libra Rashifal in Hindi, month libra Rashifal in Hindi, libra Daily Horoscope in Hindi, Aaj Ka Rashifal undefined in Hindi sep-2019 DA Image

अगली स्टोरी

तुला

1 सित॰ 2019

दस सितंबर से मन अशांत रहेगा। आत्मविश्वास में कमी आएगी। वस्त्रों व वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। 17 सितंबर से आय में कठिनाई व खर्च अधिक की स्थिति रहेगी। 19 सितंबर से नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। परिश्रम की अधिकता रहेगी। व्यर्थ के विवादों से दूर रहने का प्रयास करें। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

तुला

1 सित॰ 2019

दस सितंबर से मन अशांत रहेगा। आत्मविश्वास में कमी आएगी। वस्त्रों व वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। 17 सितंबर से आय में कठिनाई व खर्च अधिक की स्थिति रहेगी। 19 सितंबर से नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। परिश्रम की अधिकता रहेगी। व्यर्थ के विवादों से दूर रहने का प्रयास करें। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

तुला

1 सित॰ 2019

दस सितंबर से मन अशांत रहेगा। आत्मविश्वास में कमी आएगी। वस्त्रों व वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। 17 सितंबर से आय में कठिनाई व खर्च अधिक की स्थिति रहेगी। 19 सितंबर से नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। परिश्रम की अधिकता रहेगी। व्यर्थ के विवादों से दूर रहने का प्रयास करें। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

तुला

1567276200000

दस सितंबर से मन अशांत रहेगा। आत्मविश्वास में कमी आएगी। वस्त्रों व वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। 17 सितंबर से आय में कठिनाई व खर्च अधिक की स्थिति रहेगी। 19 सितंबर से नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। परिश्रम की अधिकता रहेगी। व्यर्थ के विवादों से दूर रहने का प्रयास करें। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

तुला

सितंबर

दस सितंबर से मन अशांत रहेगा। आत्मविश्वास में कमी आएगी। वस्त्रों व वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। 17 सितंबर से आय में कठिनाई व खर्च अधिक की स्थिति रहेगी। 19 सितंबर से नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। परिश्रम की अधिकता रहेगी। व्यर्थ के विवादों से दूर रहने का प्रयास करें। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

तुला

1567276200000

दस सितंबर से मन अशांत रहेगा। आत्मविश्वास में कमी आएगी। वस्त्रों व वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। 17 सितंबर से आय में कठिनाई व खर्च अधिक की स्थिति रहेगी। 19 सितंबर से नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। परिश्रम की अधिकता रहेगी। व्यर्थ के विवादों से दूर रहने का प्रयास करें। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

17 अक्तूबर, 2019