DA Image
21 जनवरी, 2020|6:15|IST

अगली स्टोरी

वृश्चिक

20 जन॰ 2020

आत्‍मविश्वास से परिपूर्ण रहेंगे। सम्‍पत्‍ति का विस्तार हो सकता है। आत्‍मसंयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचने का प्रयास करें। भवन सुख में वृद्धि होगी। माता से धन प्राप्‍ति हो सकती है। परिवार में धार्मिक कार्य होंगे। माता से धन प्राप्‍ति हो सकती है। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

वृश्चिक

21 जन॰ 2020

आत्‍मविश्वास से लबरेज रहेंगे। लेकिन अति उत्‍साही होने से बचें। सम्‍पत्‍ति में निवेश करने के योग बन रहे हैं। संचित धन में कमी आ सकती है। लेखनादि-बौद्धिक कार्यों से धनार्जन के स्रोत विकसित हो सकते हैं। जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

वृश्चिक

22 जन॰ 2020

जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। भवन सुख का विस्तार होगा। परिवार में धार्मिक कार्य होंगे। भवन के सौंदर्यीकरण के कार्य हो सकते हैं। माता से धन प्राप्‍ति संभव है। कुटुम्‍ब के किसी बुजुर्ग से धन प्राप्‍ति के योग बन रहे हैं। संचित धन में वृद्धि होगी। (पं.राघवेंद्र शर्मा)

वृश्चिक

week4-2020

वृश्चिक :
आत्मविश्वास में वृद्धि होगी लेकिन क्रोध की भी अधिकता रहेगी। जीवन साथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। माता का र्सांनध्य व सहयोग मिलेगा। राजनैतिक महत्वाकांक्षा की पूर्ति होगी। शासन सत्ता सहयोग मिलेगा। नौकरी में तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे, भाइयों का सहयोग मिलेगा। नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं, साक्षात्कार आदि कार्यों के सुखद परिणाम मिलेंगे। उच्चपद प्राप्ति के योग बन रहे हैं, आय में वृद्धि होगी। (पं. राघवेंद्र शर्मा)

वृश्चिक

1 जन॰ 2020

आत्मविश्वास भरपूर रहेगा परंतु अतिउत्साहित होने से बचें। परिवार में आपसी मतभेद हो सकते हैं। 14 जनवरी के उपरांत कारोबार में वृद्धि हो सकती है। 15 जनवरी के बाद परिश्रम की अधिकता रहेगी। 25 जनवरी से आपकी राशि से साढ़े साती समाप्त हो रही है। कारोबार को गति मिलेगी, परंतु शिक्षा में व्यवधान भी आ सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

वृश्चिक

1 जन॰ 2020

बृश्चिक-(24 अक्टूबर-21 नवम्बर)।

वर्ष के प्रारम्भ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे, परन्तु धैर्यशीलता में कमी भी हो सकती है। जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। 25 जनवरी से आपकी राशि से शनि की साढ़े साती समाप्त हो रही है। कारोबार का विस्तार होगा। कोई नया कारोबार भी प्रारम्भ हो सकता है। यात्रा अधिक रहेगी। खर्चों में वृद्धि होगी। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं। सन्तान को कष्ट होगा। दैनिक जीवन अव्यवस्थित रहेगा। 30 मार्च से परिवार में खुशियां आएंगी। दाम्पत्य सुख में वृद्धि होगी। धार्मिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ेगी। आय में सुधार होगा। इस वर्ष वाहन सुख की प्राप्ति के योग भी बन रहे हैं। वस्त्रों आदि पर खर्च बढ़ेंगे। 12 मई से 30 सितम्बर का समय कठिनाई पूर्ण रहेगा। पारिवारिक समस्याएं पुनःपरेशान कर सकती हैं। चिन्ताएं बढ़ सकती हैं। 24 सितम्बर के बाद नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं।

उपाय-

1: शनिवार के दिन एक ब्राउन रंग का पानी वाला नारियल जटा के साथ शिवलिंग पर चढ़ाया करें।

2:बुधवार के दिन गाय को हरा चारा या हरी सब्जी खिलाया करें।

3:शुक्रवार के दिन सफेद कपड़े में चावल बांधकर दान किया करें। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)