DA Image
25 सितम्बर, 2020|12:08|IST

अगली स्टोरी

Bihar Assembly Election: सत्ता दिलाने में अहम भूमिका निभाएंगे तिरहुत और मिथिलांचल

bihar assembly elections  elections in bihar  bihar assembly elections 2020

उत्तर बिहार में रोमांचक संग्राम दिखेगा। महागठबंधन और खासकर राजद के सामने गढ़ बचाने की चुनौती है तो जेडीयू-भाजपा के सामने 2010 के चुनाव के परिमाण को दोहराने की चुनौती होगी।

विधानसभा चुनाव 2020 में तिरहुत प्रमंडल के मुजफ्फरपुर, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, सीतामढ़ी, शिवहर एवं वैशाली तथा दरभंगा प्रमंडल के दरभंगा, मधुबनी एवं समस्तीपुर की कुल 79 सीटों पर रोमांचक मुकाबला होगा।

विधानसभा चुनाव 2010 में जब एनडीए में भाजपा-जेडीयू का साथ था, जंग में भारी बढ़त मिली। एनडीए ने 68 सीटों पर कब्जा जमाते हुए तिरहुत-मिथिलांचल को गढ़ बनाया। राजद को आठ सीटों पर संतोष करना पड़ा, उसके 48 प्रत्याशी हार गए। विधानसभा चुनाव 2015 में एनडीए से अलग होकर जेडीयू महागठबंधन में शामिल हो गया। तब महागठबंधन ने 52 सीटों पर कब्जा जमा लिया। 

जेडीयू के साथ आने पर राजद ने 28 सीटों के साथ बड़ी वापसी की। एनडीए के गढ़ पर महागठबंधन का कब्जा हो गया। जेडीयू के 19 उम्मीदवार जीते परंतु भाजपा के साथ वाला जेडीयू का सफलता ग्राफ लुढ़क गया।

महागठबंधन में शामिल होकर कांग्रेस ने 5 सीटों पर खाता खोला। गठबंधनों की तस्वीर बदल चुकी है। जेडीयू फिर एनडीए में है। मांझी का ‘हम’ फिर साथ है। रालोसपा अब राजद के साथ है। देखना दिलचस्प होगा कि महागठबंधन गढ़ बचा पाता है या फिर एनडीए का डंका बजता है। 2015 में महागठबंधन ने 66 फीसदी सीटें जीत निर्णायक बढ़त बनाई।

 एनडीए को मात्र 32 फीसदी सीटों से संतोष करना पड़ा। महागठबंधन को 52, एनडीए को 25 सीटें मिलीं, जबकि मुजफ्फरपुर की कांटी एवं बोचहां सीट पर निर्दलीय ने कब्जा जमाया। अबकी कांग्रेस को पश्चिम चंपारण में दो तथा सीतामढ़ी, मधुबनी एवं समस्तीपुर में एक-एक सीट (कुल पांच) बचाने की चुनौती होगी। चंपारण में भापजा को गढ़ बचाने की चुनौती है। चंपारण की 21 में से 12 सीट जीतकर भाजपा हीरो बनी, परन्तु समस्तीपुर में 5 सीटों पर हारकर जीरो बन गई। भाजपा पूर्वी चंपारण में 10 सीटों पर लड़कर सात सीटों पर जीती। 

गोविंदगंज में लोजपा की जीत के साथ एनडीए को आठ सीटें मिलीं, जबकि आठ सीटों पर लड़ने वाले राजद के खाते में चार सीटें गयीं। जेडीयू के तीनों प्रत्याशी हारे। पश्चिम चंपारण में आठ सीटों पर लड़कर भाजपा ने पांच सीटें हासिल कीं। यहां एनडीए को छह और महागठबंधन को तीन सीटें मिलीं। जेडीयू के पांच में से सिर्फ एक प्रत्याशी की जीत हुई।
 

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Bihar Assembly Election 2020: Tirhut and Mithilanchal will play an important role in securing power