DA Image

अगली स्टोरी

class="fa fa-bell">ब्रेकिंग:

सक्सेस मंत्र : जीवन का संघर्ष ही तय करता है कि आप कहां पहुंचेंगे

success mantra

एक बार एक नौजवान ने अपने पिता से शिकायत की उसकी जिंदगी समस्याओं से भरी है। उसे पता नहीं है कि इन मुश्किलों का वह कैसे सामना करे। वह हर समय समस्याओं से निजात पाने कोशिश करता है, लेकिन अब बहुत हो चुका, वह इन बससे तंग आ चुका है। ऐसा लगता है कि एक समस्या खत्म नहीं हो पाती कि दूसरी आ जाती है।

इस पर लड़के के पिता ने जोकि पेशे से एक शेफ था उसे अपनी रसोई में ले गया। पिता ने तीन बर्तन उठाए और उनमें पानी भरकर तेज आंच में उबलने के लिए रख दिया। एक बर्तन में उसने कुछ अंडे डाले, दूसरे में कुछ आलू और तीसरे में कॉफी के बीन्स डाल दिए। अब अपने बेटा से बिना कुछ बोले हुए 20 मिनट के लिए किचन में ही बैठ गया। यह देखकर बेटा खामोश रहा और पिता के अगले कदम का इंतजार करने लगा। इधर 20 मिनट होते ही पिता ने स्टोव ऑफ कर दिया। पिता ने अब उबल चुके आलू और अंडों को बाहर निकालकर प्लेट पर रखा। कप पर कॉफी डाली और बेटे से पूछा, 'बेटा, तुम्हें क्या दिखता है?'

बेटे ने फौरन जवाब दिया- आलू, अंडे और कॉफी।

पिता ने कहा इन्हें पास से छूकर देखो। लड़के ध्यान दिया कि आलू, अंडे तो पक चुके हैं। अब यह खाने लायक हो गए हैं। इसके बात पिता ने बेटे को कॉफी का कप दिया और टेस्ट करने के लिए कहा। कॉफी की एक शिप पीते ही बेटे के चेहरे पर मुस्कान आ गई। अब बेटे ने पूछा, "पिता जी, आपके यह सब करने का क्या मतलब हुआ?"

पिता ने जवाब दिया, "आलू, अंडे और कॉफी तीनों में अलग टेस्ट और गुण हैं। लेकिन तीनों को कुछ देर तक उबलते हुए पानी को सहन करना पड़ा। लेकिन उबलने के बाद तीनों का स्वाद और गुण अलग-अगल बाहर आया।" पिता ने बेटे से कहा कि इसी प्रकार अब आप को तय करना है कि आप क्या बनना चाहेंगे.. आलू या कॉफी.?

जब मुश्किल आपके दरवाजे पर दस्तक देती है तो यह आप पर निर्भर है कि आप इसे किस प्रकार से संभालते हैं और प्रतिक्रिया देते हैं। यह आप पर निर्भर है कि आपको अंडा बनना है या कॉफी। मतलब आप जिस तरह से मुश्किलों को हैंडल करते हैं उससे आपका भविष्य तय होता है। 

  • Hindi Newsसे जुडी अन्य ख़बरों की जानकारी के लिए हमें पर ज्वाइन करें और पर फॉलो करें
  • Web Title:read how the struggles of your life makes your future