DA Image

अगली स्टोरी

कर्क

1 जन॰ 2019

कर्क : (22 जून से 23 जुलाई)
वर्ष के प्रारंभ में मानसिक शांति रहेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। छह फरवरी के उपरांत नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। सात मार्च के बाद किसी दूसरे स्थान पर जाना पड़ सकता है। अनियमित खर्चों में वृद्धि होगी। 30 मार्च के बाद से भवन के रखरखाव व साज सज्जा के कार्यों में खर्च बढ़ेंगे। शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आएगी। एक मई से 19 सितंबर के मध्य नौकरी में कठनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। परिवार की समस्या भी परेशान कर सकती है। चार अक्तूबर के बाद वाहन ले सकते हैं। इस संपूर्ण वर्ष में कारोबार की स्थिति थोड़ी डांवाडोल ही रहेगी। जीवनसाथी को भी स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं, परंतु मित्रों का सहयोग मिलता रहेगा। किसी मित्र के साथ यात्रा पर भी रवाना होना पड़ सकता है। विदेश यात्रा के भी अवसर मिल सकते हैं। सात नवंबर के उपरांत एक बार फिर स्थिति में सुधार हो सकता है। आय में वृद्धि होगी।

उपाय:

  • प्रतिदिन प्रात: कम से कम एक माला मृत्युंजय के मंत्र को अवश्य जपें।
  • किसी भी मंदिर में केले के तीन पेड़ लगाएं।
  • शनिवार के दिन शाम के समय कुत्ते को तेल से बना मीठा पराठां खिलाएं।

कर्क

1 जन॰ 2019

कर्क : (22 जून से 23 जुलाई)
वर्ष के प्रारंभ में मानसिक शांति रहेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। छह फरवरी के उपरांत नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। सात मार्च के बाद किसी दूसरे स्थान पर जाना पड़ सकता है। अनियमित खर्चों में वृद्धि होगी। 30 मार्च के बाद से भवन के रखरखाव व साज सज्जा के कार्यों में खर्च बढ़ेंगे। शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आएगी। एक मई से 19 सितंबर के मध्य नौकरी में कठनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। परिवार की समस्या भी परेशान कर सकती है। चार अक्तूबर के बाद वाहन ले सकते हैं। इस संपूर्ण वर्ष में कारोबार की स्थिति थोड़ी डांवाडोल ही रहेगी। जीवनसाथी को भी स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं, परंतु मित्रों का सहयोग मिलता रहेगा। किसी मित्र के साथ यात्रा पर भी रवाना होना पड़ सकता है। विदेश यात्रा के भी अवसर मिल सकते हैं। सात नवंबर के उपरांत एक बार फिर स्थिति में सुधार हो सकता है। आय में वृद्धि होगी।

उपाय:

  • प्रतिदिन प्रात: कम से कम एक माला मृत्युंजय के मंत्र को अवश्य जपें।
  • किसी भी मंदिर में केले के तीन पेड़ लगाएं।
  • शनिवार के दिन शाम के समय कुत्ते को तेल से बना मीठा पराठां खिलाएं।

कर्क

1 जन॰ 2019

कर्क : (22 जून से 23 जुलाई)
वर्ष के प्रारंभ में मानसिक शांति रहेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। छह फरवरी के उपरांत नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। सात मार्च के बाद किसी दूसरे स्थान पर जाना पड़ सकता है। अनियमित खर्चों में वृद्धि होगी। 30 मार्च के बाद से भवन के रखरखाव व साज सज्जा के कार्यों में खर्च बढ़ेंगे। शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आएगी। एक मई से 19 सितंबर के मध्य नौकरी में कठनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। परिवार की समस्या भी परेशान कर सकती है। चार अक्तूबर के बाद वाहन ले सकते हैं। इस संपूर्ण वर्ष में कारोबार की स्थिति थोड़ी डांवाडोल ही रहेगी। जीवनसाथी को भी स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं, परंतु मित्रों का सहयोग मिलता रहेगा। किसी मित्र के साथ यात्रा पर भी रवाना होना पड़ सकता है। विदेश यात्रा के भी अवसर मिल सकते हैं। सात नवंबर के उपरांत एक बार फिर स्थिति में सुधार हो सकता है। आय में वृद्धि होगी।

उपाय:

  • प्रतिदिन प्रात: कम से कम एक माला मृत्युंजय के मंत्र को अवश्य जपें।
  • किसी भी मंदिर में केले के तीन पेड़ लगाएं।
  • शनिवार के दिन शाम के समय कुत्ते को तेल से बना मीठा पराठां खिलाएं।

कर्क

2019

कर्क : (22 जून से 23 जुलाई)
वर्ष के प्रारंभ में मानसिक शांति रहेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। छह फरवरी के उपरांत नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। सात मार्च के बाद किसी दूसरे स्थान पर जाना पड़ सकता है। अनियमित खर्चों में वृद्धि होगी। 30 मार्च के बाद से भवन के रखरखाव व साज सज्जा के कार्यों में खर्च बढ़ेंगे। शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आएगी। एक मई से 19 सितंबर के मध्य नौकरी में कठनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। परिवार की समस्या भी परेशान कर सकती है। चार अक्तूबर के बाद वाहन ले सकते हैं। इस संपूर्ण वर्ष में कारोबार की स्थिति थोड़ी डांवाडोल ही रहेगी। जीवनसाथी को भी स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं, परंतु मित्रों का सहयोग मिलता रहेगा। किसी मित्र के साथ यात्रा पर भी रवाना होना पड़ सकता है। विदेश यात्रा के भी अवसर मिल सकते हैं। सात नवंबर के उपरांत एक बार फिर स्थिति में सुधार हो सकता है। आय में वृद्धि होगी।

उपाय:

  • प्रतिदिन प्रात: कम से कम एक माला मृत्युंजय के मंत्र को अवश्य जपें।
  • किसी भी मंदिर में केले के तीन पेड़ लगाएं।
  • शनिवार के दिन शाम के समय कुत्ते को तेल से बना मीठा पराठां खिलाएं।

कर्क

जनवरी

कर्क : (22 जून से 23 जुलाई)
वर्ष के प्रारंभ में मानसिक शांति रहेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। छह फरवरी के उपरांत नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। सात मार्च के बाद किसी दूसरे स्थान पर जाना पड़ सकता है। अनियमित खर्चों में वृद्धि होगी। 30 मार्च के बाद से भवन के रखरखाव व साज सज्जा के कार्यों में खर्च बढ़ेंगे। शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आएगी। एक मई से 19 सितंबर के मध्य नौकरी में कठनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। परिवार की समस्या भी परेशान कर सकती है। चार अक्तूबर के बाद वाहन ले सकते हैं। इस संपूर्ण वर्ष में कारोबार की स्थिति थोड़ी डांवाडोल ही रहेगी। जीवनसाथी को भी स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं, परंतु मित्रों का सहयोग मिलता रहेगा। किसी मित्र के साथ यात्रा पर भी रवाना होना पड़ सकता है। विदेश यात्रा के भी अवसर मिल सकते हैं। सात नवंबर के उपरांत एक बार फिर स्थिति में सुधार हो सकता है। आय में वृद्धि होगी।

उपाय:

  • प्रतिदिन प्रात: कम से कम एक माला मृत्युंजय के मंत्र को अवश्य जपें।
  • किसी भी मंदिर में केले के तीन पेड़ लगाएं।
  • शनिवार के दिन शाम के समय कुत्ते को तेल से बना मीठा पराठां खिलाएं।

कर्क

2019

कर्क : (22 जून से 23 जुलाई)
वर्ष के प्रारंभ में मानसिक शांति रहेगी। पारिवारिक जीवन सुखमय रहेगा। छह फरवरी के उपरांत नौकरी में तरक्की के अवसर मिल सकते हैं। सात मार्च के बाद किसी दूसरे स्थान पर जाना पड़ सकता है। अनियमित खर्चों में वृद्धि होगी। 30 मार्च के बाद से भवन के रखरखाव व साज सज्जा के कार्यों में खर्च बढ़ेंगे। शैक्षिक कार्यों में कठिनाई आएगी। एक मई से 19 सितंबर के मध्य नौकरी में कठनाइयों का सामना करना पड़ सकता है। परिवार की समस्या भी परेशान कर सकती है। चार अक्तूबर के बाद वाहन ले सकते हैं। इस संपूर्ण वर्ष में कारोबार की स्थिति थोड़ी डांवाडोल ही रहेगी। जीवनसाथी को भी स्वास्थ्य विकार हो सकते हैं, परंतु मित्रों का सहयोग मिलता रहेगा। किसी मित्र के साथ यात्रा पर भी रवाना होना पड़ सकता है। विदेश यात्रा के भी अवसर मिल सकते हैं। सात नवंबर के उपरांत एक बार फिर स्थिति में सुधार हो सकता है। आय में वृद्धि होगी।

उपाय:

  • प्रतिदिन प्रात: कम से कम एक माला मृत्युंजय के मंत्र को अवश्य जपें।
  • किसी भी मंदिर में केले के तीन पेड़ लगाएं।
  • शनिवार के दिन शाम के समय कुत्ते को तेल से बना मीठा पराठां खिलाएं।
25 जून, 2019