DA Image
2 अप्रैल, 2021|2:42|IST

अगली स्टोरी

ममता बनर्जी को झटका, तीन सीटें छोड़ने के बाद भी आपस में भिड़ने को तैयार गठबंधन सहयोगी

mamata banerjee

तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) प्रमुख ममता बनर्जी ने अपने सहयोगियों- गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के दो प्रतिद्वंद्वी गुटों के बीच शांति स्थापित करने की कोशिशों के तहत पार्टी के लिए दार्जिलिंग की तीन विधानसभा सीटों को छोड़ दिया, लेकिन फिर भी कोई हल नहीं निकल सका। बिमल गुरुंग और बिनॉय तमांग के नेतृत्व वाले जीजेएम गुट टीएमसी के सहयोगी हैं, लेकिन दोनों गुटों ने कहा है कि वे एक-दूसरे के खिलाफ चुनाव लड़ेंगे, चाहे इससे बीजेपी के साथ त्रिकोणीय मुकाबला ही क्यों न हो।

बीजेपी गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट और कम्युनिस्ट पार्टी ऑफ रिवॉल्यूशनरी मार्क्सिस्ट्स के साथ गठबंधन में पहाड़ी क्षेत्र की सभी सीटों पर चुनाव लड़ने की योजना बना रही है, जो की जीजेएम की तुलना में छोटे दल हैं। गुरुंग और तमांग की योजना  दार्जिलिंग, कुर्सियांग और कलिम्पोंग विधानसभा क्षेत्रों में उम्मीदवार उतारने की है, जो ममता बनर्जी ने शुक्रवार दोपहर 291 टीएमसी उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करते हुए जीजेएम के लिए छोड़ दिए हैं।

गुरुंग गुट के महासचिव रोशन गिरी ने कहा कि हम तीनों सीटों पर अपने दम पर चुनाव लड़ेंगे। तमांग समूह के साथ सहमति का कोई सवाल ही नहीं है। गुरुंग गुट के नेताओं ने पहले दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी और अलीपुरद्वार जिलों की बाकी 14 सीटों पर टीएमसी का समर्थन करने का वादा किया था।

तमांग गुट के महासचिव और गोरखालैंड टेरिटोरियल एडमिनिस्ट्रेशन (जीटीए) में बोर्ड ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स के अध्यक्ष अनित थापा ने कहा, ''इन तीन सीटों पर त्रिकोणीय मुकाबला होने जा रहा है। हमने बहुत पहले ही गुरुंग को छोड़ दिया था।'' हिंसा की वजह से राज्य सरकार द्वारा आतंकवाद विरोधी कानून के तहत आरोप लगाए जाने के बाद गुरुंग साल 2017 में छिप गए थे। पिछले साल अक्टूबर में सामने आने के बाद गुरुंग ने कहा था कि वह अब उस बीजेपी का समर्थन नहीं करेंगे, जिसने वर्ष 2009 में उसके समर्थन से दार्जिलिंग लोकसभा सीट जीती थी। बंगाल सरकार ने उनके खिलाफ आपराधिक मामले वापस लेने शुरू कर दिए हैं।

बता दें कि गुरुंग को बुधवार को उस समय झटका लगा जब उनके नेतृत्व वाले गुट के कार्यकारी अध्यक्ष लोपसांग लामा (योलमो) को सिक्किम पुलिस ने प्रोटेक्शन ऑफ चिल्ड्रन फ्रॉम सेक्सुअल ऑफेंस (POCSO) एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया। लामा दक्षिण सिक्किम में नामची में एक निजी स्कूल चलाते हैं। पार्टी के नेताओं ने कहा कि कालिम्पोंग विधानसभा सीट के लिए लामा को उम्मीदवार माना जा रहा था।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Mamata Banerjee leaves three Darjeeling hill seats but GJM divided