class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्र: सभी को अपना काम ईमानदारी से करना चाहिए

सक्सेस मंत्र: सभी को अपना काम ईमानदारी से करना चाहिए

एक गांव में एक किसान रहता था जो दूध से दही का काम करता था। दूध दही से वो खोया बनाकर बाजार में बेचता था। खोए को वह एक-एक किलो के पेढ़ों में ढ़ालकर बेचता था। एक बार घर से एक-एक किलों के कई खोए के पेढ़े रख वो बाजार में बेचने गया। 

बाजार में एक दुकानदार को उसने पेढ़ें बेच दिए और उससे बदले में चाय, चीनी, तेल और दूसरा जरूरत का सामान खरीद लिया। इसके बाद अपने गांव को चला गया। इसके बाद दुकानदार ने खोए का वजन करने की सोची। जैसे ही उसने खोए के पेढ़े का वजन किया तो पाया कि हर पेढ़े का वजन 900 ग्राम था। इस पर दुकानदार को बहुत गुस्सा आया। 

और भी प्रेरक प्रसंग पढ़ने के लिए क्लिक करें

अगली बार जब किसान पेढ़े बेचने आया तो दुकानदार ने किसान को बहुत खरीखोटी सुनाई। उसने किसान को बताया कि सभी पेढ़ों का वजन एक किलो की बजाय 900 ग्राम था। इस पर किसान ने बड़े ही विनम्र भाव से कहा कि आपको शायद कोई गलतफहमी हो रही है। 

दुकानदार बोला, मैंने अच्छे से तौला है हर पेढ़ें का वजन 900 ग्राम है। इस पर किसान ने जवाब दिया कि महाराज मैं बहुत गरीब हूं। वजन तौलने के लिए मेरे पास कोई तराजू नहीं है। इसलिए आप जो एक किलो चीनी मुझे देते हैं बस उसी से मैं पेढ़े का वजन तय करता हूं। दुकानदार इस बात से बहुत शर्मींदा हुआ। इसलिए हम सभी को अपना काम इमानदारी से करना चाहिए।

-सोशल मीडिया से

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:motivational story of honesty in life
बिना सोचे समझे कभी कोई काम नहीं करना चाहिएसक्सेस मंत्र: मन की शांति से निकलेगा हर समस्या का हल