DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विधानसभा चुनाव  ›  बिहार चुनाव 2020  ›  बिहार चुनाव: BJP ने तेजस्वी पर बोला हमला, कहा- जिसमें खुद नौकरी की योग्यता नहीं, वे क्या रोजगार देंगे

बिहार चुनाव 2020बिहार चुनाव: BJP ने तेजस्वी पर बोला हमला, कहा- जिसमें खुद नौकरी की योग्यता नहीं, वे क्या रोजगार देंगे

पटना, हिन्दुस्तान टीमPublished By: Malay Ojha
Mon, 19 Oct 2020 10:54 PM
बिहार चुनाव: BJP ने तेजस्वी पर बोला हमला, कहा- जिसमें खुद नौकरी की योग्यता नहीं, वे क्या रोजगार देंगे

बिहार भाजपा प्रभारी भूपेन्द्र यादव ने कहा है कि राजद नेता तेजस्वी यादव पहली कैबिनेट में 10 लाख युवाओं को रोजगार देने का वादा कर रहे हैं। हकीकत यह है कि वे स्वयं राष्ट्रीय जनता दल के नेता इसलिए बने हैं कि क्योंकि वह लालू प्रसाद के सुपुत्र हैं। सवाल पूछा कि क्या तेजस्वी यादव में इतनी योग्यता है वह खुद कोई नौकरी पा सकें। इसलिए कुछ भी ऐलान कर देना या बयान दे देना अलग बात है।

सोमवार को एक टीवी चैनल से बातचीत में भूपेन्द्र ने लोजपा पर भी हमला किया। कहा कि लोजपा ने अपनी अलग राह पकड़ ली है। मुझे नहीं लगता है कि वह कहीं लड़ाई में है। हां, थोड़े बहुत वोट जरूर काट सकती है।  लोजपा-भाजपा गठबंधन होने की संभावना पर कहा कि गृह मंत्री अमित शाह का बयान आने के बाद स्थिति और स्पष्ट हो गई है। अब कोई भ्रम नहीं है। हमारी जदयू के साथ संयुक्त बैठकें चल रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैलियों के लिए एनडीए के चारों दल मिलकर कर तैयारियां कर रहे हैं।  

पति-पत्नी के राज में चलता था अपहरण उद्योग : नीतीश

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राजद पर निशाना साधते हुए कहा है कि पति-पत्नी के राज में अपहरण उद्योग चलता था। वर्ष 1990 से 2015 तक उनके 15 सालों के शासन में नरसंहार, अपहरण और गुंडागर्दी का बोलबाला था। वर्ष 2005 से काम करने का मौका मिला तो हमने कानून का राज स्थापित किया। अपराध का ग्राफ गिरा और अपहरण उद्योग पूरी तरह बंद हो गया। यही वजह है कि देश में बिहार अब अपराध के मामले में 23 वें स्थान पर पहुंच गया है।

मुख्यमंत्री ने सोमवार को गया और आरंगबाद जिले के विभन्नि विधानसभा क्षेत्रों में चुनावी सभाओं को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि राजद शासन में अल्पसंख्यकों को सर्फि ठगा जा रहा था। हमलोगों को काम करने का मौका मिला तो भागलपुर दंगा के पीड़ितों को न्याय दिलाने का काम किया। मदरसा शक्षिकों को सरकारी स्कूल के शक्षिकों की तरह सुविधाएं दी गई। बेरोजगार युवक-युवतियों को ट्रेनिंग तथा पूंजी उपलब्ध कराकर उनके रोजगार के इंतजाम किये गये। 

संबंधित खबरें