ट्रेंडिंग न्यूज़

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ धर्मAchala Ekadashi 2022: आज अपरा या अचला एकादशी पर बन रहा ग्रहों का महासंयोग, जान लें पूजा व व्रत पारण का शुभ समय

Achala Ekadashi 2022: आज अपरा या अचला एकादशी पर बन रहा ग्रहों का महासंयोग, जान लें पूजा व व्रत पारण का शुभ समय

Achala Ekadashi 26 May 2022: हिंदू कैलेंडर के अनुसार, हर महीने दो एकादशी तिथि पड़ती हैं। ये सभी एकादशी भगवान विष्णु की पूजा के लिए श्रेष्ठ मानी जाती हैं।

Achala Ekadashi 2022: आज अपरा या अचला एकादशी पर बन रहा ग्रहों का महासंयोग, जान लें पूजा व व्रत पारण का शुभ समय
Saumya Tiwariलाइव हिन्दुस्तान टीम,नई दिल्लीThu, 26 May 2022 05:43 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

26 May 2022 Ekadashi Muhurat: हिंदू धर्म में एकादशी तिथि का विशेष महत्व होता है। ज्येष्ठ मास में पड़ने वाली एकादशी को अचला या अपरा एकादशी कहा जाता है। ये एकादशी 26 मई 2022, गुरुवार को है। गुरुवार का दिन होने से इस एकादशी का महत्व और बढ़ रहा है। एकादशी तिथि व गुरुवार का दिन भगवान विष्णु को समर्पित माने गए हैं। इस शुभ संयोग के साथ इस एकादशी पर कई अन्य अद्भुत संयोग भी बन रहे हैं।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार, इस एकादशी तिथि पर तिथि, वार, नक्षत्र और ग्रहों से मिलकर सूर्योदय के साथ छह शुभ योग बन रहे है। जिससे अपरा या अचला एकादशी व्रत का कई गुना शुभ फल मिलेगा। गुरुवार को सूर्योदय के साथ ही सर्वार्थसिद्धि योग लगेगा। सूर्य व बुध की युति से बुधादित्य योग, गुरु-चंद्र-मंगल से गजकेसरी व महालक्ष्मी योग का निर्माण हो रहा है। इसके साथ ही आयुष्मान और मित्र नाम के शुभ योग भी बन रहे हैं।

इन चार राशि वालों को नौकरी में सफलता और धन चाहिए तो एकादशी पर करना चाहिए यह काम

एकादशी तिथि पर स्नान व दान की परंपरा-

ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी के पवित्र नदियों में स्नान का विशेष महत्व होता है। इस दिन गरीबों व जरूरतमंद को दान करने की भी परंपरा है। मान्यता है कि इस दिन मां लक्ष्मी व भगवान विष्णु की पूजा करने से सुख-समृद्धि का वास होता है।

अपरा एकादशी 2022 शुभ मुहूर्त-

25 मई 2022 को एकादशी तिथि सुबह 10 बजकर 32 मिनट पर शुरू होगी, जो कि 26 मई 2022 को सुबह 10 बजकर 54 मिनट पर समाप्त होगी। व्रत पारण का शुभ समय 27 मई को सुबह 05 बजकर 25 मिनट से सुबह 08 बजकर 10 मिनट तक रहेगा। पारण तिथि के दिन द्वादशी समाप्त होना समय सुबह 11 बजकर 47 मिनट है।

26 मई को है अपरा एकादशी व्रत, इस एक काम को करने से बरेसगी विष्णु भगवान की विशेष कृपा

अपरा एकादशी पर बनने वाले शुभ मुहूर्त-

ब्रह्म मुहूर्त- 04:03 ए एम से 04:44 ए एम।
अभिजित मुहूर्त-11:51 ए एम से 12:46 पी एम
विजय मुहूर्त-02:36 पी एम से 03:31 पी एम
गोधूलि मुहूर्त- 06:57 पी एम से 07:21 पी एम।
अमृत काल- 10:07 पी एम से 11:48 पी एम।
निशिता मुहूर्त- 11:58 पी एम से 12:39 ए एम, मई 27
सर्वार्थ सिद्धि योग- पूरे दिन

epaper