DA Image
2 नवंबर, 2020|7:51|IST

अगली स्टोरी

बिहार में गरजे पीएम मोदी-हर कानूनी तरीका अपनाऊंगा, जनता से लूटी गई पाई-पाई वापस दिलाऊंगा

बिहार में दूसरे चरण के मतदान के लिए चुनाव प्रचार आज थम जाएगा। सभी राजनीतिक दलों और नेताओं ने अपनी पूरी ताकत प्रचार में झोंक दी है। अपने चुनावी अभियान के तहत पीएम मोदी आज बिहार में हैं। पीएम मोदी ने बिहार के बगहा में चुनावी रैली को सम्‍बोधित करते हुए विपक्ष पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि चम्‍पारण के लोग पीढि़यों से अयोध्‍या में राममंदिर निर्माण का इंतजार कर रहे थे। उनका यह सपना पूरा हो रहा है लेकिन अब भी भगवान राम के अस्तित्‍व पर सवाल खड़े करने वालों को नहीं भूलना है। उन्‍होंने कहा कि विपक्ष लगातार सरकार के खिलाफ, जनता के हित में उठाए गए हर कदम के खिलाफ सवाल उठाता रहा है। आरक्षण के बारे में, राममंदिर के बारे में और जम्‍मू कश्‍मीर से धारा 370 हटाए जाने के बारे में विपक्ष लगातार भ्रम फैलाता रहा। धारा-370 के बारे में धमकी देते थे कि हटाया जाएगा तो आग लग जाएगी। आज वही कश्‍मीर की जनता कह रही है जिन्‍होंने हमें वर्षों से लूटा है उन्‍हें सबक सिखाइए। पीएम मोदी ने कहा कि मैं भरोसा दिलाता हूं कि हर कानूनी तरीके का इस्‍तेमाल कर जनता से लूटी पाई-पाई वापस कराऊंगा। 

नई पीढ़ी को बताइए कैसा था जंगलराज
पीएम मोदी ने कहा 35 से 40 वर्ष के ऊपर के लोग अपने बच्‍चों को जरूर बताएं कि 15 साल पहले जंगलराज कैसा था। नई गाड़ी खरीदने वाले अपने ही शोरूम से निकलते ही गाड़ी में खरोंच लगा देते थे ताकि गाड़ी पुरानी लगे। कहीं रंगदारी न देनी पड़े। लोग अपने घरों को पुराना बनाकर रखते थे ताकि किसी की नजर न पड़े। भूले-भटके कोई थाने पहुंच जाए तो उसे डबल रंगदारी देनी पड़ती थी। विरोधी दलों की सरकारों में छोटे व्‍यवसायियों की बुरी दशा थी। उन्‍हें उनके हाल पर छोड़ दिया गया। पीएम मोदी ने छोटे व्‍यवसासियों के लिए उठाए गए कदमों की जानकारी दी। उन्‍होंने कहा कि चुनाव के बाद सरकार बनी तेा मातृभाषा में ही डॉक्‍टरी-इंजीनियरिंग की पढ़ाई की जाएगी। पीएम मोदी ने स्‍वामित्‍व योजना की जानकारी देते हुए बताया कि इसके तहत हर व्‍यक्ति को गांवों में उसकी सम्‍पत्ति का प्रापर्टी कार्ड बनाकर दिया जा रहा है। छह राज्‍यों में यह योजना लागू है। चुनाव बाद बिहार में भी लागू होगी। 

मोतिहारी में तेजस्‍वी पर बोला हमला

मोतिहारी की रैली में पीएम मोदी ने तेजस्‍वी यादव पर सीधा हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि बिहार के लोगों को जंगलराज के युवराज से सतर्क रहना है। उन्‍होंने कहा कि जंगलराज वालों को गरीब की चिंता होती तो बिहार 15 साल पहले ही खुशहाल हो जाता। एनडीए सरकार की उपलब्धियां गिराते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बिहार अब जंगलराज को पीछे छोड़ चुका है। अब नई रोशनी में डबल इंजन की ताकत के साथ विकास का लाभ हमें बिहार के हर व्यक्ति तक पहुंचाना है।

अपने भाषण की शुरुआत में पीएम मोदी ने अयोध्‍या में राममंदिर निर्माण का उल्‍लेख किया। उन्‍होंने कहा कि सदियों के लंबे इंतजार के बाद, तप और तपस्या के लंबे दौर के बाद जो ये अवसर आया है, उसके लिए रामायण की रचनास्थली से जुड़े आप सभी साथियों को मैं बधाई देता हूं। चंपारण में, मोतिहारी में आना तो बहुत बार हुआ है। लेकिन अयोध्या में भव्य राम मंदिर का निर्माण शुरू होने के बाद आज पहली बार आपके बीच आया हूं।

जंगलराज वालों को चिंता है कि लालटेन कैसे जले

विपक्ष पर हमलावर पीएम मोदी ने कहा कि जंगलराज वालों को चिंता है कि लालटेन कैसे जले। हमारा प्रयास है कि हर घर में चमकदार एलईडी बल्ब कैसे पहुंचे। बिहार की महिलाएं, माताएं-बहनें खुले में शौच में जाने के लिए मजबूर थीं, उनकी सुरक्षा पर खतरा रहता था, लेकिन जंगलराज वाले, जंगल जैसे हालात बनाए रखना चाहते थे। एनडीए की सरकार ने बिहार की माताओं-बहनों के लिए लाखों शौचालय बनाकर उनकी परेशानी कम करने का प्रयास किया है। एनडीए का प्रयास है कि हम बिहार के अपने गरीब भाइयों बहनों को ज्यादा से ज्यादा पक्के घर कैसे दे सकें। जंगलराज वालों को चिंता है कि अपनी तिजोरी कैसे भरें। हमारी प्राथमिकता है कि बिहार के किसानों को, श्रमिकों को, बुजुर्गों को पैसे सीधे उनके बैंक खाते में डाल सकें। देश में मछलीपालन को बढ़ावा देने के लिए बहुत बड़ी योजना बिहार से ही लॉन्च की गई है। मत्स्य संपदा योजना के तहत हजारों करोड़ रुपये का निवेश मछली व्यवसाय से जुड़े इंफ्रास्ट्रक्चर को बढ़ाने के लिए किया जा रहा है। खेती हो, पशुपालन हो, मछलीपालन हो, इससे जुड़े उद्योग और उद्यम आत्मनिर्भर चंपारण, आत्मनिर्भर बिहार का अहम हिस्सा हैं। पूर्वी चंपारण में ही कृषि अनुसंधान केंद्र बन चुका है। यहां डेयरी प्लांट भी लग चुका है, जिससे पशुपालकों को लाभ होता है।

आत्‍मनिर्भर बिहार का रोडमैप

आत्मनिर्भर बिहार, यहां के हर युवा की आकांक्षाओं को पूरा करने का रोडमैप है। आत्मनिर्भर बिहार, यहां के गांव-गांव के सामर्थ्य को पहचान दिलाने का मार्ग है। आत्मनिर्भर बिहार, गांवों में उद्यम के, रोज़गार के अवसर तैयार करने का अभियान है। पीएम ने कहा कि वह पिछले साल चंपारण में सत्याग्रह से स्वच्छाग्रह कार्यक्रम के समापन के मौके पर यहां आए थे। चंपारण सत्याग्रह के 100 वर्ष पूर्ण होने पर स्वच्छता का ये प्रयास करके इस क्षेत्र के लोगों ने राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को सच्ची श्रद्धांजलि दी है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कोरोना संकट के दौरान उठाए गए कदमों का विस्‍तार से उल्‍लेख किया। उन्‍होंने कहा कि जब कोरोना का संकट देश में आया तो सबसे पहले गांव, गरीब और किसान के बारे में ही सोचा गया। ये संक्रमण गांव तक ना फैले, इसके लिए सही समय पर लॉकडाउन किया गया। गरीब परिवारों को भूखा ना सोना पड़े इसके लिए दीवाली और छठ पूजा तक मुफ्त राशन की व्यवस्था की गई।

जंगलराज में बंंद हो गए थे उद्योग

पीएम मोदी ने राजद पर हमला करते हुए कहा कि जंगलराज की हालत तो ये थी कि जो उद्योग, जो चीनी मिले, दशकों से चंपारण और बिहार का अहम हिस्सा रही हैं, वो भी बंद हो गईं। अब तो इस चुनाव मे जंगलराज वालों के साथ नक्सलवाद के समर्थक, देश के टुकड़े-टुकड़े करने की चाहत रखने वालो के समर्थक भी शामिल हो गए हैं। बिहार के युवाओं को बिहार में ही अच्छा और सम्मानजनक रोजगार मिले ये बहुत जरूरी है। सवाल ये है कि ये कौन दिला सकता है? वो लोग जिन्होंने बिहार अंधेरे और अपराध की पहचान दी।वो लोग जिनके लिए रोजगार देना करोड़ों की कमाई का माध्यम है, क्‍या ऐसा कर सकते  हैं। 

एनडीए सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए उन्‍होंने कहा कि गांव में फसल की कटाई और बुवाई चलती रहे, इसके लिए भी हर जरूरी कदम उठाए गए। कटाई और खरीद के साथ-साथ लॉकडाउन के दौरान बुवाई के लिए भी किसानों को हर जरूरी सुविधा उपलब्ध कराई गई। बिहार के जो श्रमिक परिवार दूसरे राज्यों से लौटे हैं, उनके राशन से लेकर रोजगार तक के लिए इस दौरान गरीब कल्याण रोजगार अभियान चलाया गया है। आज बिहार प्रगति के जिस पथ पर है, वो बिहार का भविष्य और मजबूत करेगा, उसे और गौरवशाली बनाएगा। एनडीए के हम सभी साथी मिलकर इसी सोच को साकार करने में लगे हैं। आज पेट्रोल और हवाई ईंधन में गन्ने से बने इथेनॉल की ब्लेंडिंग को बढ़ावा दिया जा रहा है। पहली बार इसके लिए व्यापक नीति बनाई गई है।

एनडीए को वोट देने की अपील की
पीएम मोदी ने कहा कि बिहार को बीमार होने से बचाने के लिए, बिहार को आत्मनिर्भर बनाने के लिए, हर एक परिवार का, हर एक मतदाता का एक-एक वोट एनडीए यानी भाजपा, जदयू, हम पार्टी और वीआईपी पार्टी के उम्मीदवारों को ही पड़ना चाहिए।

समस्‍तीपुर की रैली में पीएम मोदी ने राजद के जंगलराज और कांग्रेस के परिवारवाद पर जमकर हमला बोला। उन्‍होंने कहा कि कांग्रेस परिवारवाद में ऐसा डूबी कि सरदार साहब (सरदार बल्‍लभ भाई पटेल) को भी भूल गई। उनके स्‍मरण में भी कांग्रेस के पेट में चूहे दौड़ने लगे। पीएम मोदी ने कहा कि ये परिवारवादी पार्टियां सिर्फ अपने परिवार के बारे में सोचते हैं। हम देश के लिए सोचते हैं। ये परिवारवाद वाले अपने बेटे-बेटियों-दामाद-रिश्‍तेदारों में जिले बांट देते हैं। आपके बच्‍चे कहां जाएंगे। वहीं एनडीए का मंत्र है सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्‍वास। हमारा लक्ष्‍य रहा है कि कहीं कोई वर्ग विकास में छूट न जाए। यही सुशासन का लक्ष्‍य है। नीतीश जी के नेतृत्‍व में इसी लक्ष्‍य को पाने के लिए बिहार में एनडीए ने लगातार काम किया है। 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'जिनकी नीयत खराब हो, जिनकी नीति सिर्फ गरीबों का धन लूटने की हो, जो निर्णय सिर्फ अपने स्वार्थ को ध्यान में रखते हुए लेते हों, वो ऐसे हर प्रयास का विरोध ही करेंगे। आज देश में कृषि क्षेत्र हो या देश की सुरक्षा से जुड़े काम, ये हर बात का विरोध कर रहे हैं। याद रखिए, जब कोरोना का संकट सबसे ज्यादा था, जब पूरा बिहार कोरोना से लड़ रहा था, तब ये लोग कहां थे? इन्हें आपके विकास से नहीं, सिर्फ अपने विकास से लेना-देना है। यही इनकी सच्चाई है, यही इनका तौर-तरीका है, यही इनकी ट्रेनिंग है।'

पीएम मोदी ने कहा कि चुनाव आते ही विपक्षी पार्टिंयां, गरीब-गरीब की माला जपने लगती हैं। वास्‍तव में इन्‍हें जनता के विकास, सुख-दु:ख से कोई लेना-देना नहीं है। इन्‍हें सिर्फ अपने और अपने परिवार से ही मतलब है। ये लोग न बिहार की अपेक्षाओं को समझते हैं, न बिहार को। नए बिहार के लिए आधुनिकीकरण जरूरी है। यह तब होगा जब बिहार में निवेश के लिए उचित माहौल होगा। जंगलराज की विरासत और जंगलराज के युवराज क्‍या बिहार में उचित माहौल बना सकते हैं। जो वामपंथी नक्‍सलवाद को बढ़ावा देते हैं, फैक्‍टरियों को बंद कराना जिनका इतिहास रहा है क्‍या वे बिहार में निवेश ला सकते हैं। पीएम मोदी ने कर्पूरी ठाकुर को याद करते हुए कहा कि जंगलराज वालों ने उनकी बात सुनी होती तो बिहार के ये हालात नहीं होते। बेगूसराय के लोगों का उल्‍लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि बेगूसराय को बिहार की औद्योगिक राजधानी भी कहा जाता है। 

छपरा में हुई पहली चुनावी रैली में पीएम मोदी जहां विपक्ष पर जमकर गरजे वहीं फर्स्‍ट टाइम वोटरों, महिलाओं और मतदाताओं के अलग-अलग समूहों को लुभाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। पीएम मोदी ने छठ पूजा की तैयारियों में जुटी महिलाओं को सम्‍बोधित करते हुए कहा कि, 'मां तुम तैयारी करो, तुम्‍हारा बेटा दिल्‍ली में बैठा है।'

कोरोना संकट में भारत की उपलब्धियों का उल्‍लेख करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि आज जब दुनिया के बड़े-बड़े देश जब इस महामारी से जूझ रहे हैं भारत ने बहुत अच्‍छे ढंग से इसका मुकाबला किया है। पिछले आठ महीने से गरीब के घर राशन पहुंच रहा है। आज किसी मां को इस बात की चिंता नहीं है कि वह छठ पूजा कैसे मनाएगी। अरे मां तुमने दिल्‍ली में इस बेटे को बिठाया है तो छठ पूजा की चिंता करनी पड़ेगी। मां तुम छठ पूजा की तैयारी करो, तुम्‍हारा बेटा भूखा नहीं रहने देगा।पीएम मोदी ने कहा कि जब छठ पूजा में लाखों-लाख माएं गंगा तट पर जुटती है तो उनकी सबसे बड़ी जरूरत होती है साफ पानी। गंगा जी के पानी को साफ करने के प्रयासों का अब असर दिख रहा है। विपक्ष पर निशाना साधते हुए पीएम मोदी ने कहा कि हमसे पहले भी गंगा मईया थीं लेकिन जो लोग सत्‍ता में बैठे थे उनको इनकी ताकत का पता नहीं था। मोदी को इसका इसका पता है। 

पीएम मोदी ने कहा कि पहले चरण के मतदान से साफ संकेत है कि बिहार में नीतीश बाबू की सरकार बन रही है। ये देख कर कुछ लोगों के चेहरे की हंसी गायब हो गई हो गई। उन्‍होंने महागठबंधन की ओर से सीएम कैंडिडेट तेजस्‍वी पर हमला करते हुए कहा कि कुछ लोग इतना बौखला गए हैं कि अपने ही कार्यकर्ताओं को धक्‍का दे रहे हैं। गौरतलब है कि पिछले दिनों हेलीकाप्‍टर के पास सेल्‍फी लेने की कोशिश करते एक कार्यकर्ताओं को बांह पकड़कर धक्‍का देते तेजस्‍वी का वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। पीएम मोदी ने कहा कि ये लोग मुझे भी गाली दे रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि जिन लोगों की नज़र गरीब के पैसों पर हो उन्‍हें गरीबों की तकलीफ नहीं दिखाई देती। 
पीएम मोदी ने कहा कि पिछले दिनों एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ था। उस वीडियो में बुजुर्ग महिला से व्‍यक्ति पूछता है कि मोदी के काहें खातिर वोट देबू,का कईलें हं तोहरे खातिर। मैं उस वीडियो से इतना प्रभावित हो गया। गांव की उस महिला ने एक सांस में जवाब दे दिया। जब वह मां बोल रही थी तो जो पूछने गया था उसका चेहरा देखने लायक था। उसकी बोलती बंद हो गई थी। मोदी हमरा के नल, बिजली, छत ,राशन, पेंशन, गैस दिहलं। उनका का वोट न देबं त का तोहरा के देब। आज बिहार के मां, बेटियां और लोग एनडीए के विरोधियों से यही कह रहे हैं कि एनडीए के वोट ना देब त का तोहरा के देब। यह सब आपके एक वोट की ता‍कत है। आज बिहार के सामने डबल इंजन की सरकार है तो दूसरी तरफ डबल-डबल युवराज भी हैं। एक तो जंगलराज के युवराज भी हैं। डबल इंजन वाली सरकार बिहार के विकास को प्रतिबद्ध है। वहीं डबल-डबल युवराज अपने-अपने सिंहासन की लड़ाई लड़ रहे हैं। यूपी में 2017 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस और सपा के गठबंधन पर तंज कसते हुए पीएम मोदी मोदी ने कहा कि जब यूपी के चुनाव हुए तो वहां भी डबल-डबल युवराज हाथ हिला रहे थे लेकिन जनता ने उन्‍हें नकार दिया तो उनमें से एक युवराज बिहार आकर जंगलराज के युवराज के साथ हाथ हिलाने लगे। इनके साथ जो यूपी में हुआ वही बिहार में होगा।

पीएम मोदी ने कहा कि नीयत और इच्‍छा शक्ति होती तो ये काम डेढ़ दशक पहले भी हो सकते थे। आज के नौजवान को खुद से यह पूछना चाहिए कि बड़ी-बड़ी योजनाएं जो बिहार के लिए इतनी जरूरी थीं  वो वर्षों तक क्‍यों अटकी रहीं। फर्क बस इतना था कि बिहार में जंगल राज था। जब इंजीनियर और ठेकेदार की जान चौबीसों घंटे खतरे में हो। किसी कम्‍पनी को काम मिलता था तो वो यहां काम शुरू करने से पहले सौ बार सोचती थी। पहले फिरौती की रकम तय करनी पड़ती थी। पीएम मोदी ने कहा कि बिहार के नौजवान अपने बचपन के दिन नहीं भूल सकते। याद करें कि बचपन में उनकी मां क्‍या कहा करती थी। हर घर में, हर मां, गरीब हो या अमीर अपने बच्‍चों को कहती थी कि घर के भीतर ही रहो, बाहर मत निकलना, बाहर लकड़सुंघवा घूम रहा है। ये कौन था लकड़सुंघवा। माएं लकड़सुंघवा से क्‍यों डराती थीं। उन्‍हें डर था अपहरण करने वालों से। जिस राज में बच्‍चों का, बेटे-बेटियों का घर से निकलना मुश्किल हो उस राज को चलाने वालों से बिहार क्‍या उम्‍मीद लगा सकता है। इनसे नए उद्योग तो छोडि़ए, पुराने उद्योग भी बंद हो जाएंगे। बिहार के फर्स्‍ट टाइम वोटर को इसकी याद रखनी है क्‍योंकि बिहार में कानून व्‍यवस्‍था के लिए लोगों ने बड़ी तपस्‍या की है। जंगलराज वाले अंधेरे के इंतजार में हैं। 

पीएम मोदी ने बिहार के नौजवानों की ताकत और सामर्थ्‍य की तारीफ करते हुए कहा कि बिहार के लोग जहां भी गए हैं अपनी पहचान बनाई है। हाल ही में गोपालगंज से गए रामकेलावन सेशल्‍स के राष्‍ट्रपति चुने गए हैं। मैं उन्‍हें बधाई देता हूं। बिहार में विकास की नई शुरुआत एनडीए के समय में हुई है। चार साल में 30 से ज्‍यादा पासपोर्ट केंद्र बने। गोपालगंज में भी एक पासपोर्ट केंद्र बना है। नए पाली‍टेक्निक, इंजीनियंरिंग कालेज खुले हैं। एनडीए ने इंजीनियरिंग और मेडिकल सहित अनेक विषयों की पढ़ाई मातृभाषा में कराने का निर्णय लिया है। रेलवे, बैंकिंग और ऐसी अनेक सरकारी नौकरियों के लिए एक ही एंट्रेंस एग्‍जाम की व्‍यवस्‍था की जा रही है। बिहार के नौजवानों को बहुत लाभ मिलेगा। सबका साथ, सबका विकास के सिद्धांत पर चलते हुए बिना भेदभाव सभी को लाभ पहुंचाने का प्रयास किया है। एक तरफ एससी-एसटी का आरक्षण 10 साल के लिए बढ़ा दिया तो दूसरी तरफ सामान्‍य वर्ग के गरीब नौजवानों को भी 10 प्रतिशत आरक्षण मिल चुका है। 

देश में चौतरफा हो रहे विकास के बीच आपको उन ताकतों से सावधान रहना है जो अपने राजनीतिक हित के लिए देशहित के खिलाफ जाने से नहीं चूकते। सेना के जवानों की शहादत में भी अपना हित देखने लगते हैं। जो लोग पुलवामा  हमले के बाद अफवाहें फैला रहे थे। ये लोग देश के दु:ख में दु:खी नहीं थे। उस दौरान इन लोगों ने हर वो बात कही जो हमारे जवानों का मनोबल तोड़ती है। जवानों के शौर्य पर बिहार और देश को रत्‍ती भर संदेह नहीं रहा लेकिन सत्‍ता के स्‍वार्थी लोगों ने खूब भ्रम फैलाने की कोशिश की। आज वही लोग बिहार में आकर वोट मांग रहे रहें। बिहार के ऐसे स्‍वार्थियों को अपने से जितना दूर रखेंगे उतना ही बिहार का भविष्‍य सुनिश्चित है। पीएम मोदी ने लोगों से एनडीए को वोट देने की अपील करते हुए कहा कि यदि कोई चीज एक बार खाने से तबीयत खराब हो जाए तो क्‍या उसे दोबारा खाना चाहिए। उन्‍होंने कहा बिहार की जनता से अपील है कि बिहार को दोबारा बीमार होने से बचाना है तो उन्‍हें वोट मत देना।

'रघुवंश बाबू का अपमान किया गया'
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व आरजेडी नेता रघुवंश प्रसाद सिंह की चर्चा की। पीएम ने कहा कि वैसे ऐसे नेता थे जिन्होंने हमेशा सोशलिस्ट मूल्यों को आगे बढ़ाया, अपना पूरा जीवन बिहार की सेवा में लगा दिया। उनको कैसे अपमानित किया गया, ये पूरे बिहार ने देखा है। पीएम ने कहा कि जो अपने राजनैतिक स्वार्थ के लिए रघुवंश बाबू जैसे कर्मयोगियों के साथ ऐसा बर्ताव कर सकते हैं, वो बिहार के सामान्य युवाओं को अवसर कैसे दे पाएंगे। 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bihar Chunav Live Updates PM Modi Election Campaign in Bihar at Chapra Samastipur East Champaran and West Champaran