DA Image
8 मार्च, 2021|3:10|IST

अगली स्टोरी

सिंह

7 मार्च 2021

भौतिक सुखों में वृद्धि होगी। माता-पिता का साथ मिलेगा। वाहन के रख-रखाव पर खर्च बढ़ेंगे। परिवार की जिम्मेदारी बढ़ सकती है। माता-पिता का सहयोग मिलेगा। सन्तान को कष्ट रहेगा। नौकरी में बदलाव के संकेत मिल रहे हैं। कार्यक्षेत्र बढ़ सकता है। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)

सिंह

8 मार्च 2021

आत्मविश्वास भरपूर रहेगा। क्षणे रुष्टा-क्षणे तुष्टा के मनोभाव हो सकते हैं। नौकरी में तरक्की के मार्ग प्रशस्त होंगे। वाणी में कठोरता का प्रभाव रहेगा। बातचीत में सन्तुलित रहें। शैक्षिक एवं शोधादि कार्यों में सफल रहेंगे। मान-सम्मान बढ़ेगा। (पं.राघवेन्द्र शर्मा)

सिंह

9 मार्च 2021

मन में उतार-चढ़ाव रहेंगे। किसी राजनेता से भेंट हो सकती है। घर-परिवार में धार्म‍िक कार्य होंगे। खर्चों की अधिकता रहेगी। धैर्यशीलता में कमी रहेगी। माता से वैचारिक मतभेद हो सकते हैं। परिवार के साथ यात्रा पर जा सकते हैं। तनाव से बचें।(पं.राघवेन्द्र शर्मा)

सिंह

week11-2021

Not found

सिंह

1 मार्च 2021

मास के प्रारंभ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे। परंतु 15 मार्च से आत्मविश्वास में कमी रहेगी। संयत रहें। क्रोध के अतिरेक से बचें। 12 मार्च से आय की स्थिति में सुधार होगा। कारोबार में लाभ के अवसर मिलेंगे। 17 मार्च के बाद पिता के स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कार्यक्षेत्र में भी व्यवधान आ सकते हैं। (पंडित राघवेंद्र शर्मा)

सिंह

1 जन॰ 2021

सिंह-24 जुलाई-22 अगस्त)
वर्ष के प्रारंभ में आत्मविश्वास से लबरेज रहेंगे, परंतु धैर्यशीलता में कमी रहेगी। किसी पैतृक संपत्ति की प्राप्ति हो सकती है। पांच अप्रैल तक शैक्षिक कार्यों में व्यवधान रहेंगे, तदुपरांत शैक्षिक कार्यों में सफलता मिलेगी। 14 अप्रैल के बाद किसी संपत्ति से धन लाभ के योग बन रहे हैं। 24 मई के बाद नौकरी में स्थान परिवर्तन की भी संभावना बन रही है। वाहन सुख में वृद्धि हो सकती है। कारोबार में वृद्धि होगी। लाभ के अवसर मिलेंगे। भाई-बहनों का साथ भी मिल सकता है। 15 सितंबर के बाद किसी मित्र के सहयोग से धन प्राप्ति के योग बन रहे हैं। 21 नवंबर के उपरांत नौकरी में कोई अतिरिक्त जिम्मेदारी मिल सकती है। आय में वृद्धि होगी। संतान की ओर से सुखद समाचार मिल सकते हैं।
उपाय-
1. प्रत्येक बुधवार के दिन गणेश स्त्रोत्र का पाठ करें। गाय को हरा चारा या हरी सब्जी खिलाया करें।
2. प्रत्येक बृहस्पतिवार के दिन लोटे में जल भरकर उसमें आधी चम्मच हल्दी, नौ दाने चने की दाल तथा थोड़ी सी चीनी डालकर केले के पेड़ पर चढ़ाया करें।
3. नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करें।