DA Image
27 नवंबर, 2020|6:26|IST

अगली स्टोरी

यह भी जानें: 1962 के विधानसभा चुनाव में 46 महिला प्रत्याशियों में 25 ने मारी थी बाजी

women candidates contested 46 seats and 25 seats were won by women

बिहार विधानसभा के वर्ष 1962 में हुए चुनाव में 46 सीटों पर महिला उम्मीदवारों ने चुनाव लड़ा और इनमें 25 सीटें महिलाओं ने जीत ली थी। आजादी के बाद हुए इस तीसरे विधानसभा चुनाव में कई नई बातें उभर कर सामने आई। इस चुनाव में पहली बार एकल सीट पर प्रतिनिधित्व की प्रक्रिया शुरू हुई थी। इसके पहले 1951 और 1956 के चुनाव में कई सीटों पर संयुक्त प्रतिनिधित्व की व्यवस्था थी। इस चुनाव में एक बार फिर कांग्रेस बड़े दल के रूप में सामने आई और कुल 318 सीटों में 185 सीट पर जीत हासिल की, जबकि स्वतंत्र पार्टी ने 50 सीटें जीत कर दूसरी सबसे बड़ी पार्टी बनी थी। गौरतलब है कि उस वक्त संयुक्त बिहार (बिहार व झारखंड) में सभी विधानसभा क्षेत्र शामिल थे। 

जनसंघ  के तीन विधायक पहुंचे थे विधानसभा
पहले भारतीय जनसंघ और अब भाजपा के नाम से पहचानी जाने वाली पार्टी राज्य के पहले दो विधानसभा चुनावों में खाता तक नहीं खोल पायी थी। पहली बार इसके तीन विधायक जीत कर  1962 में पहली बार सदन में पहुंचे थे। इनमें हिलसा के जगदीश प्रसाद,  सीवान के जनार्दन तिवारी और नवादा के गौरीशंकर केसरी ने कांग्रेस के दिग्गज नेताओं से यह सीटें छीनी थीं। इसके बाद पार्टी का ग्राफ बढ़ता गया। 

पहले विधानसभा चुनाव 1951 में भारतीय जनसंघ को
सिर्फ 1.18 प्रतिशत वोट मिले थे और एक भी सीट नहीं जीत पायी थी, जबकि उस समय की सबसे बड़ी पार्टी कांग्रेस को 322 सीटों में 239 पर जीत मिली थी। 1957 में हुए दूसरे विधानसभा चुनाव में भी जनसंघ  की स्थिति में बहुत सुधार नहीं हुआ था। जनसंघ 30 सीटों पर चुनाव लड़ार्, ंकतु उसे सिर्फ 1.23 फीसदी ही वोट हासिल हुई। 

98.33 लाख मतदाताओं ने डाले थे वोट
1962 के चुनाव में राज्य में कुल 2 करोड़ 21 लाख 15 हजार 41 मतदाता थे। इनमें 98 लाख 33 हजार 810 मतदाताओं ने वोट कर सरकार गठन की प्रक्रिया को पूरा किया था। तब, उम्मीदवारों को घर घर मतदाताओं से संपर्क करना पड़ता था, आवागमन के बहुत साधन नहीं थे। 

44.47 फीसदी हुआ था मतदान 
संयुक्त बिहार में तब मात्र 24,215 बूथ बनाए गए थे और औसत मतदाता प्रति मतदान केंद्र मात्र 913 थे, जबकि मतदान का प्रतिशत 44.47 फीसदी था। 1961 के चुनाव में कुल 1529 उम्मीदवार चुनाव मैदान में थे। इनमें 1483 पुरुष और 46 महिला उम्मीदवार शामिल थी। चुनाव जीतने वालों में 293 पुरुष और 25 महिलाएं थी। विधानसभा क्षेत्रों की तीन श्रेणी थी। सामान्य सीटें, अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीटें और अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित सीटें इनमें शामिल थीं। सामान्य सीटों पर 1218, एससी के लिए आरक्षित सीटों पर 170 और एसटी के लिए आरक्षित सीटों पर 141 उम्मीदवार चुनाव में शामिल हुए थे। 

राष्ट्रीय दल 
पार्टी     सीटों पर जीत 

सीपीआई- 12
कांग्रेस- 185
जनसंघ- 03
प्रजा सोशलिस्ट पार्टी- 29
सोशलिस्ट पार्टी- 07 
स्वतंत्र पार्टी- 50

राज्य स्तरीय दल 
झारखंड पार्टी- 20
निर्दलीय-  12 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:bihar assembly elections 1962 women candidates contested 46 seats and 25 seats were won by women