फोटो गैलरी

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

हिंदी न्यूज़ विधानसभा चुनाव गोवा चुनाव 2022गोवा विधानसभा चुनाव: 26 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज

गोवा विधानसभा चुनाव: 26 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज

गोवा विधानसभा चुनाव लड़ रहे कम से कम 26 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं और आठ प्रतिशत के खिलाफ गंभीर अपराधों के लिए मामले दर्ज हैं। 'गोवा इलेक्शन वाच' और 'एसोसिएशन ऑफ...

गोवा विधानसभा चुनाव: 26 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज
Ashutosh Rayएजेंसी,पणजीTue, 08 Feb 2022 04:47 PM

इस खबर को सुनें

0:00
/
ऐप पर पढ़ें

गोवा विधानसभा चुनाव लड़ रहे कम से कम 26 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं और आठ प्रतिशत के खिलाफ गंभीर अपराधों के लिए मामले दर्ज हैं। 'गोवा इलेक्शन वाच' और 'एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स' (एडीआर) की रिपोर्ट में मंगलवार को यह खुलासा किया गया। रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसे उम्मीदवारों की संख्या कांग्रेस में सर्वाधिक है, जिनके खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसके बाद, महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का नंबर आता है।

'गोवा इलेक्शन वाच' और 'एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स' (एडीआर) की एक मंगलवार को जारी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई। कुल 301 उम्मीदवारों में से 26 प्रतिशत उम्मीदवारों (77) ने अपने शपथपत्रों में घोषणा की है कि उनके खिलाफ विभिन्न अदालतों में मामले लंबित हैं, जिनमें से आठ प्रतिशत लोग गंभीर आपराधिक मामलों का सामना कर रहे हैं। कांग्रेस के कम से कम 35 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। इसके बाद एमजीपी के 23 प्रतिशत, भाजपा के 18 प्रतिशत, राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और तृणमूल कांग्रेस के 15-15 प्रतिशत और आम आदमी पार्टी (आप) के 10 प्रतिशत उम्मीदवारों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं।

चुनाव पर निगरानी रखने वाली संस्था ने कहा कि 12 उम्मीदवारों ने घोषणा की है कि उनके विरुद्ध महिलाओं के खिलाफ अपराध के मामले दर्ज हैं, जिनमें से एक बलात्कार से जुड़ा मामला है। आठ उम्मीदवारों के खिलाफ हत्या की कोशिश के मामले दर्ज हैं। गोवा में 14 फरवरी को होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए कुल 301 उम्मीदवार मैदान में हैं, जिनमें से 116 राष्ट्रीय दलों के, 104 क्षेत्रीय दलों के, 13 गैर-मान्यता प्राप्त दलों के और 68 निर्दलीय उम्मीदवार हैं। 

उम्मीदवारों की ओर दाखिल शपथपत्रों के अनुसार, 187 उम्मीदवार (62 प्रतिशत) करोड़पति हैं। एडीआर ने बताया कि कम से कम 31 फीसदी उम्मीदवारों के पास पांच करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है, 16 प्रतिशत उम्मीदवारों के पास दो करोड़ से पांच करोड़ रुपये तक, 20 फीसदी उम्मीदवारों के पास 10 लाख से 50 लाख रुपये के बीच और 11 फीसदी उम्मीदवारों के पास 10 लाख रुपये से कम की संपत्ति है।

रिपोर्ट के अनुसार, भाजपा के 95 फीसदी उम्मीदवार करोड़पति हैं। इसके बाद कांग्रेस के 87 फीसदी, एमजीपी के 69 फीसदी, तृणमूल के 65 फीसदी, जीएफपी (गोवा फॉरवर्ड पार्टी) के 67 फीसदी, आप के 62 फीसदी और राकांपा के 62 प्रतिशत उम्मीदवार करोड़पति हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि कांग्रेस के माइकल लोबो (कलंगुट) और उनकी पत्नी डेलिला(सियोलिम) सबसे अमीर उम्मीदवार हैं, जिनके पास 92 करोड़ रुपए की संपत्ति है। इसके बाद बिचोलिम से निर्दलीय उम्मीदवार डॉ. चंद्रकांत शेटे के पास 59 करोड़ रुपये की संपत्ति है।

epaper