DA Image
22 अप्रैल, 2021|1:58|IST

अगली स्टोरी

ममता के बाद अब बीजेपी नेता शुभेंदु अधिकारी को चुनाव आयोग का नोटिस, 24 घंटे में देना होगा जवाब

suvendu adhikari  ht photo

चुनाव आयोग ने पश्चिम बंगाल के भाजपा नेता शुभेंदु अधिकारी द्वारा पिछले महीने दिए एक भाषण में कथित तौर पर सांप्रदायिक लहजा होने को लेकर गुरुवार को उन्हें नोटिस जारी किया। उनसे 24 घंटे के भीतर नोटिस का जवाब देने के लिए कहा गया है। अधिकारी पश्चिम बंगाल की नंदीग्राम विधानसभा सीट पर मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस की प्रमुख ममता बनर्जी के खिलाफ भाजपा उम्मीदवार भी हैं।

चुनाव आयोग के नोटिस में कहा गया है कि भाकपा (माले) की केंद्रीय समिति की सदस्य कविता कृष्णन की तरफ से शिकायत आई है जिसमें आरोप लगाया है कि 29 मार्च को अधिकारी ने नंदीग्राम में एक जनसभा को संबोधित करने के दौरान 'नफरत भरा भाषण दिया। आयोग ने आदर्श आचार संहित के दो प्रावधानों का हवाला दिया। एक प्रावधान में कहा गया है कि दूसरे राजनीतिक दलों की आलोचना उनकी नीतियों और कार्यक्रमों, अतीत के रिकॉर्ड और काम तक सीमित होगी। 

दूसरों दलों या उनके कार्यकर्ताओं की आलोचना असत्यापित आरोपों या मनगढ़ंत आरोपों के आधार पर करने से बचा जाएगा। दूसरे प्रावधान में स्पष्ट है कि वोट हासिल करने के लिए जाति या सांप्रदाय के आधार कोई अपील नहीं की जाएगी। नोटिस में कहा गया है कि चुनाव आयोग ने पाया है कि आदर्श आचार संहिता के कुछ प्रावधानों का उल्लंघन हुआ है।

ममता बनर्जी को भी भेजा है नोटिस
शुभेंदु अधिकारी से पहले चुनाव आयोग ने बुधवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी की मुखिया ममता बनर्जी को आचार संहित उल्लंघन के मामले में नोटिस जारी कर 48 घंटे के भीतर जवाब देने को कहा था। चुनाव आयोग ने नोटिस जारी करते हुए कहा था कि ममता बनर्जी की टिप्पणी ने आदर्श आचार संहिता के प्रावधानों का उल्लंघन किया है। ममता बनर्जी ने यह टिप्पणी हुंगली जिले के तारकेश्वर में की थीं।

  • Hindi News से जुड़े ताजा अपडेट के लिए हमें पर लाइक और पर फॉलो करें।
  • Web Title:Election commission notice to West Bengal BJP leader Suvendu Adhikari for alleged violation of model code