अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

इसलिए एकदंत कहलाते हैं भगवान श्रीगणेश

इसलिए एकदंत कहलाते हैं भगवान श्रीगणेश

श्रीगणेश, भगवान शिव और माता पार्वती के पहले पुत्र हैं। उन्हें सबसे पहले पूजा जाता है। भगवान श्रीगणेश को एकदंत भी कहा जाता है। आइये जानते हैं भगवान श्रीगणेश को इस नाम से क्यों पुकारा जाता है। 

महर्षि वेदव्यास महाभारत लिखने लिखे, तो उन्हें ऐसे व्यक्ति की जरूरत थी जो उनके मुख से निकले हुए शब्दों को लिख सके। इस कार्य के लिए श्रीगणेश जी का चयन किया गया। गणेश जी से शर्त रखी गई कि पूरा महाभारत लेखन में एक पल ले लिए भी बिना रुके पूरा करना होगा। 

दोनों महाभारत लिखने बैठ गए। वेदव्यास जी महाकाव्य को अपने मुख से बोलने लगे और गणेश जी जल्दी-जल्दी लिखने लगे। कुछ देर लिखने के बाद अचानक गणेश जी का कलम टूट गया, तब भगवान गणेश ने अपने एक दांत को तोड़ दिया और स्याही में डुबोकर महाभारत की कथा लिखने लगे। महर्षि वेदव्यास जी और भगवान गणेश को महाभारत लिखने में तीन वर्ष का समय लगा।

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:therefore called ekadanta lord ganesha