फोटो गैलरी

अगला लेख

अगली खबर पढ़ने के लिए यहाँ टैप करें

Hindi News विधानसभा चुनाव बिहार चुनाव 2020बिहार में 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के फैसले पर लोजपा सांसदों की मुहर

बिहार में 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के फैसले पर लोजपा सांसदों की मुहर

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान की हुई मुलाकात के बाद भी लोजपा अपने स्टैंड पर कायम है। पार्टी के सांसदों व पूर्व सांसदों ने बुधवार को बिहार में 143 सीटों पर लड़ने...

बिहार में 143 सीटों पर चुनाव लड़ने के फैसले पर लोजपा सांसदों की मुहर
हिन्दुस्तान,पटनाWed, 16 Sep 2020 08:15 PM
ऐप पर पढ़ें

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से पार्टी अध्यक्ष चिराग पासवान की हुई मुलाकात के बाद भी लोजपा अपने स्टैंड पर कायम है। पार्टी के सांसदों व पूर्व सांसदों ने बुधवार को बिहार में 143 सीटों पर लड़ने के फैसले पर मुहर लगा दी। साथ ही, गठबंधन पर फैसले के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान को अधिकृत कर दिया। चिराग ने कहा कि ‘बिहार फर्स्ट बिहारी फर्स्ट’ विजन डॉक्युमेंट की बैठक जल्द होगी और उसके बाद केंद्रीय संसदीय बोर्ड की बैठक होगी, जिसमें अंतिम फैसला लिया जाएगा।

दिल्ली में राम विलास पासवान के अवास पर बुधवार को हुई सांसदों और पूर्व सांसदों की बैठक में पार्टी ने बिहार में अफरशाही पर चिंता व्यक्त की। इसके खिलाफ संघर्ष की रूपरेखा तय की। लोजपा नेताओं ने जदयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी के उस बयान का स्वागत किया जिसमें उन्होंने कहा था कि उनकी पार्टी का गठबंधन भाजपा से है, लोजपा से नहीं। चिराग पासवान ने सभी सांसदों व पूर्व सांसदों को श्री नड्डा से मंगलवार देर रात मुलाकात के बारे में बताया। पीएम को भेजे अपने पत्र की भी जानकारी दी।

वहीं चिराग पासवान के साथ पार्टी नेताओं की बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए लोजपा नेता प्रिंस राज ने कहा कि सीट शेयरिंग के मुद्दे पर कोई अंतिम निर्णय नहीं हुआ है। साथ ही कौन किस क्षेत्र से चुनाव लड़ेगा, इस पर भी फैसला नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि इन सभी मुद्दों पर निर्णय के बाद हम आप लोगों को जानकारी देंगे। 

जदयू पर हमलावर चिराग के तेवर नरम
कुछ समय से लगातार जनता दल यूनाइटेड और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर हमलावर रहे लोजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान के तेवर नरम पड़ गए हैं। चिराग ने बीते शनिवार को कहा था कि जदयू और नीतीश कुमार से मेरा कोई मतभेद नहीं है। मैंने जो भी मुद्दे उठाए हैं, वो एक जनप्रतिनिधि होने के नाते अपने सीएम के संज्ञान में लाने के लिए उठाए हैं।