अगली स्टोरी

वृष

1 सित॰ 2018

माह के प्रांरभ में परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। सात सितंबर के बाद पिता के स्वास्थ्य में सुधार होगा। आय की स्थिति में भी सुधार होगा। 18 सितंबर से धैर्यशीलता में कमी आ सकती है। आत्मसंयत रहें। 19 सितंबर के बाद संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

वृष

1 सित॰ 2018

माह के प्रांरभ में परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। सात सितंबर के बाद पिता के स्वास्थ्य में सुधार होगा। आय की स्थिति में भी सुधार होगा। 18 सितंबर से धैर्यशीलता में कमी आ सकती है। आत्मसंयत रहें। 19 सितंबर के बाद संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

वृष

1 सित॰ 2018

माह के प्रांरभ में परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। सात सितंबर के बाद पिता के स्वास्थ्य में सुधार होगा। आय की स्थिति में भी सुधार होगा। 18 सितंबर से धैर्यशीलता में कमी आ सकती है। आत्मसंयत रहें। 19 सितंबर के बाद संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

वृष

1535740200000

माह के प्रांरभ में परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। सात सितंबर के बाद पिता के स्वास्थ्य में सुधार होगा। आय की स्थिति में भी सुधार होगा। 18 सितंबर से धैर्यशीलता में कमी आ सकती है। आत्मसंयत रहें। 19 सितंबर के बाद संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

वृष

सितंबर

माह के प्रांरभ में परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। सात सितंबर के बाद पिता के स्वास्थ्य में सुधार होगा। आय की स्थिति में भी सुधार होगा। 18 सितंबर से धैर्यशीलता में कमी आ सकती है। आत्मसंयत रहें। 19 सितंबर के बाद संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

वृष

1535740200000

माह के प्रांरभ में परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। सात सितंबर के बाद पिता के स्वास्थ्य में सुधार होगा। आय की स्थिति में भी सुधार होगा। 18 सितंबर से धैर्यशीलता में कमी आ सकती है। आत्मसंयत रहें। 19 सितंबर के बाद संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)



22 सितम्बर, 2018