फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विधानसभा चुनाव उत्तर प्रदेश चुनाव 2022योगी सरकार इन्हें इसलिए देगी सब्सिडी, ट्रेनिंग और बैंक लोन की भी सुविधा 

योगी सरकार इन्हें इसलिए देगी सब्सिडी, ट्रेनिंग और बैंक लोन की भी सुविधा 

यूपी की योगी सरकार अनुसूचित जाति जनजाति के हथकरघा व पावरलूम बुनकरों के आर्थिक और सामाजिक जीवन स्तर को सुधारने के लिए तीन चरणों में सब्सिडी देगी। 

योगी सरकार इन्हें इसलिए देगी सब्सिडी, ट्रेनिंग और बैंक लोन की भी सुविधा 
uttar-pradesh-cm-yogi-adityanath-said-the-governme jpg
Deep Pandeyहिन्दुस्तान,लखनऊMon, 23 Jan 2023 06:26 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक उच्च स्तरीय बैठक में रविवार को अनुसूचित जाति जनजाति के हथकरघा व पावरलूम बुनकरों के आर्थिक और सामाजिक जीवन स्तर को सुधारने के लिए तीन चरणों में सब्सिडी देने समेत मानकों पर मुहर लगा दी है।  सरकार बुनकरों को तकनीकी प्रशिक्षण से लेकर कार्यशाला के निर्माण और आधुनिक हथकरघा इकाई की स्थापना के लिए सब्सिडी देगी।  बुनकरों को बैंक से लोन दिलवाने में भी मदद करेगी।

व्यवसाय शुरू करने के लिए खुद की जमीन होना जरूरी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बैठक में अधिकारियों को झलकारी बाई कोरी हथकरघा एवं पावरलूम विकास योजना में सुधार करते हुए सब्सिडी का लाभ देने का आदेश दिया है। योजना के तहत योगी सरकार 80 प्रतिशत अनुदान देगी, जबकि आधुनिक पावरलूम की स्थापना पर 60 प्रतिशत सब्सिडी दी जाएगी। योजना का लाभ लेने के लिए लाभार्थी के पास जिलाधिकारी या तहसीलदार का अनुसूचित जाति का प्रमाण पत्र होना चाहिए। वहीं लाभार्थी की उम्र कम से कम 18 वर्ष होनी चाहिए। वह बुनाई के कार्य में निपुण हो या फिर उसका प्रशिक्षण लिया हो। साथ ही आधुनिक हथकरघा इकाई की स्थापना के लिए उसके पास खुद की जमीन होनी भी जरूरी है। 

दो हैंडलूम पिटलूम की खरीद पर योगी सरकार देगी सब्सिडी 
योजना का लाभ देने के लिए इसे तीन भागों में बांटा गया है। पहला आधुनिक पावरलूम तकनीक प्रशिक्षण कार्यक्रम, दूसरा उन्नत किस्म के हथकरघा एवं पावरलूम की स्थापना, जिसमें हथकरघा फ्रेम अथवा पिटलूम, नवीन, सेमी और आटोमेटिक पावरलूम शामिल हैं। वहीं तीसरे भाग में हथकरघा अथवा पावरलूम कार्यशाला का निर्माण है। इसी के तहत लाभार्थी को सब्सिडी का लाभ भी दिया जाएगा। इसके तहत हैंडलूम (पिटलूम) की अधिकतम दो खरीद पर सरकार प्रति पिटलूम पर 80 प्रतिशत सब्सिडी देगी। बता दें कि वर्तमान में एक पिटलूम की कीमत 50 हजार रुपये है।  ऐसे में लाभार्थी को इसे खरीदने में केवल दस हजार रुपये ही खर्च करने होंगे। इसी तरह फ्रेम लूम या पिटलूम (जैकार्ड उपकरण के साथ) की दो खरीद पर योगी सरकार 75 प्रतिशत या 60 हजार रुपये सब्सिडी देगी। वर्तमान में इसकी कीमत 80 हजार रुपये है। 

लाभार्थी को लोन भी उपलब्ध कराएगी योगी सरकार 
बैठक में निर्णय लिया गया कि नवीन पावरलूम की दो खरीद पर योगी सरकार प्रति नवीन पावरलूम पर 60 प्रतिशत या अधिकतम डेढ़ लाभ रुपये सब्सिडी देगी। मालूम हो कि एक नीवन पावरलूम की कीमत ढाई लाख रुपये है। ऐसे में लाभार्थी को एक लाख रुपये का अंश खुद देना होगा। इसमें भी योगी सरकार लाभार्थी को बैंक से 50 हजार रुपये का लोन उपलब्ध कराएगी। सेमी आटोमेटिक पावरलूम अधिकतम दो की खरीद पर प्रति आटोमेटिक पावरलूम पर 60 प्रतिशत या अधिकतम एक लाख 80 हजार सब्सिडी दी जाएगी। वर्तमान में एक सेमी आटोमेटिक पावरलूम की कीमत करीब तीन लाख रुपये है।
 ऐसे में लाभार्थी को 60 हजार रुपये का अंशदान देना होगा जबकि योगी सरकार लाभार्थी को बैंक से 60 हजार का लोन उपलब्ध कराएगी। इसी तरह एक आटोमेटिक पावरलूम ( शटरलेस / रैपियर लूम) की खरीद पर 60 प्रतिशत या अधिकतम तीन लाख रुपये की सब्सिडी दी जाएगी। ऐसे में लाभार्थी को एक लाख रुपये का अंशदान देना होगा जबकि सरकार एक लाख रुपये का लोन दिलवाएगी। वहीं कार्यशाला के निर्माण के लिए हथकरघा बुनकर को 80 हजार तथा पावरलूम बुनकर को नवीन और आटोमटिक मशीन के लिए क्रमश: डेढ़ लाख और एक लाख रुपये की सब्सिडी देगी।