capricorn Rashifal in Hindi, month capricorn Rashifal in Hindi, capricorn Daily Horoscope in Hindi, Aaj Ka Rashifal undefined in Hindi nov-2019 DA Image
13 दिसंबर, 2019|1:35|IST

अगली स्टोरी

मकर

1 नव॰ 2019

मन में निराशा के भाव रहेंगे। मास के प्रारंभ में किसी धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। पांच नवंबर से धार्मिक कार्यों में खर्च भी बढ़ सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। 11 नवंबर के बाद भवन सुख में वृद्धि होगी। भवन की साज सज्जा पर खर्च बढ़ेंगे। 16 नवंबर से आय में कमी व खर्च अधिक की स्थिति हो सकती है। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

मकर

1 नव॰ 2019

मन में निराशा के भाव रहेंगे। मास के प्रारंभ में किसी धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। पांच नवंबर से धार्मिक कार्यों में खर्च भी बढ़ सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। 11 नवंबर के बाद भवन सुख में वृद्धि होगी। भवन की साज सज्जा पर खर्च बढ़ेंगे। 16 नवंबर से आय में कमी व खर्च अधिक की स्थिति हो सकती है। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

मकर

1 नव॰ 2019

मन में निराशा के भाव रहेंगे। मास के प्रारंभ में किसी धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। पांच नवंबर से धार्मिक कार्यों में खर्च भी बढ़ सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। 11 नवंबर के बाद भवन सुख में वृद्धि होगी। भवन की साज सज्जा पर खर्च बढ़ेंगे। 16 नवंबर से आय में कमी व खर्च अधिक की स्थिति हो सकती है। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

मकर

1572546600000

मन में निराशा के भाव रहेंगे। मास के प्रारंभ में किसी धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। पांच नवंबर से धार्मिक कार्यों में खर्च भी बढ़ सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। 11 नवंबर के बाद भवन सुख में वृद्धि होगी। भवन की साज सज्जा पर खर्च बढ़ेंगे। 16 नवंबर से आय में कमी व खर्च अधिक की स्थिति हो सकती है। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

मकर

नवंबर

मन में निराशा के भाव रहेंगे। मास के प्रारंभ में किसी धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। पांच नवंबर से धार्मिक कार्यों में खर्च भी बढ़ सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। 11 नवंबर के बाद भवन सुख में वृद्धि होगी। भवन की साज सज्जा पर खर्च बढ़ेंगे। 16 नवंबर से आय में कमी व खर्च अधिक की स्थिति हो सकती है। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

मकर

1572546600000

मन में निराशा के भाव रहेंगे। मास के प्रारंभ में किसी धार्मिक स्थान की यात्रा का कार्यक्रम बन सकता है। पांच नवंबर से धार्मिक कार्यों में खर्च भी बढ़ सकते हैं। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आएंगे। 11 नवंबर के बाद भवन सुख में वृद्धि होगी। भवन की साज सज्जा पर खर्च बढ़ेंगे। 16 नवंबर से आय में कमी व खर्च अधिक की स्थिति हो सकती है। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)