मेष

18 दिस॰ 2017

आत्‍मसंयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचें। धर्म-कर्म में रुचि बढे़गी। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। परिश्रम की अधिकता रहेगी। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

मेष

18 दिस॰ 2017

आत्‍मसंयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचें। धर्म-कर्म में रुचि बढे़गी। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। परिश्रम की अधिकता रहेगी। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

मेष

18 दिस॰ 2017

आत्‍मसंयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचें। धर्म-कर्म में रुचि बढे़गी। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। परिश्रम की अधिकता रहेगी। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

मेष

1513535400000

आत्‍मसंयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचें। धर्म-कर्म में रुचि बढे़गी। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। परिश्रम की अधिकता रहेगी। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

मेष

दिसंबर

आत्‍मसंयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचें। धर्म-कर्म में रुचि बढे़गी। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। परिश्रम की अधिकता रहेगी। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

मेष

1513535400000

आत्‍मसंयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचें। धर्म-कर्म में रुचि बढे़गी। कार्यक्षेत्र में कठिनाइयां आ सकती हैं। परिश्रम की अधिकता रहेगी। (पं.राघवेंद्र शर्मा)



18 दिसंबर, 2017