DA Image
29 जनवरी, 2020|8:08|IST

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

यह ग्रह दिलाता है जीवन में मान-सम्‍मान और उच्‍च पद

जीवन में हर व्‍यक्‍ति को मान-सम्‍मान और उच्‍च पद की आकांक्षा रहती है। वह इसके लिए कोशिश भी करता है। लेकिन अनेक लोग ऐसे होते हैं जिन्‍हें मान-सम्‍मान और उच्‍च पाने में ज्‍यादा मशक्‍कत नहीं करनी पड़ती जबकि कुछ को दिन-रात की कड़ी मेहनत के बावजूद मनमुताबिक फल नहीं मिलते।ज्‍योतिषीय दृष्‍टि से देखा जाए तो जीवन में मान-सम्‍मान का संबंध आपके ग्रहों से है और इसमें सबसे खास है सूर्य। कुंडली हो या फिर हाथ, सूर्य ग्रह एवं सूर्य पर्वत का बेहतर होना जरुरी है।

ज्‍योतिषी पं.अभि भारद्वाज के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में सूर्य शुभ हो तो उस व्यक्ति को सरकारी सेवा में उच्च पद प्राप्‍त होता है। ऐसे व्‍यक्‍ति को अन्‍य प्रकार के भी लाभ मिलते हैं। ज्‍योतिष में सूर्य को सभी ग्रह ग्रहों का राजा माना गया है। वैदिक ज्योतिष में सूर्य को आत्मा, मान-सम्मान, राज्‍य पद, उच्च पद, सरकारी सेवा और नेतृत्‍व सहित उपलब्‍धियों का कारक माना जाता है। ज्‍योतिष में सूर्य सिंह राशि का मालिक है और यह तुला राशि में नीच का होता है जबकि मेष राशि में यह उच्च का होता है। शनि और शुक्र सूर्य ग्रह के शत्रु ग्रह हैं। चंद्र मंगल और गुरु इसके मित्र ग्रह हैं। सूर्य ग्रह सभी ग्रहों का राजा है। इसी तरह यदि हाथ में सूर्य पर्वत मजबूत स्‍थिति में है तो व्‍यक्‍ति को मान-सम्‍मान और धन की प्राप्‍ति होती है। ऐसा व्‍यक्‍ति सरकारी सेवा में उच्‍च पद को पाता है। हालांकि जिन लोगों के हाथ में सूर्य पर्वत दबा हुआ है अथवा कमजोर है, उन्‍हें अपने लक्ष्‍य को पाने के लिए ऐडी-चोटी तक के जोर लगाने पड़ते हैं। कई बार मेहनत करने के बावजूद रिजल्‍ट नहीं मिल पाते।

(ये जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

नए साल में कभी नहीं होगी पैसों की कमी, इन 7 उपायों में से कर सकते हैं सिर्फ कोई एक उपाय

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:This planet brings honor and high status in life