फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विधानसभा चुनाव गुजरात चुनाव 2022राहुल और सोनिया गांधी गुजरात से दूर, सर्वे ने बताया कांग्रेस पर क्या होगा असर?

राहुल और सोनिया गांधी गुजरात से दूर, सर्वे ने बताया कांग्रेस पर क्या होगा असर?

कांग्रेस के बड़े नेता जहां गुजरात से दूर हैं, वहीं राज्य में कांग्रेस के मौजूदा विधायक और स्थानीय नेता गांव-गांव जाकर लोगों से मिल रहे हैं और रैली और सभाओं के जरिए जनता को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं।

राहुल और सोनिया गांधी गुजरात से दूर, सर्वे ने बताया कांग्रेस पर क्या होगा असर?
former congress president sonia gandhi with party mp rahul gandhi
Praveen Sharmaनई दिल्ली | लाइव हिन्दुस्तानSat, 05 Nov 2022 10:34 AM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

गुजरात में विधानसभा चुनावों की तारीख का ऐलान होने के साथ ही नई सरकार बनने का काउंट डाउन शुरू हो गया है। चुनावों को लेकर भारतीय जनता पार्टी और आम आदमी पार्टी जहां जोर-शोर से अपनी तैयारियों में लगी हुई हैं। वहीं, कांग्रेस नेताओं राहुल और सोनिया गांधी ने अब भी गुजरात से दूरी बना रखी है। चुनाव पूर्व एक सर्वे के जरिए यह जानने की कोशिश करते हैं कि कांग्रेस पर इसका कैसा और कितना असर होगा?

182 सीटों वाली गुजरात विधानसभा के लिए दो चरणों में वोटिंग होगी। पहले चरण में 89 सीटों पर 01 दिसंबर को मतदान होगा तथा शेष 93 सीटों पर 05 दिसंबर को वोट डाले जाएंगे। वहीं, मतगणना 08 दिसंबर को होगी।

चुनाव से पहले जनता का मूड भांपने के लिए सी-वोटर ने गुजरात में सबसे ताजा सर्वे किया है। अक्टूबर के महीने में किए गए इस सर्वे में 22 हजार 807 लोगों ने हिस्सा लिया था।

ये भी पढ़ें : गुजरात में AAP कराएगी भाजपा का फायदा? 2 ओपिनियन पोल का एक जैसा दावा

एबीपी न्यूज सी-वोटर के इस सर्वे में जब गुजरात की जनता से जब यह सवाल पूछा गया किस पार्टी की सरकार बनेगी? इसके जवाब में 56 फीसदी जनता ने भाजपा, 17 फीसदी लोगों ने कांग्रेस और 20 फीसदी लोगों ने आम आदमी पार्टी (आप) की जीत की उम्मीद जताई है।

'आप' की एंट्री से गुजरात में त्रिकोणीय हुआ मुकाबला

बता दें कि, गुजरात में पिछले 6 चुनावों से कांग्रेस विपक्ष में बनी है। सत्ता पाने के लिए लगातार संघर्ष कर रही कांग्रेस के लिए इस बार के चुनाव में चुनौती और अधिक बढ़ गई है, क्योंकि भाजपा से सत्ता छीनने को 'आप' यहां पूरी ताकत झोंके हुए है। 'आप' की एंट्री से गुजरात में मुकाबला त्रिकोणीय हो गया है।

कांग्रेस के सभी बड़े नेता जहां गुजरात से दूरी बनाए हुए हैं, वहीं राज्य में कांग्रेस के मौजूदा विधायक और स्थानीय नेता गांव-गांव जाकर लोगों से मिल रहे हैं और नुक्कड़ सभाओं के माध्यम से जनता को लुभाने की कोशिश कर रहे हैं।