DA Image
23 अक्तूबर, 2020|3:11|IST

अगली स्टोरी

पालीगंज विधानसभा सीट: वर्तमान विधायक के पाला बदलने से JDU और BJP में फंसेगा पेच

madhya pradesh by election  file pic

एक दशक पहले तक नक्सलियों का गढ़ रहे पालीगंज में सियासी तापमान बढ़ गया है। अनुमंडल मुख्यालय समेत दुल्हिन बाजार प्रखंड क्षेत्र को समेटे पालीगंज विधानसभा सीट इस बार हॉट सीट में तब्दील हो गई है।

पिछले चुनाव में इस सीट पर राजद के उम्मीदवार जयवर्द्धन यादव उर्फ बच्चा बाबू ने भाजपा के उम्मीदवार रामजनम शर्मा को हराकर जीत दर्ज की थी। लेकिन 2020 में इस विधानसभा की फिजा बदली-बदली सी नजर आ रही है। कुछ दिन पूर्व राजद के विधायक जयवर्द्धन यादव जदयू में शामिल हो गए। ऐसे में इस सीट के लिए एनडीए में खींचतान संभव है।

आंकड़ों पर नजर डालें तो 1996 और 2010 में इस सीट पर भाजपा ने कब्जा जमाया था। वहीं, 2000 और 2015 में यह सीट राजद के खाते में आ गयी।

पालीगंज विधानसभा का गठन 1952 में हुआ था और यहां के पहले विधायक चुने गए थे कांग्रेस के रामलखन सिंह यादव। विधानसभा चुनाव 2020 में जदयू व भाजपा के बीच मामला फंस सकता है। भाजपा यह सीट छोड़ना नहीं चाहती, वहीं राजद से जदयू में आए जयवर्द्धन यादव को लेकर पार्टी वर्तमान विधायक होने का हवाला देते हुए दावेदारी पेश कर रही है।

वर्तमान परिदृश्य में पालीगंज विधानसभा क्षेत्र में राजद से कई क्षत्रपों की दौड़ शुरू हो गई है। यही नहीं इस सीट के लिए कुशवाहा प्रत्याशी भी एड़ी चोटी एक किए हुए हैं। गौरतलब है कि 1952 से लेकर 2015 तक हुए 18 विधानसभा चुनावों व उप चुनाव में सात बार यादव, सात बार कुशवाहा व चार बार भूमिहार जाति के उम्मीदवारों ने कब्जा जमाया है।  

महागठबंधन के प्रत्याशी पर है नजर
राजद विधायक के जदयू में शामिल होने के बाद से पालीगंज सीट पर राजद से टिकट के लिए संभावित प्रत्याशियों की दावेदारी बढ़ गई है। बदले हालात में देखा जाए तो राजद से काफी दूरी बनाने वाले भी टिकट के लिए लाइन में खड़े हैं। वहीं, भाकपा माले भी इस सीट पर प्रबल दावेदारी पेश कर रही है।

2015 के चुनाव में भाजपा दूसरे नंबर पर थी
1996 व 2010 में भाजपा ने पालीगंज विधानसभा सीट पर परचम लहराया था। 2015 के विधानसभा चुनाव में यहां से 14 प्रत्याशी मैदान में थे। इसमें राजद के जयवर्द्धन यादव ने भाजपा प्रत्याशी रामजनम शर्मा को 24,453 मतों से परास्त किया था। उन्हें 65,932 वोट मिले थे। वहीं, भाकपा माले के अनवर हुसैन को 19338 मत प्राप्त हुए थे।  

कब कौन-कौन जीता

वर्ष विधायक पार्टी
1952 रामलखन सिंह यादव, कांग्रेस
1957 चंद्रदेव प्रसाद वर्मा, सोशलिस्ट पार्टी
1962 रामलखन सिंह यादव, कांग्रेस
1967 चंद्रदेव प्रसाद वर्मा, सोशलिस्ट पार्टी
1969 चंद्रदेव प्रसाद वर्मा, सोशलिस्ट पार्टी
1972 कन्हाई सिंह संगठन, कांग्रेस
1977 कन्हाई सिंह, निर्दलीय
1980 रामलखन सिंह यादव, कांग्रेस
1985 रामलखन सिंह यादव, कांग्रेस
1990 रामलखन सिंह यादव, कांग्रेस
1991 चंद्रदेव प्रसाद वर्मा, जनता दल
1995 चंद्रदेव प्रसाद वर्मा, जनता दल
1996 जनार्दन शर्मा, भाजपा
2000 दीनानाथ सिंह यादव, राजद
2005(फरवरी) नंद कुमार नंदा, भाकपा माले
2005(अक्टूबर) नंद कुमार नंदा, भाकपा माले
2010 डॉ. उषा विद्यार्थी, भाजपा
2015 जयवर्द्धन यादव, राजद

कुल मतदाता- 279397
पुरूष मतदाता- 144536
महिला मतदाता- 134855
थर्ड जेंडर मतदाता- 06
कुल बूथ- 407

प्रत्यशियों को जूझना होगा इन सवालों से :
1. नहरों में समय से पानी नहीं मिलता है, सरकारी नलकूप ठप
2. अतिक्रमण रहने के कारण बाजार में हमेशा जाम की स्थिति रहती है
3. पुनपुन नदी पर समदा में पुल के निमार्ण की बहुप्रतीक्षित मांग अब भी बरकरार
4. बस डिपो जर्जर, कभी यहां से दर्जनों गाड़ियों का होता था परिचालन 
5. आजतक नगर पंचायत का दर्जा नहीं मिला 
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Paliganj Assembly seat of Gaya district: screwed between JDU and BJP will stuck due to changing devotion of sitting MLA from RJD