DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विधानसभा चुनाव  ›  बंगाल चुनाव 2021  ›  2 मई के बाद टीएमसी के टूटने की है चर्चा, हावड़ा की रैली में बोले पीएम मोदी

बंगाल चुनाव 20212 मई के बाद टीएमसी के टूटने की है चर्चा, हावड़ा की रैली में बोले पीएम मोदी

लाइव हिन्दुस्तान,हावड़ाPublished By: Madan Tiwari
Tue, 06 Apr 2021 05:01 PM
2 मई के बाद टीएमसी के टूटने की है चर्चा, हावड़ा की रैली में बोले पीएम मोदी

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार करने हावड़ा पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को ममता बनर्जी पर कई हमले बोले। उन्होंने कहा कि दो मई के बाद तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के टूटने की चर्चा है। पीएम मोदी ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि बंगाल का यह चुनाव अभूतपूर्व है। 10 साल तक दीदी ने यहां जिस तरह विश्वासघात किया, उसका जवाब इस बार उन्हें बराबर बंगाल की जनता दे रही है। मोदी ने कहा कि बंगाल और नंदीग्राम ही नहीं, बल्कि दीदी से तो अब नंदी भी अपनी नाराजगी खुलकर जताने लगे हैं। स्थिति यह आ गई है कि दीदी के दल को आज पोलिंग बूथ पर पोलिंग एजेंट नहीं मिल रहे हैं।

रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हर गांव में माताओं-बहनों का बहुत अधिक दबाव टीएमसी के कार्यकर्ताओं पर है। दबाव यह है कि वे गरीब-मध्यम वर्ग को लूटने वालों, खून बहाने वालों, हमारी आस्था, हमारी श्रद्धा को गाली देने वालों का साथ छोड़ दें। अपने नेताओं के खिलाफ टीएमसी के भीतर जो गुस्सा था, वह हर रोज और तेज हो रहा है। पीएम ने आगे कहा, ''बीजेपी की स्थापना के प्रेरणापुंज इसी धरती पर जन्म लेने वाले डॉक्टर श्यामा प्रसाद मुखर्जी हैं। डॉक्टर मुखर्जी कहते थे कि शासन 'राज' करने के लिए नहीं बल्कि नागरिकों के सपने पूरे करने का माध्यम होता है। यही तो आशोल पॉरिबोर्तोन है, जो पश्चिम बंगाल को चाहिए।'' पीएम मोदी ने कहा, ''लोग अटकलें लगा रहे हैं कि दो मई को हार के बाद तृणमूल कांग्रेस बिखर जाएगी।''

उद्योगों में लगते गए ताले: पीएम मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि यहां शिल्प का, विशेष रूप से एमएसएमई जो कभी पश्चिम बंगाल की बहुत बड़ी ताकत थी, उनका क्या हाल बनाया गया है, ये आपके सामने है। मेटल हो, जूट हो, बेडमिंटन शटल कॉक हो, ऐसे अनेक सामान की देश में डिमांड बढ़ी है, लेकिन यहां के उद्योगों में ताले लगते गए। इसकी सिर्फ एक ही वजह है और वह यह है कि बंगाल में दशकों तक रहा कुशासन। दीदी को बंगाल के भाई-बहन नहीं दिखाई देते हैं, उन्हें तो बस वोट दिखाई देता है। वे आप पर पैसा लेकर रैली में आने का इल्जाम लगाती हैं। क्या आप पैसे लेकर रैली में आए हैं क्या? क्या दीदी ने आपका अपमान किया की नहीं किया? आपको बदनाम किया की नहीं किया?

'कमल के बटन को दबाकर दीदी को दें सजा'
रैली के दौरान पीएम मोदी ने लोगों से बीजेपी को वोट करने की अपील की। उन्होंने कहा, ''आपके ऊपर गलत आरोप लगाया कि नहीं लगाया? आप पोलिंग बूथ जाकर कमल के बटन दबाकर दीदी को ऐसी सजा दो ताकि वे फिर से कभी आप पर ऐसे गंदे आरोप ना लगाएं। दीदी में इतना अहंकार हो गया है कि वे बंगाल के वोटर भाई-बहनों को अपनी जागीर समझने लगी हैं। हार की हताशा में दीदी आजकल मुझ पर गालियों की बौछार कर रही हैं। बंगाल के लोग दीदी का यह आचरण देखकर बहुत दुखी हैं। देश-दुनिया में इसकी चर्चा हो रही है कि बंगाल की ये कौनसी छवि दीदी प्रस्तुत कर रही हैं। आजकल दीदी को मेरे उच्चारण पर भी बहुत ऐतराज हो रहा है।

ममता ने किया सेल्फ गोल, मुसलमान भी हुए दूर: मोदी
इससे पहले, कूचबिहार में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर करारा हमला बोला और दावा किया कि वोटों का बिखराव ना हो इसके लिए मुसलमानों से एकजुट हो जाने की उनकी अपील स्पष्ट करती है कि तृणमूल कांग्रेस विधानसभा चुनाव की जंग हार गई है। प्रधानमंत्री ने रैली को संबोधित करते हुए दावा किया यदि उन्होंने इसी प्रकार सभी हिन्दुओं को एकजुट हो जाने और भाजपा को मत देने की अपील की होती तो उन्हें निर्वाचन आयोग के आठ-दस नोटिस मिल गये होते और देश भर के अखबारों में उनके खिलाफ संपादकीय छप जाते।

संबंधित खबरें