की युति का प्रभाव सभी 12 राशियों पर पड़ता है। ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, मंगल व राहु की युति अशुभ प्रभाव डालती है। मंगल व राहु की युति से बनने वाला अंगारक योग धन हानि, वाद-विवाद, कलह, उधार और अन्य समस्याओं का कारण बन सकता है। इसलिए इस योग तक लोगों को बेहद सावधान रहने की सलाह दी जाती है।

इन राशियों के लोग रहें संभलकर-

मंगल के राशि परिवर्तन से बनने वाला अंगारक योग कई राशि वालों की मुश्किलें बढ़ा सकता है। मेष, वृषभ, कन्या, तुला, सिंह, धनु, मकर व मीन राशि वालों को धन हानि की आशंका है। परिवार में कलह हो सकती है। नौकरी व व्यापार में दिक्कतों का सामना करा पड़ सकता है। वाणी पर काबू रखें। 

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें। 

 

epaper