फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विधानसभा चुनाव उत्तराखंड चुनाव 2022उत्तराखंड में इस विधानसभा क्षेत्र का एक-एक मतदान केंद्र उलटफेर को काफी 

उत्तराखंड में इस विधानसभा क्षेत्र का एक-एक मतदान केंद्र उलटफेर को काफी 

उत्तराखंड में हल्द्वानी व कालाढूंगी विधान सभा क्षेत्र में एक-एक मतदान केन्द्र चुनावों में उलटफेर कर सकते हैं। वोटरों की संख्या बहुत अधिक होने के कारण इन मतदान केन्द्रों में यदि किसी एक प्रत्याशी...

उत्तराखंड में इस विधानसभा क्षेत्र का एक-एक मतदान केंद्र उलटफेर को काफी 
Himanshu Kumar Lallहल्द्वानी | जहांगीर राजूMon, 17 Jan 2022 02:52 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/

उत्तराखंड में हल्द्वानी व कालाढूंगी विधान सभा क्षेत्र में एक-एक मतदान केन्द्र चुनावों में उलटफेर कर सकते हैं। वोटरों की संख्या बहुत अधिक होने के कारण इन मतदान केन्द्रों में यदि किसी एक प्रत्याशी के पक्ष में मतदान होता है तो यह स्थिति पूरे चुनाव में उलटफेर करने के लिए काफी है। हल्द्वानी के विधान सभा के जीआईसी वनभूलपुरा बूथ में 7444 वोटर हैं। जबकि कालाढूंगी के आईटीआई मुखानी मतदान केन्द्र में 5856 मतदाता हैं।

जिले की दोनों विधान सभा सीटों के सबसे अधिक वोटरों वाले मतदान केन्द्रों का आंकलन किया जाए तो हल्द्वानी व कालाढूंगी विधान सभा के 5 मतदान केंद्र सबसे आगे हैं। हल्द्वानी विधान सभा के राजकीय इंटर कालेज वनभूलपुरा इन्द्रा नगर मतदान केन्द्र में 8 बूथ बनाए गए हैं। जीजीआईसी वनभूलपुरा मतदान केन्द्र दूसरे स्थान पर है। यहां 6571 वोटर हैं। यहां 7 बूथ बनाए गए हैं। तीसरे स्थान पर एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी केंद्र पर 5922 वोटर हैं।

चौथे स्थान पर कालाढूंगी विधान सभा सीट का आईटीआई मुखानी का मतदान केन्द्र है। इस केन्द्र में 5856 वोटर हैं। पांचवें स्थान पर भी कालाढूंगी का सिंथिया स्कूल छोटी मुखानी मतदान केन्द्र है। इसमें 5292 वोटर हैं। पिछले चुनावों को अगर देखा जाए तो हल्द्वानी विधान सभा में प्रत्याशियों के बीच कड़ा मुकाबला होते आया है। कालाढूंगी विधान सभा में भी इस बार प्रत्याशियों के बीच कांटे के मुकाबले की उम्मीद है। 

इन मतदान केन्द्रों में हैं सबसे ज्यादा वोटर
-जीआईसी वनभूलपुरा इन्द्रानगर     -7444
-बालिका इंटर कालेज वनभूलपुरा     - 6571
-एमबीपीजी कालेज हल्द्वानी     - 5922
-आईटीआई मानपुर पश्चिम मुखानी     - 5856
-सिंथिया स्कूल छोटी मुखानी    - 5292

बड़े मतदान केन्द्रों में वोटिंग चुनौतीपूर्ण
जिले के इन पांच सबसे बड़े मतदान केन्द्रों में कोविड प्रोटोकाल के तहत वोटिंग कराना जिला प्रशासन के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है। चुनाव आयोग ने इस बार वोटिंग का समय एक घंटा बढ़ाया है। लेकिन अधिक वोटरों के बीच कोविड प्रोटोकाल के तहत वोटिंग कराना प्रशासन के लिए किसी चुनौती से कम नहीं होगा।

प्रशासन ने शांतिपूर्ण मतदान संपन्न कराने के लिए बड़े मतदान केन्द्रों पर विशेष व्यवस्था की है। सभी मतदान केन्द्रों में कोविड प्रोटोकाल के तहत मतदान संपन्न कराया जाएगा। जिसके लिए प्रशासन युद्ध स्तर पर तैयारी पूरी करने में जुटा हुआ है। 
धीराज सिंह गब्र्याल, जिला निर्वाचन अधिकारी

epaper