DA Image
हिंदी न्यूज़   ›   विधानसभा चुनाव  ›  बंगाल चुनाव 2021  ›  सितालकुची में शरारती लड़कों को लगीं गोलियां, दिलीप घोष के बिगड़े बोल, टीएमसी ने की गिरफ्तारी की मांग

बंगाल चुनाव 2021सितालकुची में शरारती लड़कों को लगीं गोलियां, दिलीप घोष के बिगड़े बोल, टीएमसी ने की गिरफ्तारी की मांग

हिन्दुस्तान ,कोलकाताPublished By: Surya Prakash
Sun, 11 Apr 2021 11:50 PM
सितालकुची में शरारती लड़कों को लगीं गोलियां, दिलीप घोष के बिगड़े बोल, टीएमसी ने की गिरफ्तारी की मांग

पश्चिम बंगाल में बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष के इस बयान से राज्य में राजनीतिक विवाद खड़ा हो सकता है। शनिवार को कूच बिहार में केंद्रीय सुरक्षा बल की फायरिंग में मारे गए 4 लड़कों को शरारती तत्व करार देते हुए कहा है कि यदि भविष्य में भी कोई ऐसा करता है तो कूच बिहार जैसी घटना हो सकती है। दिलीप घोष ने रविवार को कहा, 'सितालकुची में शरारती लड़कों को गोलियां लगी हैं। यदि कोई भी कानून को अपने हाथ में लेने की कोशिश करेगा तो उसके साथ भी ऐसा हो सकता है।' हालांकि शरारती से उनका क्या अर्थ था, यह उन्होंने नहीं बताया। 

उनके इस बयान पर विपक्षी दलों ने तीखा हमला बोला है। टीएमसी ने दिलीप घोष को इस बयान के लिए गिरफ्तार किए जाने की मांग की है। वहीं वामपंथी दल सीपीएम का कहना है कि दिलीप घोष के इस बयान से बीजेपी का फासीवादी चेहरा उजागर हो गया है। उत्तर 24 परगना जिले के बारानगर में एक जनसभा को संबोधित करते हुए दिलीप घोष ने कहा, 'वो शरारती लड़के जो यह समझ रहे थे कि चुनाव के दौरान केंद्रीय बलों की राइफले सिर्फ दिखाने के लिए हैं, वे सितालकुची की घटना देखने के बाद  कोई गलती नहीं करेंगे।' इस बीच रविवार को हादसे में मारे गए चारों लड़कों को दफना दिया गया।

इस्तीफा दे दूंगा, पर... ममता बनर्जी की मांग पर अमित शाह ने दिया जवाब

'5वें राउंड में किसी ने कानून हाथ में लिया तो होगा सितालकुची जैसा हाल'
शनिवार को सितालकुची में एक पोलिंग बूथ के बाहर भीड़ ने सीआईएसएफ पर हमला कर दिया था। इस दौरान बचाव में केंद्रीय बल के जवानों ने फायरिंग कर दी थी, जिसमें 4 लोगों की मौत हो गई थी। सीआईएसएफ का कहना है कि कुछ उपद्रवी तत्व जवानों की राइफलें छीनने का प्रयास कर रहे थे और घातक हथियारों से हमला किया था। इसी घटना का जिक्र करते हुए दिलीप घोष ने कहा, '17 अप्रैल को 5वें राउंड की वोटिंग के दौरान केंद्रीय बलों की मौजूदगी भी बूथों पर रहेगी। यदि लोगों ने कानून अपने हाथ में लेने की कोशिश की तो फिर सितालकुची जैसी घटना हो सकती है।' इस बयान के बाद टीएमसी ने उन्हें तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है।

सीपीएम ने कहा, बीजेपी फासीवादी चेहरा हुआ उजागर
टीएमसी के सांसद सुखेंदु शेखर रॉय ने कहा, 'हम उन्हें तत्काल गिरफ्तार किए जाने की मांग करते हैं। उनके इस भाषण से बंदूकधारी फोर्सेज का हौसला बढ़ेगा और वोटर्स की सुरक्षा खतरे में आ जाएगी।' जादवपुर सीट से सीपीएम के कैंडिडेट सुजान चक्रवर्ती ने कहा कि दिलीप घोष गैरजिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं और इससे बीजेपी का फासीवादी चेहरा उजागर हुआ है। इससे पहले भी दिलीप घोष कई बार विवादित बयान दे चुके हैं।

टीएमसी ने चुनाव आयोग में दर्ज कराई शिकायत
रविवार देर रात टीएमसी ने दिलीप घोष के खिलाफ चुनाव आयोग ने शिकायत भी दर्ज कराई है। टीएमसी ने उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई और बाकी के बचे चार चरणों के चुनावों के लिए प्रचार करने पर प्रतिबंध लगाने की मांग की है। यादवपुर सीट से माकपा के उम्मीदवार और वाम मोर्चा के नेता सुजान चक्रवर्ती ने कहा, दिलीप घोष गैर जिम्मेदाराना बयान दे रहे हैं। उनके बयान से भाजपा का फासीवादी चेहरा उजागर होता है। घोष पहले भी कई विवादास्पद बयान दे चुके हैं।

संबंधित खबरें