DA Image
27 सितम्बर, 2020|8:55|IST

अगली स्टोरी

वृश्चिक

26 सित॰ 2020

स्वास्थ्‍य के प्रति सचेत रहें। परिवार की समस्याओं को अनदेखा न करें। खर्च अधिक रहेंगे। रहन-सहन अव्यवस्थित रहेगा। जीवनसाथी से नोंकझोंक हो सकती है। धार्मिक संगीत के प्रति रुझान बढ़ेगा। वाहन सुख में वृद्धि होगी। नकारात्मक विचारों से बचें।(पं.राघवेन्द्र शर्मा)

वृश्चिक

27 सित॰ 2020

मन अशान्त हो सकता है। नौकरी में तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे। कार्यक्षेत्र में अनुकूल स्थिति रहेंगी। स्वास्थ्य का ध्यान रखें। वाहन के रखरखाव पर खर्च बढ़ सकते हैं। धैर्यशीलता में कमी आ सकती है। धार्मिक कार्यों में रुचि बढ़ेगी। 
(पं.राघवेन्द्र शर्मा)

वृश्चिक

28 सित॰ 2020

कारोबार का विस्तार हो सकता है। लाभ के अवसर मिलेंगे। नौकरी में तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे। मान-सम्मान की प्राप्ति होगी। वाणी में सौम्यता रहेगी,परन्तु फिर भी क्रोध के अतिरेक से बचें। माता से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। 
(पं.राघवेन्द्र शर्मा)

वृश्चिक

week39-2020

वृश्चिक : (24 अक्तूबर-21 नवंबर)
वाणी में कठोरता के भाव रहेंगे, बातचीत में संयत रहें। वस्त्रों आदि के प्रति रूझान बढ़ेगा। माता से विचारों में मतभेद हो सकते हैं लेकिन धन प्राप्ती भी है। संचित धन में वृद्धि होगी, नौकरी में अफसरों का सहयोग मिलेगा। तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे। संचित धन में वृद्धि होने के योग बन रहे हैं। नौकरी में तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे, वाहन सुख में वृद्धि होगी। स्थान परिवर्तन संभव है।  (पं. राघवेंद्र शर्मा)

वृश्चिक

1 सित॰ 2020

मन में उतार चढ़ाव रहेंगे। 11 सितंबर से मन में नकारात्मकता का प्रभाव हो सकता है। 16 सितंबर से मानसिक तनाव हो सकता है। परंतु कारोबार में लाभ के अवसर मिल सकते हैं। धन की स्थिति में सुधार होगा। परंतु स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहें। 24 सितंबर के बाद नौकरी में परिवर्तन की संभावना बन रही है। जीवनसाथी के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

वृश्चिक

1 जन॰ 2020

बृश्चिक-(24 अक्टूबर-21 नवम्बर)।

वर्ष के प्रारम्भ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे, परन्तु धैर्यशीलता में कमी भी हो सकती है। जीवनसाथी से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। 25 जनवरी से आपकी राशि से शनि की साढ़े साती समाप्त हो रही है। कारोबार का विस्तार होगा। कोई नया कारोबार भी प्रारम्भ हो सकता है। यात्रा अधिक रहेगी। खर्चों में वृद्धि होगी। शैक्षिक कार्यों में व्यवधान आ सकते हैं। सन्तान को कष्ट होगा। दैनिक जीवन अव्यवस्थित रहेगा। 30 मार्च से परिवार में खुशियां आएंगी। दाम्पत्य सुख में वृद्धि होगी। धार्मिक कार्यों में व्यस्तता बढ़ेगी। आय में सुधार होगा। इस वर्ष वाहन सुख की प्राप्ति के योग भी बन रहे हैं। वस्त्रों आदि पर खर्च बढ़ेंगे। 12 मई से 30 सितम्बर का समय कठिनाई पूर्ण रहेगा। पारिवारिक समस्याएं पुनःपरेशान कर सकती हैं। चिन्ताएं बढ़ सकती हैं। 24 सितम्बर के बाद नौकरी में परिवर्तन के योग बन रहे हैं।

उपाय-

1: शनिवार के दिन एक ब्राउन रंग का पानी वाला नारियल जटा के साथ शिवलिंग पर चढ़ाया करें।

2:बुधवार के दिन गाय को हरा चारा या हरी सब्जी खिलाया करें।

3:शुक्रवार के दिन सफेद कपड़े में चावल बांधकर दान किया करें। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)