DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इन उपायों से कीजिए शनि और राहु को प्रसन्‍न

कुंडली में नौ ग्रहों का व्‍यक्‍ति के जीवन पर विशेष असर पड़ता है। यदि ग्रह मजबूत और शुभ स्‍थिति में हों तो उसके परिणाम भी बेहतर मिलते हैं, लेकिन यदि ग्रह कमजोर होकर अशुभ फल दे रहा हो तो जातक परेशानियों से जूझता रहता है। यदि आपकी कुंडली में शनि, राहुल और केतू शुभ फल नहीं दे रहे हैं तो यहां दिए जा रहे छोटे-छोटे उपाय आपको बड़ी राहत दे सकते हैं। पं.शिवकुमार शर्मा के अनुसार ये उपाय तभी करने चाहिए जब ये ग्रह अशुभ फल दे रहे हों। इसके लिए जरुरी है कि पहले किसी विद्वान से ग्रहों की स्‍थिति का पता कर लिया जाए।  

 

शनि -

  • शनिवार के दिन पीपल वृक्ष की जड़ पर तिल के तेल का दीपक जलाएं।
  • शनिवार के दिन लोहे, चमड़े, लकड़ी की वस्तुएं एवं किसी भी प्रकार का तेल नहीं खरीदना चाहिए।
  • शनिवार के दिन बाल एवं दाढ़ी-मूँछ नहीं कटवाने चाहिए।
  • भड्डरी को कड़वे तेल का दान करना चाहिए।
  • भिखारी को उड़द की दाल की कचोरी खिलानी चाहिए।
  • किसी दुःखी व्यक्ति के आंसू अपने हाथों से पोंछने चाहिए।
  • घर में काला पत्थर लगवाना चाहिए।
  • शनि के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटकों हेतु शनिवार के दिन, शनि के नक्षत्र, पुष्य, अनुराधा, उत्तरा-भाद्रपद तथा शनि की होरा में अधिक शुभ होते हैं।

 

राहु-

  • ऐसे व्यक्ति को अष्टधातु का कड़ा दाहिने हाथ में धारण करना चाहिए।
  • हाथी दांत का लाकेट गले में धारण करना चाहिए।
  • अपने पास सफेद चन्दन अवश्य रखना चाहिए। सफेद चन्दन की माला भी धारण की जा सकती है।
  • जमादार को तम्बाकू का दान करना चाहिए।
  • दिन के संधिकाल में अर्थात सूर्योदय या सूर्यास्त के समय कोई महत्त्वपूर्ण कार्य नहीं करना चाहिए।
  • यदि किसी अन्य व्यक्ति के पास रुपया अटक गया हो तो प्रातःकाल पक्षियों को दाना चुगाना चाहिए।
  • झूंठी कसम नही खानी चाहिए।
  • राहु के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटकों हेतु शनिवार का दिन, राहु के नक्षत्र,आर्द्रा, स्वाती, शतभिषा तथा शनि की होरा में अधिक शुभ होते हैं।

 

केतु-

  • भिखारी को दो रंग का कम्बल दान देना चाहिए।
  • नारियल में मेवा भरकर भूमि में दबाना चाहिए।
  • बकरी को हरा चारा खिलाना चाहिए।
  • ऊंचाई से गिरते हुए जल में स्नान करना चाहिए।
  • घर में दो रंग का पत्थर लगवाना चाहिए।
  • चारपाई के नीचे कोई भारी पत्थर रखना चाहिए।
  • किसी पवित्र नदी या सरोवर का जल अपने घर में लाकर रखना चाहिए।
  • केतु के दुष्प्रभाव निवारण के लिए किए जा रहे टोटकों हेतु मंगलवार का दिन, केतु के नक्षत्र,अश्विनी, मघा तथा मूल तथा मंगल की होरा में अधिक शुभ होते हैं।

(ये जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है)

जानें, किस दिन कौन सा तिलक लगाने से प्रसन्न होते हैं भगवान

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:Saturn and Rahu will be happy with these remedies