Hindi Newsधर्म न्यूज़Mesh rashi strength and weakness

Mesh rashi: मेष राशि वालों की सबसे बड़ी कमजोरी क्या है? होती हैं ये खूबियां

  • Mesh rashi strength and weakness: राशिचक्र की पहली राशि मेष है। आज हम आपको बता रहे हैं मेष राशि के जातकों की खूबियां व क्या होती है कमजोरी-

Saumya Tiwari नई दिल्ली, एजेंसी/लाइव हिन्दुस्तान टीम, नई दिल्लीFri, 21 June 2024 12:03 AM
हमें फॉलो करें

ज्योतिष शास्त्र में कुल 12 राशियों का वर्णन है। राशिचक्र की पहली राशि है मेष। मेष राशि के जातकों में जहां कई खूबियां होती हैं, वहीं कुछ कमजोरी भी होती हैं। ज्योतिष शास्त्र कहता है कि मेष राशि के जातक बहुत ही पॉजिटिव स्वभाव के होते हैं। अपने सकारात्मक नेचर के कारण ये लोग किसी भी चुनौती को आसानी से पार कर लेते हैं। यह कड़ी मेहनत करना जानते हैं और अपने स्मार्ट फैसलों की वजह से लाभ भी प्राप्त करते है।

उत्साह और ऊर्जावान- ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, मेष राशि के जातक उत्साही और एनर्जी से भरपूर होते हैं। यह हर काम को कड़ी मेहनत व पूरे दिल से करते हैं। उनकी यही खूबी उन्हें सफलता की चोटी पर ले जाती है। मेष राशि वालों के बारे में कहा जाता है कि उनका आत्मविश्वास ही सबसे बड़ी खूबी होता है।

आत्मनिर्भर व मुखर होते हैं- मेष राशि के जातक व्यक्तित्व के आत्मनिर्भर व मुखर होते हैं। यह दयालु व उदार स्वभाव के होते हैं। जब किसी के मदद की बात आती है तो वह मना नहीं कर पाते हैं। यह रिश्तों को पूरे दिल से निभाते हैं। यह सच्चे व वफादार होते हैं।

मेष राशि वालों की सबसे बड़ी कमजोरी- यूं तो मेष राशि के जातक बहुत ही साहसी और ऊर्जावान होते हैं। लेकिन इन जातकों में कुछ कमजोरियां भी होती हैं, जो उन्हें जीवन में चुनौतियों का सामना करने के लिए मजबूर करती हैं। कहते हैं कि मेष राशि के जातक बहुत ही अधीर स्वभाव के होते हैं। ये लोग जल्दी परिणाम चाहते हैं। अक्सर यह लोग बिना पूरी जानकारी लिए ही फैसले ले लेते हैं, जो बाद में इनके लिए परेशानी का सबब बनते हैं।

मेष राशि के स्वामी ग्रह- मेष राशि के स्वामी ग्रह मंगल हैं। वैदिक ज्योतिष में मंगल ग्रह को भूमि, साहस, वीरता और रक्त का कारक माना जाता है।

इस आलेख में दी गई जानकारियों पर हम यह दावा नहीं करते कि ये पूर्णतया सत्य एवं सटीक हैं। इन्हें अपनाने से पहले संबंधित क्षेत्र के विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

मई 2025 से इन राशियों पर पड़ेगी राहु-केतु की शुभ दृष्टि, पूरे होंगे सभी सपने

जुलाई में चंद्रमा की राशि में आएंगे शुक्र, इन 5 राशियों का शुरू होगा गोल्डन समय

ऐप पर पढ़ें