If This line will be in hand than you do trade cross the sea - हाथ में हो यह रेखा तो समुद्र पार करेंगे व्‍यापार DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

हाथ में हो यह रेखा तो समुद्र पार करेंगे व्‍यापार

हाथ की रेखाओं के मिलने से कई तरह के योग भी बनते हैं। यह योग व्‍यक्‍ति के जीवन को प्रभावित करते हैं। रेखाओं के मिलन से बने ये योग कई बार व्‍यक्‍ति को देश-दुनिया में चमका देते हैं। आचार्य दिनेश भारद्वाज के अनुसार यदि दोनों हाथों में भाग्य रेखा मणिबंध से प्रारंभ होकर सीधी शनि पर्वत पर जाए और सूर्य पर्वत पूर्ण विकसित तथा लालिमा लिए हुए हो, साथ ही उस पर सूर्य रेखा भी बिना कटी-फटी, पतली और स्पष्ट हो, मस्तिष्क रेखा, हृदय रेखा तथा आयु रेखा स्पष्ट हो तो इन स्‍थितियों में गजलक्ष्मी योग बनता है। हाथ में बना यह योग बेहद शुभ माना जाता है। आचार्य दिनेश भारद्वाज के अनुसार जिस व्यक्ति के हाथ में यह योग होता है वह साधारण परिवार में जन्म लेकर भी अपने शुभ कर्मों से उच्च स्तरीय जीवनयापन करता है। ऐसे व्‍यक्‍ति की जिंगदी में सम्‍मान की कोई कमी नहीं होती और वह सारे सुख-सुविधाएं, ऐश्यर्व, सुख भोगता है। ऐसे व्यक्ति समुद्र पार व्यापार करते हैं और यदि नौकरीपेशा है तो उच्च पदों पर आसानी से पहुंच जाते हैं। इन्‍हें जीवन में कोई अभाव नहीं रहता। इन्‍हें सुंदर जीवनसाथी का साथ मिलता है।

यदि हथेली के बीच का हिस्सा दबा हुआ गहरा हो, सूर्य और गुरु पर्वत पुष्ट, मजबूत और उभरे हुए हो, भाग्य रेखा शनि पर्वत के मूल को छूती हो तो हाथ में बना यह योग शुभकर्तरी कहलाता है। इस योग वाले व्‍यक्‍ति तेजस्वी और चुंबकीय व्यक्तित्व वाले होते हैं। उसके आसपास ऐश्वर्य और भौतिक सुख सुविधाएं चली आती हैं। इन लोगों को एक से अधिक साधनों से आय प्राप्त होती है। ये अपने पूर्वजों से मिली संपत्ति को बढ़ाने वाले होते हैं। शारीरिक दृष्टि से ऐसा व्यक्ति आकर्षक होता है। विपरीत लिंगी व्यक्तियों की इनके जीवन में भरमार होती है।

((इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं तथा इन्हें अपनाने से अपेक्षित परिणाम मिलेगा। जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।)

जिंदगी के बारे में बहुत कुछ बताती हैं ये तीन रेखाएं

 

 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:If This line will be in hand than you do trade cross the sea